यातायात पुलिस ने शासन के खजाने में पहुंचाये 66 लाख

पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले 28 लाख का अधिक राजस्व

( शुभम तिवारी+91 78793 08359)
शहडोल। पुलिस महानिरीक्षक एस.पी. सिंह और पुलिस अधीक्षक कुमार सौरभ, यातायात डीएसपी अखिलेश तिवारी के कुशल मार्गदर्शन में यातायात प्रभारी अभिनव राय और उनकी टीम ने वित्तीय वर्ष 2018-19 में शासन के खजाने को माला-माल करने का काम किया है, 5761 प्रकरणों में 66 लाख 55 हजार 480 रूपये का राजस्व वसूल किया गया है, जो कि पिछले वर्ष की तुलना में 28 लाख 93 हजार 154 रूपये अधिक राजस्व की वसूली विभागीय अमले ने करते हुए शासन के खजाने में जमा करवाई है। वहीं वित्तीय वर्ष 2016-17 में कुल 4112 प्रकरण दर्ज किये गये थे और 30 लाख 68 हजार 300 रूपये ही शासन के खजाने में पहुंचे थे।
5761 प्रकरण हुए दर्ज
1 अप्रैल 2018 से 31 मार्च 2019 तक कुल 5761 प्रकरण दर्ज किये गये, जिनमें बगैर हेलमेट के 581, बगैर सीट बेल्ट के 175, बिना पीयूसी के 83, ओव्हर लोड वाहनों के 146, शराब पीकर वाहन चलाने वाले के विरूद्ध 257 दर्ज करते हुए लायसेंस निलंबित करने के लिए परिवहन कार्यालय भेजा गया। बिना बीमा के सड़कों पर गाड़ी दौड़ाने वाले 146 , बगैर परमिट 123, बिना पंजीयन 107, तेज गति से वाहन चलाने पर 14, काली फिल्म 94, पार्किंग लाईट के 4, तीन सवारी के 131, वाहन चलाते समय मोबाइल का उपयोग करने वाले 77, रेड लाईट तोडऩे 316, नो पार्किंग 42, प्रतिबंधित क्षेत्र 14, खतरनाक तरीके से वाहन खड़े करने के 37, प्रेशर हार्न के 670, प्रकरण और बगैर नंबर प्लेट के 656 और अन्य कार्यवाहियों में 1901 प्रकरण दर्ज किये गये।
66 लाख वसूला राजस्व
यातायात अमले ने वित्तीय वर्ष में दर्ज किये गये प्रकरणों में 66 लाख 55 हजार 480 रूपये का राजस्व वसूल किया गया, जिसमें बगैर हेलमेट के ्रप्रकरण में 1 लाख 45 हजार 250 रूपये, बगैर सीट बेल्ट में 87 हजार 500 रूपये, बिना पीयूसी के 1 लाख 39 हजार 500, ओव्हर लोड वाहनों से 5 लाख 81 हजार रूपये, बिना बीमा के वाहनों से 2 लाख 44 हजार और बिना नंबर प्लेट के वाहनों से 3 लाख 28 हजार रूपये, बिना परमिट 7 लाख 77 हजार 65 रूपये, ड्राइविंग लायसेंस 4 लाख 20 हजार, बिना पंजीयन 3 लाख 23 हजार 330, गति सीमा 34 हजार 500, काली फिल्म 47 हजार, पार्किंग लाईट 2 हजार, शराबी चालकों पर 1 लाख 22 हजार 719 रूपये, तीन सवारी पर 65 हजार 500, मोबाइल फोन में बात करने वालो पर 38 हजार 500, नो पार्किंग 26 हजार, प्रतिबंधित क्षेत्र 68 हजार, खतरनाक तरीके से वाहन खड़े करने वालों पर 21 हजार, प्रेशर हार्न 3 लाख 35 हजार, रेड सिंग्रल 1 लाख 58 हजार और अन्य कार्यवाही में 18 लाख 9616 रूपये का जुर्माना वसूल किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.