रंग लाई पुलिस की मेहनत @ नाबालिक की मौत के अगले कुछ घण्टों में ही गिरफ्तार हुआ आरोपी

शहडोल। 27 मई को सूचना मिली कि चौकी झींकबिजुरी थाना जैतपुर क्षेत्रांतर्गत ग्राम कुम्हारी की एक नाबालिग लड़की जिला अस्पताल शहडोल में उपचार हेतु उसके परिवारजनों व्दारा लायी गयी थी जिसकी उपचार के दौरान मृत्यु हो गयी है । अंदेशा यह था कि नाबालिग लड़की के
साथ बलात्कार किया गया है एवं गला घोंट कर उसकी हत्या करने का प्रयास किया गया है। सूचना मिलने पर चौकी प्रभारी झींक बिजुरी एवं थाना जैतपुर से ही एक उपनिरीक्षक मामले की जांच हेतु
जिला अस्पताल पहुंचे जहाँ लड़की की ईलाज के दौरान मौत हो चुकी थी । पुलिस द्वारा पंचनामा तैयार कर शव का पोस्टमार्टम कराया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार यह पाया गया कि नाबालिग लड़की के साथ जबरदस्ती बलात्कार किया गया है और फिर गला घोंट कर उसकी हत्या कर दी गयी है। पुलिस अधीक्षक शहडोल श्री सत्येन्द्र कुमार शुक्ल स्वयं देर रात घटनास्थल ग्राम कुम्हारी पहुँचे। लड़की के परिवारजनों के व्दारा गांव के ही एक व्यक्ति आरिफ खान पर संदेह किया गया था। अतः पुलिस अधीक्षक के निर्देशन पर अनुविभागीय अधिकारी ( पुलिस) धनपुरी भरत दुबे, थाना प्रभारी बुढ़ार निरीक्षक महेन्द्र सिंह चौहान, चौकी प्रभारी केशवाही उपनिरीक्षक वैष्णवी पाण्डेय एवं थाना प्रभारी जैतपुर परि. उप पुलि अधीक्षक संघप्रिय सम्राट के सहयोग से
अपराध के संदेही आरिफ खान को पकड़ कर उससे अपराध के बारे मे पूछताछ किया। आरिफ खान ने पहले तो अपराध कबूल नहीं किया परंतु काफी पूछताछ करने के बाद उसने अपराध करना कबूल किया। आरोपी ने बताया कि उक्त नाबालिग लड़की उसके गांव की ही है जिससे
उसका मिलना-जुलना विगत 2 वर्षों से होता था । घटना दिनांक को आरिफ खान के व्दारा करीब शाम 07:00 बजे मृतिका को गांव के बगीचे मे बुलाया और उससे संभोग करने की बात कही जिस
पर वह तैयार नहीं हुई तो आरिफ खान ने नाबालिग लड़की से जबरदस्ती बलात्कार किया और इस बात पर वह आरिफ खान से लड़ने एवं विवाद करने लगी तब लड़की द्वारा सभी को घटना के
बारे में बता देने के भय से उसके ही दुपट्टे से आरोपी आरिफ खान ने मृतिका का गला घोंट दिया। लड़की के बेहोश हो जाने पर उसको मृत समझ कर आरिफ खान बगीचे की झाड़ियों से निकल गया। आरोपी को निकलते हुये गांव के ही एक लड़के ने देखा था । आरोपी आरिफ खान
नाबालिग लड़की का मोबाईल भी ले आया था जिसे उसने एक कुएं में डाल दिया था एवं जिस दुपट्टे से उसने मृतिका का गला घोंटा था उसे अपने घर ले जाकर छुपा दिया। जब मृतिका रात भर अपने घर नहीं पहुंची तो उसके परिवारजन उसे यहाँ-वहाँ तलाश करते रहे परंतु वह नहीं मिली। अगली सुबह बगीचे में गांव के एक व्यक्ति व्दारा मकवेशी ले
जाते समय उक्त नाबालिग लड़की को बेहोश पड़ी हालत मे देखा । पास से ही गुजरते एक छोटे बच्चे को आवाज देकर उस व्यक्ति ने मृतिका के घर में उसके परिजनों को सूचना दी जिस पर उसके परिजन घटनास्थल पहुंचे। मृतिका के होश में नहीं आने पर उपचार हेतु उसके परिवारजनों
के द्वारा उसको जिला अस्पताल शहडोल ले गये जहाँ ईलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गयी।
पुलिस की पूछताछ में पहले तो आरिफ खान अपराध कबूल नहीं किया परंतु सख्ती से पूछताछ करने पर अंततः आरिफ खान व्दारा नाबालिग लड़की से जबरन बलात्कार करना और उसके व्दारा सभी को बता देने के भय से गला घोंट कर हत्या करने की बात कबूल कर लिया।
आरोपी आरिफ खान पुलिस व्दारा गिरफ्तार कर उससे जिस दुपट्टे से नाबालिग लड़की का गला घोटा गया था, बरामद कर लिया गया है । साथ ही मृतिका का मोबाईल जो आरोपी ने कुंए मे फेंक दिया था, कुएं का पानी खाली कराकर जप्त कर लिया गया । आरोपी के खिलाफ थाना जैतपुर में धारा 376ए, 302 भादवि, 3. 4, 5, 6 पॉक्सो एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर उसे न्यायालय पेश किया गया है।
विचाराधीन प्रकरण में पूरे मामले को पुलिस द्वारा गंभीरता एवं संवेदनशीलता से लिया गया है। इस प्रकरण को चिन्हित अपराध की श्रेणी में सूचीबद्ध कराया जायेगा। प्रकरण की विवेचना में बड़ी बारीकी से सभी वैज्ञानिक साक्ष्यों का संकलन एवं विश्लेषण किये जाने की विशिष्ट रणनीति तैयार की जा चुकी है। दैनंदिन के आथार पर मामले की विवेचना की सतत् मॉरनीटिरिंग करते हुए प्रकरण का शीघ्र ही अभियोग – पत्र तैयार किया जायेगा प्रकरण के साक्षियों के भी साक्ष्य
संकल की दिशा में विशेष प्रयास करते हुए अभियुक्त को कठोर सजा दिलाने की कोशिश की जायेगी।
आरोपी क्राईम पेट्रोल और पब्जी जैसे खेलों में मशगूल रहने वाला पाया गया है इस घटनाक्रम के अनुसरण में आम नागरिकों से भी पुलिस की यही अपेक्षा है कि बच्चों की परवरिश एवं संस्कार निर्माण का विशेष मनोयोग से प्रयास करें। आरिफ पढ़ने-लिखने में मेधावी छात्र रहा
है, संस्कारों की दुर्बलता के चलते इस जघन्य कृत्य को करने की मनोस्थिति का शिकार हुआ है । मृतिका के साथ जिस वीभत्स तरीके से आरोपी ने व्यवहार किया है उसके चलते पुलिस द्वारा कठोर दण्डात्मक कार्यवाही हो सके इसका प्रयास किया जायेगा किन्तु सामाजिक जागरूकता एवं आमजन की सतर्कता भी विशेष रूप से अपेक्षित है ।
24 घंटे के अंदर मामले का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने प्रयास से काफी सारभूत सबूत मामले में इकट्ठा किये हैं। मृतिका के परिवार को न्याय दिलाने की दिशा में पुलिस पूरी प्रतिबद्धता और परिश्रम से प्रयास कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *