रिश्वत लेकर छोड़ दिया अवैध कोयले का ट्रक?

कोल व्यवसायी और माफिया को खुला संरक्षण

(शुभम तिवारी+91 78793 08359)
उमरिया। कोतवाली थाना क्षेत्र में 28 मार्च की सुबह 11 बजे नौरोजाबाद की ओर से कटनी जा रहा अवैध कोयले से लदा ट्रक पकड़ा जाता है, फिर उसे कोतवाली लाया जाता है। जांच और कार्यवाही कभी बातें वर्दीधारियों के द्वारा की जाती है, ऐसा नहीं कि यह मामला पुलिस अधीक्षक और पुलिस महानिरीक्षक के संज्ञान में नहीं हो, लेकिन कोतवाली पुलिस ने उक्त वाहन को माफियाओं से मिले नजराने और व्यवसायी को बचाने के चलते रिश्वत लेकर छोड़ दिया, सच्चाई क्या है यह जांच का विषय है, उच्च स्तरीय जांच में ही पूरे मामले से पर्दा उठ सकता है।
पकड़े जाने के बाद हुआ पंजीयन
अवैध कोयले से लदा ट्रक 28 मार्च को पकड़ा गया था, यह मामला पूरा उसी तरह है, जैसे कि चोर की दाढ़ी में तिनका, भले ही ट्रक की कहानी कुछ और बना दी गई और कागज भी तैयार कर दिये गये हो, लेकिन यह तो सच है कि वाहन क्रमांक एमपी 18 जीए 0889 में कोयला लदा था। ई-खनिज पोर्टल में उक्त ट्रक का ऑन लाईन पंजीयन 01 अप्रैल 2019 बता रहा है, जिससे यह साफ होता है कि कोल व्यवसायी साहिल मेहरा , जायसवाल, खान बंधु को बचाने के लिए सब किया गया।
सच से क्यों भाग रहे कोतवाल
वाहन अगर वैध है तो कोतवाल पल-पल बयान क्यों बदल रहे हैं और सच्चाई बताने को क्यों तैयार नहीं है, 28 मार्च से लेकर अभी तक उनके बयानों ने पूरे मामले को संदेह के दायरे में ला दिया है। अगर ट्रक में लदा हुआ कोयला और सारे दस्तावेज सही हैं तो वह इस बात का खुलासा करने में गोलमोल क्यों कर रहे हैं, जबकि सच्चाई यह है कि पकड़े जाने के बाद दस्तावेज तैयार कराये गये और कई पेटी में सौदा हुआ। जिसके बाद ट्रक को वैध बताते हुए छोड़ दिया गया। बताया गया है कि जल्द ही यह मामला पुलिस मुख्यालय पहुंचने वाला है, इसमें जांच भी शुरू होगी, जिसके बद सच का पता चल सकेगा।
सीधी बात
सवाल- कोयला से लदे ट्रक पर क्या कार्यवाही हुई।
राकेश उइके जवाब- मैनें ट्रक को छोड़ दिया।
सवाल- आपने कहा था ट्रक के कागजात मैं माईनिंग भेजूंगा।
राकेश उइके जवाब- मैनें गाड़ी को छोड़ दिया है, बाद में बात करेंगे।
सवाल- ट्रक का खनिज पंजीयन आपने देखा है क्या?
राकेश उइके जवाब- मैं बाद में बात करूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.