रेलवे सुरक्षा बल की तत्परता ने बचाया नाबालिग को, अपरहण करने वाली तीन महिलाओं को लिया हिरासत में

ध्रुव रमन

अनूपपुर । घटना बीते माह 28 जनवरी की है जब कुछ लोगो एक नाबालिग लड़की को अगवा कर ट्रैन से दिल्ली ले जा रहे थे। अपरहण किए जाने की जानकारी उसके परिजनों द्वारा रेलवे सुरक्षा बल को दिया गया, त्वरित कार्यवाही करते हुए रे.सु.ब.पोस्ट राउरकेला से उप निरीक्षक जितेंद्र के माध्यम से जी.आर.पी. राउरकेला की महिला अधिकारी ने फ़ोन से विस्तृत सूचना और फोटोग्राफ,हुलिया दिल्ली रुट के सभी रे सु ब के सभी स्टेशनों को दी गई की कुछ महिला द्वारा एक 14 वर्षीय नाबालिग लड़की को अपहरण कर के यात्री गाड़ी सख्या 18477 उत्कल एक्सप्रेस से दिल्ली की ओर ले जाया जा रहा है

नाबालिग लड़की की अपहरण की सूचना प्राप्त होते ही संबंधित अधिकारियों द्वारा ट्रेन का पता किया गया तो उत्कल एक्सप्रेस पेंड्रा स्टेशन पहुँच रही थी। बिना किसी देरी के घटना की सूचना पेंड्रा और अनूपपुर पोस्ट तथा मानव तस्करी रोकथाम टीम को दी गई।

अपहरण की घटना के संबंध में मंडल सुरक्षा आयुक्त बिलासपुर को सूचित किया गया। ऋषि कुमार शुक्ला मंडल सुरक्षा आयुक्त रेलवे सुरक्षा बल बिलासपुर के आदेश अनुसार अनूपपुर रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट प्रभारी अनूप मिश्रा के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई मानव तस्करी रोकथाम टीम के प्रभारी सहायक उप निरीक्षक डी.सी.एच.बाबू प्रधान आरक्षक नैना सिंह एवं आरक्षक बीके तिवारी के द्वारा सूचना के आधार पर त्वरित कार्यवाही करते हुए उत्कल एक्सप्रेस को अनुपपुर स्टेशन पर रुकने के दौरान सर्च कराया गया। सफलता हाथ ना लगने के कारण उक्त अपह्रत लड़की को तलाश करती हुई मानव तस्करी रोकथाम टीम उक्त गाड़ी में ही रवाना हुई। बताए गए हुलिये के आधार पर गहन तलासी की गई। प्रधान आरक्षक नैना सिंह की तत्परता और चतुराई के चलते बुढ़ार और शहडोल स्टेशन के बीच मानव तस्करी रोकथाम टीम को सफलता मिल गई, उक्त नाबालिग लड़की और कुल 3 अपहरणकर्ता महिलाओं को पकड़ लिया गया जिनको अगले स्टेशन शहडोल में उतार लिया गया।
नाबालिग लड़की और अपरहण कर्ता के पकड़े जाने की सूचना राउरकेला जी.आर.पी. एवं आर.पी.एफ. को तुरंत दी गई थी। जहाँ से लोकल थाना प्लांट साइड राउरकेला के उप निरिक्षक भूपेंद्र प्रसाद मांझी अग्रिम कार्यवाही हेतु अनूपपुर रवाना हुए।
उक्त लड़की के अपहरण के संबंध में लोकल पुलिस थाना प्लांट साइड राउरकेला में अपराध क्रमांक 30/2021 धारा 363 I.P.C. दर्ज है।
अपहरण की गई नाबालिक बालिका को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ाने में अनूपपुर आरपीएफ थाना की प्रधान आरक्षक नैना सिंह के द्वारा बहुत ही सराहनीय कार्य किया गया उन्हीं की तत्परता एवं चतुराई के चलते नाबालिग बालिका आज अपने घर लौट पाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed