रोजगार सेतु पोर्टल मजदूरों को उनके कौशल एवं दक्षता अनुसार रोजगार दिलवाएगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रोजगार सेतु पोर्टल का शुभारंभ किया
प्रवासी मजदूरों का सर्वे करने वाला मध्यप्रदेश भारत का पहला राज्य
पहले दिन 79 कुशल मजदूरों को मिला रोजगार

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश लौटे प्रवासी मजदूरों को उनकी कुशलता एवं दक्षता के अनुसार कार्य दिलाने के लिए रोजगार सेतु पोर्टल प्रारंभ किया गया है। पोर्टल पर सभी प्रवासी मजदूरों का पंजीयन किया गया है। साथ ही ऐसे नियोक्ताओं का पंजीयन किया गया है, जिन्हें विभिन्न कार्यों के लिए कुशल/अकुशल मजदूरों की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पोर्टल पर 7 लाख 30 हजार प्रवासी श्रमिकों तथा 5 लाख 79 हजार उनके परिवार के सदस्यों का़, इस प्रकार कुल 13 लाख 10 हजार का पंजीयन किया जा चुका है। इसी प्रकार पोर्टल पर 5 हजार 246 नियोक्ताओं/रोजगार प्रदाय कर्ताओं का पंजीयन कर लिया गया है। पोर्टल के शुभारंभ के पहले ही दिन 79 मजदूरों को उनके कौशल के अनुसार कार्य मिलना प्रसन्नता का विषय है। श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश भारत का ऐसा पहला राज्य है, जिसने समस्त प्रवासी मजदूरों का सर्वे पूर्ण कर लिया है। उन्होंने 7 दिन की अल्प अवधि में इस कार्य को पूरा करने के लिए श्रम विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा सहित विभागीय अमले तथा एनआईसी के अमले को बधाई दी।

वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से श्रमिकों से की बातचीत

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रोजगार पोर्टल के शुभारंभ के पश्चात विभिन्न जिलों से प्रवासी श्रमिकों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की। गोविन्द प्रसाद चौरसिया ने बताया कि वे मुम्बई की एक कम्पनी में काम करते थे। कोरोना के कारण मध्यप्रदेश वापस आना पड़ा। अब उन्हें रोजगार पोर्टल के माध्यम से सागर की कम्पनी में 9 हजार 500 रूपये प्रतिमाह तनख्वाह पर रोजगार मिल गया है। भोपाल के सतीश महाराष्ट्र में एक फाईव स्टार होटल में काम करते थे। अब इन्हें आज्ञा इंटरप्राइजेस भोपाल में कार्य मिल गया है। सुनील ककोडिया महाराष्ट्र से आए हैं, इन्हें दिलीप बिल्डकॉम भोपाल में कार्य मिल गया है। इसी प्रकार ग्वालियर के राजेश धाकड़ को सेंगर सिक्युरिटी ग्वालियर में कार्य मिला है।  देवेन्द्र चहार जूता फेक्ट्री आगरा में कार्य करते थे इन्हें भी ग्वालियर की सिक्युरिटी एजेंसी में काम मिल गया है। ऋषि नगर इंदौर के शुभम यादव नासिक महाराष्ट्र में काम करते थे अब इन्हें आशा कन्फेशनरी इंदौर में कार्य मिला है। सभी ने मुख्यमंत्री का हृदय से धन्यवाद ज्ञापित किया। मुख्यमंत्री ने सभी को नए कार्य के लिए शुभकामनाएँ दी।

यह ऑनलाइन रोजगार मेला है

मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने कहा कि रोजगार सेतु पोर्टल ऑनलाइन रोजगार मेला है। पोर्टल पर एक ओर जहाँ सभी मजदूर पंजीकृत हैं, वहीं दूसरी ओर विभिन्न नियोक्ता पंजीकृत हैं। नियोक्ता अपनी आवश्यकता के अनुसार मजदूरों का चयन कर सकते हैं। पोर्टल के माध्यम से ही मजदूर को नियुक्ति पत्र मिल जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *