विद्यालय को शराबी शिक्षक नें बना दिया मदिरालय, विद्यालय से अनुपस्थित पर रजिस्टर में लगाई हाजरी

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। कहते है गुरू का पद सबसे ऊपर होता है। शिकक्ष की सीख से विद्यार्थी को ज्ञान और शिक्षा मिलती है पर जब शिकक्ष ही अपने पद और गरिमा को भूल विद्यालय में मदिरापान कर दबंगई दिखा बच्चों की पठाई में व्यवधान उत्पन्न करे तो ऐसे स्थिति में बच्चों का भविष्य तो गर्त में जायेगा ही साथ में परिजन के सपनों में पानी फिर जायेगा।

कुछ शिकक्षको के गलत कर्मो केें कारण आज शिक्षक अन्य शिक्षकों को अपमानित नजरों से देखाजानें लगा है। अनूपपुर जिले के गा्रम पंचायम करपा की प्राथमिक पाठशाला में पदस्थ शिक्षक सुरेश प्रसाद आये दिन विद्यालय से अनुपस्थित रहते है। 1 जनवरी से 5 जनवरी तक अनुपस्थित रहनें बावजूद भी उपस्थिति पंजी में शराबी शिक्षक द्वारा हस्ताक्षर किया गया। कानून ऐसा क्रत्य अपराध की श्रेणी में आता है। इतना ही नहीं 10 जनवरी गुरूवार को भी सुरेश विद्यालय से अनुपस्थि था। पर उनके साथियों को शराब के नशे में धुत विद्यालय के अंदर पाया गया है। शिक्षक से द्वारा आंगनवाडी में मिस्त्री को रख कर शराब खानें में तप्दील कर दिया गया है। जिससे आगनवाड़ी के बच्चे व विद्यालय के बच्चे अपनी कक्षओं को छोड़ विद्यालय के बाहर बैठने को मजबूर हैं। जब इस संबंध में सम्बंधित शिक्षक से बात की जाती है तो शिकक्ष द्वारा दबंग अंदाज में कहा जाता है कि विद्यालय मेरा है तुमसे क्या मतलब। इसकी जानकारी अन्य  शिक्षकों के माध्यम से विभाग को लिखित रूप में कई बार अवगत कराया गया लेकिन विभाग द्वारा उचित करवाई न करने की वजह से हौसले बुलंद है। जिससे आये दिन शराब पीकर विद्यालय में रहना व मौजमस्ती करना इनके फितरत सी हो गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *