विधानसभा में गूंजेगा बैगा सम्मेलन के भ्रष्टाचार का मुद्दा

सलाहकार समिति के अनुमोदन के बाद खर्च होगी परियोजना की राशि
आदिवासी परियोजना सलाहकार मंडल की बैठक में लिया गया निर्णय

(Amit Dubey-8818814739)
शहडोल। बीते वर्ष लालपुर हवाई अड्डे में आयोजित बैगा सम्मेलन व उसमें बुढ़ार व सोहागपुर बीईओ द्वारा मनमाने तरीके से खर्च की गई लाखों की राशि के भ्रष्टाचार की गूंज अब विधानसभा में गूंजेगी, अनूपपुर विधायक व एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना सलाहकार मंडल के अध्यक्ष बिसाहूलाल सिंह ने गुरूवार को शहडोल दौरे के दौरान सर्किट हाउस में पत्रकारों द्वारा पूछे गये एक सवाल के दौरान यह बातें कहीं। श्री सिंह ने कहा कि बैगाओं के विकास के लिये आई राशि चाय-नाश्ते की नहीं है, जिसे कोई मनमाने ढंग से खर्च कर लेंगा, उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार द्वारा पार्टी के कार्यक्रम को बैगा सम्मेलन की शक्ल देकर उसमें लाखों रूपये बीईओ बुढ़ार व सोहागपुर द्वारा खर्च किये जाने की शिकायतें पहुंची हैं। यह मामला विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा पटल पर रखा जायेगा।
अनुमोदन के बाद होगा व्यय
कलेक्टर कार्यालय के सभागार में एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना सोहागपुर की बैठक संपन्न हुई। बैठक में अध्यक्ष बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना की राशि का व्यय, जनप्रतिनिधियों से प्राप्त निर्माण और विकास कार्यों के प्रस्तावों के आधार पर तथा परियोजना सलाहकार मंडल के अनुमोदन के बाद ही किया जाए। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना सोहागपुर द्वारा विगत 05 वर्षों में कराए गए, निर्माण और विकास कार्यो का भौतिक सत्यापन भी कराया जाए।
विकास कार्यों में हो पारदर्शिता
बैठक को सम्बोधित करते हुए बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि एकीकृत आदिवासी विकास सोहागपुर द्वारा आदिवासियों के विकास के लिए कराएॅ जा रहे विकास कार्यो में पूर्णत: पारदर्शिता और सुचिता होना चाहिए। विकास कार्य गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। जिनका लाभ आदिवासी परिवारो को मिलना चाहिए। विधायक श्री सिंह ने कहा कि आदिवासियों के विकास के लिए शासन द्वारा जो राशि प्रेषित की जा रही है, उस राशि का सदुपयोग होना चाहिए और राशि का उपयोग परिणाम मूलक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना के कार्यो की मॉनीटरिंग कलेक्टर के साथ-साथ अपर आयुक्त शहडोल संभाग, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पचंायत, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास भी करेंगे।
31 परियोजनाओं का गठन
बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि ऐसे विभाग जिन्हे आदिवासी विकास योजनाओं के तहत शासन स्तर से राशि आंबटित की गई है, ऐसे विभागों की समीक्षा बैठक शीघ्र आयोजित कर समीक्षा की जायेगी। बैठक में अध्यक्ष एकीकृत आदिवासी विकास परियोजना सोहागपुर एवं उन्होंनेे कहा कि आजादी के बाद पं. जवाहरलाल नेहरू की सोच थी कि आदिवासियो का समुचित विकास हो जिसको दृष्टिगत रखते हुए मध्यप्रदेश में 31 एकीकृत आदिवासी विकास परियोजनाओं का गठन किया गया है जिसके माध्यम से आदिवासियो के लिए विकास परियोजनाएॅ संचालित की जा रही है। उन्होंने कहा कि एकीकृत आदिवासी विकास परियोजनाएॅ सकारात्मक परिणाम देने वाली परियोजनाएॅ होना चाहिए। बैठक में श्री सिंह ने बैगा विकास प्राधिकरण के संबंध में कहा कि बैगा विकास प्राधिकरण की विधिवत बैठक आयोजित होनी चाहिए। बैगा विकास प्राधिकरण द्वारा कराएॅ जा रहे निर्माण कार्यो में पारदर्शिता एवं सुचिता होना चाहिए।
ये रहे मौजूद
बैठक में जयप्रकाश अग्रवाल, संदीप पुरी, संतोष टंडन,सिद्धांत शिव सिंह, रामखेलावन राठौर, आशीष त्रिपाठी, मृगेन्द्र सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष नरेंद्र सिंह मरावी, जिला पंचायत अध्यक्ष उमरिया सुश्री ज्ञानवती सिंह, विधायक जयसिंहनगर जयसिंह मरावी, कलेक्टर ललित दाहिमा, अपर आयुक्त शहडोल अमर सिंह बघेल, अध्यक्ष जनपद पंचायत अनूपपुर श्रीमती ममता सिंह, अध्यक्ष जनपद पंचायत सोहागपुर श्रीमती मीरा कोल, अध्यक्ष जनपद पंचायत गोहपारू श्रीमती नीलम सिंह, मरावी अध्यक्ष जनपद पंचायत बुढ़ार ललन सिंह, परियोजना प्रशासक डॉ. प्रयास कुमार प्रकाश एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *