शारदा ओसीएम में रोड़सेल के नाम पर वाहनों से अवैध वसूली

(अनिल लहँगीर पत्रकार 9329537839)
बुढ़ार | शहडोल जिले के सोहागपुर क्षेत्र अंतर्गत शारदा ओसीएम एसईसीएल के ओपन कास्ट प्रोजेक्ट से कोयला परिवहन करने वाले गाड़ियों से अवैध वसूली का मामला सामने आया है।

ट्रक मालिकों ने विभागीय कर्मचारियों-अधिकारियों पर शारदा ओसीएम स्थित साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की खदानों में हर ट्रक से ढाई से तीन हजार रुपए की अवैध वसूली का आरोप लगाया हैं। क्षेत्र की खुली खदान (ओपन कास्‍ट) परियोजना से रोड सेल के माध्यम से कंपनी प्राइवेट लोगों को कोयला बेचती है, लेकिन इन स्थानों पर बेचे जाने वाले कोयले की कीमत और समस्त खानापूर्ति के बाद भी ट्रक चालकों से अवैध वसूली की जाती है।

इस मामले में एसईसीएल कर्मचारी टेक्निकल इंस्पेक्टर एवं प्रभाकर के द्वारा खेल खेला जा रहा ट्रक मालिकों से प्रतिदिन हजार रुपए की अवैध उगाही की जाती हैं। कॉलरी सब एरिया मैनेजर के सामने अवैध उगाही करने वाले गिरोह दिन दुगनी रात चौगुनी के तर्ज पर मालामाल हो रहे हैं।

इस पूरे खेल में कॉलरी कर्मचारी प्रभाकर और तोंदी नामक टेक्निकल इंस्पेक्टर संलिप्त शामिल हैं। मालवाहक लगाने की सेटिंग सब एरिया मैनेजर के द्वारा कराई जाती है। उगाही के तरीके, दांव-पेंच और गणित की बारीकी से जानकारी मुहैया कराई जाती है।

विगत दिनों इस गिरोह के द्वारा महीने में ही करोड़पति बन गया है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कितनी बड़ी राशि की अवैध वसूली की जा रही है. रोड सेल अधिकारी और ओपन कास्ट इंचार्ज की अवैध वसूली से तंग आ चुके ट्रक चालक और ट्रक मालिकों ने इसकी शिकायत पूर्व में भी क्षेत्र के महाप्रबंधक से की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

गौरतलब है कि एसईसीएल के नियम के मुताबिक रोड सेल से कोयला क्रय करने वालों को कोयले की कीमत और ट्रक में लोड करने तक का जो भी शुल्क होता है, उसे चुकता करने के बाद डिलीवरी ऑर्डर (डीओ) दिया जाता है. इसमे स्पष्‍ट रूप से लिखा होता है- डीओ लिफ्टिंग ऑफ कोल, नो पेमेंट रिक्‍वायर्ड. इसके बाद भी प्रति ट्रक से अवैध वसूली की जाती है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां कितना बड़ा अवैध कोयले का कारोबार चल रहा है।
इनका कहना है।
इस संबंध में संबंधित सब एरिया मैनेजर से बात करिए।
आरपी सिंह महाप्रबंधक एसईसीएल सोहागपुर क्षेत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *