सक्सेस कोचिंग सेंटर ने बोर्ड परीक्षाओं में दिलाई सफलता संस्थान के सर्वाधिक छात्र हुए उत्तीर्ण

(सुधीर शर्मा-9754669649)

शहडोल। शिक्षा के लिए जरूरी नही कि कोई बड़ा मंच हो, लगन और मेहनत यदि ईमानदारी के किया जाए तो आभावों के बीच भी सफलता अर्जित की जा सकती है। एक ऐसा ही उदाहरण जिला मुख्यालय से महज 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित जोधपुर गांव में देखने को मिली है। जहां पर संचालित सक्सेस राइजर कोचिंग सेंटर में अध्ययन करने वाले छात्रों ने बोर्ड परीक्षाओं में सफलता अर्जित कर संस्थान और अपने माता-पिता का नाम रोशन किया है। संस्थान के डायरेक्टर शुभम गुप्ता ने बताया कि इस वर्ष 10वीं के बोर्ड परीक्षा में सेंटर से 22 छात्र उत्तीर्ण हुए है। वहीं संस्थान से प्रथम स्थान पर जया गुप्ता पिता अरूण गुप्ता ने 87.2 प्रतिशत अंक प्राप्त किया है। दूसरे स्थान पर अंकिता ङ्क्षसह बघेल पिता अवधेश सिंह बघेल ने 83 प्रतिशत, तीसरे स्थान पर पियूष नामदेव पिता हीराचंद नामदेव ने 80.6 प्रतिशत अंक प्राप्त किया है। इसके अलावा कुमारी स्नेहा नापित पिता विकल नापित ने 78.2 प्रतिशत अंक प्राप्त कर चौथे स्थान पर तो वहीं प्रतिमा गुप्ता पिता रामलखन गुप्ता ने 77 प्रतिशत अंक प्राप्त कर पांचवे स्थान पर रही।  

जेईई में हुआ चयन

सक्सेस राइजर कोचिंग सेंटर के डायरेक्टर शुभम गुप्ता ने बताया कि ग्रामीण परिवेश में रहने के बाद भी यहां के छात्रों में प्रतिभा की कमी नही है। कोचिंग में शिक्षा दे रहे शिक्षको की मेहनत और छात्रों की लगन के बदौलत बीते वर्ष जोधपुर गांव के रहने वाले कमलेश कोल  पिता संतराम कोल ने 10 में बेहतर अंक प्राप्त किया था, जिसके बाद कमलेश को शासन के जनजातीय विभाग द्वारा संचालित आकांक्षा योजना के तहत जेईई प्रिपरेशन के लिए चयन हुआ था। जिसको लेकर क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ पड़ी थी और कमलेश ने गांव को इस उपलब्धि से गौरान्वित किया है। 

प्रतिभा के धनी है सभी छात्र: शुभम गुप्ता

ग्रामीण क्षेत्र में कोचिंग का संचालन किया जा रहा है, यहां न तो बेहतर सुविधा मिल रही और न ही काबिल शिक्षक लेकिन इसके बाद भी छात्रों के हौशले की प्रशंसा करनी होगी, जो कि सुविधाओं के अभाव में भी छात्रों का उत्कृष्ट परिणाम आ रहा है। 
शुभम गुप्ता
डायरेक्टर

Leave a Reply

Your email address will not be published.