सचिव के संरक्षण में गोधन में जम रही भ्रष्टाचार की जड़े

Ajay Namdev-7610528622

अनूपपुर। जिले के जनपद पंचायत जैतहरी अंतर्गत ग्राम पंचायत गोधन में भ्रष्टाचार थमने का नाम नही ले रहा है। पंचायत के अंतगर्त प्रत्येक कार्य कों अधूरे कार्य व गुणवत्ता विहीन कार्य कर घोटाले किया जाता है। ग्राम पंचायत सचिव वृजेन्द्र राठौर द्वारा अपनें पद का स्तमाल कर दादागिरी के साथ अनेको कार्य में झोल किया जाता है। जैसे पंचायत में 15 अगस्त एवं 26 जनवरी में बूंदी खरीदी के नाम पर घोटाला, सीसी सड़क घोटाला, पौधा रोपण घोटाला, पीएम आवास घोटाला, मनरेगा घोटाला एवं भारी रकम की शौचालय घोटाला किया जाता है। ब्रजेन्द्र राठौर अपने आप को लोगो के सामने एक साधारण ब्यक्ति पेश कर रहे है। और पंचायत में चलनें वाले कार्यो में सरकार के साथ फर्जीवाड़ा एवं जनता से धोखा किया जाता है। पंचायत में जिस कार्य पर सचिव व सरपंच फायदा व पैसे की बचत कर पाते है उसी कार्य को प्रथमिकता दिया जाता है।
्रगुणवत्ता विहीन बना मुक्ति धाम
इसी प्रकार ग्राम पंचायत गोधन के ग्राम पाटन में बनाए गए शांति मुक्ति धाम को गुणवत्ता विहीन तरीके से बनाया गया है। जिसमे छत की ढलाई पतला है एवं टेढ़ी मेढ़ी झुका हुआ है। नीचे फर्श में रेत की चालन से हल्की सीमेंट डाल कर ढाला गया है। जिसमे गिट्टी की मात्रा नही है जो अब उखडऩे के कगार पर है। मुक्ति धाम में छपाई कार्य भी अधूरा है। सीढ़ी निमार्ण कें बाद कुछ समय में ही टूट गया। इस तरह कार्यो से स्पष्ट हो रहा है कि शांति धाम की पैसा बचाने के लिए ब्रजेन्द्र राठौर द्वारा अनेको प्रयास कर जनता की आंखों में धूल झोका गया है। शांति धाम की शिकायत ग्रामीण द्वारा सीएम हेल्पलाइन में किया जाता है तो जनपद पंचायत में बैठे मनरेगा अधिकारी शिकायत की जांच न करा कर सीएम हेल्पलाइन पोर्टल को अपनें मनमाने तरीके से जांच रिर्पोट बना कर खाना पूर्ती कर दी जाती है। जिसमें लिखा जाता है कि कार्यालय से सहायक यंत्री को जांच के निर्देश दिए गए है। जिसमें पाया गया कि कार्य सही है जो सहायक यंत्री कार्य योजना अनुसार हुआ है। जबकि सहायक यंत्री द्वारा कार्य को देखा नही जाता और सीएम हेल्पलाइन पोर्टल पर फर्जी जाँच अपडेट कर दी जाती है और जांच से पल्ला झाड़ लिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *