सट्टा सरगना अवैध शराब के कारोबार में संलिप्त

Ajay Namdev-7610528622
देशी शराब बेचते पकडया श्याम सुंदर, सैलून की आड़ में बेचता था शराब

चचाई। चुनाव आचार संहिता के मद्देनजर आपराधिक गति-विधियों में पुलिस की पैनी निगाहों के बीच चचाई बाजार में सैलून की आड़ में अवैध तरीके से देशी मदिरा श्याम सुन्दर सेन के द्वारा लम्बे समय से बेची जा रही थी, सोमवार की शाम मुखबिर से सूचना मिलने पर प्रभारी अरविंद साहू ने बगैर देर किये हमराह सहायक उप निरीक्षक रामेश्वर सिंह वैश्य व आरक्षक विवेक मिश्रा, रितेश सिंह, मनीष सिंह को मौके पर भेजा जहां श्याम सुन्दर सेन शराब बेचते पकडा गया। श्याम सुन्दर के पास शराब बेचने संबंधी कोई दस्तावेज न पाये जाने पर अवैध शराब सहित आरोपी को गिरफ्तार कर आबकारी एक्ट की धारा 34(1) के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया। अपराध धारा जमानती होने के कारण उसे 2000 रुपये की मुचलका जमानत पर छोड दिया गया।
दर्ज हैं सट्टे के कई अपराध
श्याम सुन्दर सेन दिखने में तो भोला है लेकिन अवैध कारोबार से उसका उतना ही गहरा नाता है, सूत्रों की माने तो लगभग डेढ दशक से चचाई बाजार में सट्टे का अवैध कारोबार संचालित किये हुये है। ऐसा नही की वह पुलिस के हत्थे नही चढा, कई बार सट्टे का मुकदमा पंजीबद्ध हुआ लेकिन जमानत में बाहर आने के बाद वह फिर से वही कारोबार को अंजाम देने लगता है, वर्तमान में आईपीएल का गेम चलने के कारण सट्टे के कारोबार में मंदी होने के कारण अवैध शराब का कारोबार/ठेकेदार की सांठ-गांठ से शुरू कर दिया, यह शराब का दूसरा प्रकरण श्याम सुन्दर सेन के विरुद्ध पंजीबद्ध हुआ है।
प्रस्तावित थी जिला बदर की कार्यवाही
लगातार अवैध कारोबार के संचालन व पुलिस रिकार्ड में दर्ज मुकदमो को देखते हुये श्याम सुन्दर सेन के विरुद्ध जिला बदर की कार्यवाही भी प्रस्तावित थी लगातार पेशी भी चली, इसके पहले भी एक बार जिला बदर की कार्यवाही के लिये कलेक्टर के समक्ष पुलिस ने जिला बदर की फाइल पेश की थी, फिर भी चचाई में अवैध कारोबार संचालित कर बेरोजगार युवाओं को एक का अस्सी देने के लालच में बर्बाद किया, अब उन्हें सस्ते नशे के आगोश में ले रहा है। प्रशासन ने ऐसे आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही नही की तो वह न जाने कितने बेरोजगारों को बर्बादी की कगार पर पहुंचाएगा व कितने घरों के मुखियाओं को बेघर की राह पर लाकर छोडेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.