सत्ता से जाते ही, उंगलियों में होने लगी भाजपाईयों की गिनती

स्वास्थ्य विभाग की कार्यवाही की जानकारी के बाद भी सेकी राजनीति की रोटी

(Amit Dubey-8818814739)
शहडोल। बुधवार की शाम बुढ़ार विकास खण्ड के ग्राम बकहो निवासी श्रीमती गुडिया सिंह उम्र 32 वर्ष की मौत नसबंदी आपरेशन के दौरान होने का मामला गुरूवार को भी गरमाया रहा, बुधवार की शाम यह मामला सुर्खियों में आने के बाद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओ.पी. चौधरी ने इसे गंभीरता से लेते हुए गुरूवार की सुबह ही सर्जिकल विशेषज्ञ डॉ. व्ही.पी.पटेल और बीएमओ डॉ. सचिन कारखुर को कारण बताओं नोटिस जारी किये, दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी और युवा मोर्चा के मु_ीभर पदाधिकारी प्रशासनिक कार्यवाही व जांच के आदेश होने के बाद भी राजनीति चमकाने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर जा पहुंचे।
यह था मामला
बकहो में रहने वाले अरविंद सिंह ने बीते दिवस अपनी पत्नी श्रीमती गुडिया सिंह को नसबंदी के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बुढ़ार में चल रहे नसबंदी शिविर ले जाया गया था, जहां डॉ. पटेल द्वारा नसबंदी ऑपरेशन किया गया था, बुधवार की रात अचानक महिला का स्वास्थ्य गड़बड़ाया और जिला चिकित्सालय रेफर किया गया, लेकिन इस दौरान महिला की मौत हो गई, परिजनों ने आरोप लगाई की, डॉ. पटेल के द्वारा कालातीत दवाओं का उपयोग किया गया, यही नहीं महिला की मौत बुढ़ार में ही हो गई थी, लेकिन इस बात को छुपाकर शहडोल रेफर किया गया और महिला के शव को जिला चिकित्सालय में भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया गया।
यह किया स्वास्थ्य विभाग ने
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओ.पी. चौधरी ने बुधवार हुई घटना को संज्ञान में लेते हुए गुरूवार की सुबह ही डॉ. सचिन कारखुर खण्ड चिकित्सा अधिकारी बुढ़ार को विभागीय पत्र क्रमांक 819 और डॉ. व्ही.पी. पटेल सर्जिकल विशेषज्ञ को पत्र क्रमांक 817 जारी करते हुए 26 फरवरी को महिला की मौत के संदर्भ में जवाब मांगे हैं, पत्र में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने उल्लेख किया कि मृत्यु के पश्चात 27 जनवरी की सुबह जब शहडोल में महिला के शव के विच्छेदन की प्रक्रिया चल रही थी, उस दौरान बिना अनुमति के डॉ. पटेल शव विच्छेदन गृह में कैसे पहुंच गये। उनका वहां जाना नियम विरूद्ध था, यही नहीं ब्लाक मेडिकल ऑफिसर को लिखे पत्र में उन्होंने जवाब मांगा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में चल रहे नसबंदी शिविर में बरती गई लापरवाही के संदर्भ में शिकायत पत्र प्राप्त हुआ है, यह लापरवाही अपनी जिम्मेदारी का ठीक ढंग से निर्वहन न करने के मामले को सामने लाती है, अत: 24 घंटे के अंदर जवाब प्रस्तुत करें।
राजनीति चमकाने पहुंचे भाजपा के नेता
महिला की मौत के मामले में गुरूवार की सुबह बुढ़ार और धनपुरी मण्डल के नेता ज्ञापन सौंपने के बहाने नेतागिरी चमकाने पहुंच गये, हालाकि दोनों मण्डलों से सिर्फ 11 लोगों की भीड़ ही इस वृह्द आंदोलन में शामिल हो पाई, कुछ दिनों पहले महाविद्यालय की व्यवस्था को लेकर, उससे पहले विद्युत विभाग सहित लालपुर में शासकीय भूमि अतिक्रमण को लेकर लगातार भाजपाई नारे बुलंद करते रहे हैं, जिसे देखकर यह प्रतीत होता है कि पूरी अव्यवस्थाएं एक वर्ष से ही लगातार बिगड़ती जा रही हैं। गुरूवार को दो मण्डलों से 11 लोगों की भीड़ जांच के आदेश जारी होने के बाद ज्ञापन देने व नारे लगाने तो पहुंची, लेकिन यह भीड़ मृतक महिला के परिवारजनों को सांत्वना देना भूल गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed