सप्ताह में दो दिन खुलता है उप तहसील फुनगा बाकी के दिन ग्रामीण अनूपपुर के लगाते हैं चक्कर

आकाश गुप्ता रिपोर्टर✍✍

अनूपपुर/फुनगा

अनूपपुर तहसील कार्यालय पर ५४ गांवों के राजस्व सम्बंधित शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में बन रहे दवाब को कम करने मुख्यालय से १८ किलोमीटर खोला गया फुनगा उप तहसील कार्यालय से ग्रामीणों को राहत नहीं मिल रही है। ग्रामीण अपनी समस्याओं को निराकरण अब भी अनूपपुर तहसील कार्यालय के चक्कर लगाने विवश नजर आ रहे हैं। बताया जाता है कि फुनगा उप तहसील कार्यालय सप्ताह में सिर्फ 2 दिन ही खुला रहता है। बांकी दिन यहां ताला लटकते रहता है। जिसके कारण विभिन्न कार्य से यहां पहुंचने वाले काश्तकारों एवं ग्रामीणों को कार्यालय पर ताला बंद होने पर अनूपपुर तहसील कार्यालय जाना पड़ता है। स्थानीय लोगों ने बताया कि सोमवार तथा मंगलवार को यहां नायब तहसीलदार पक्षकारों एवं काश्तकारों की समस्याओं को सुनने के लिए पहुंचते हैं। बाकी के दिन नायब तहसीलदार द्वारा अनूपपुर स्थित कार्यालय से न्यायलयीन प्रकरणों का निराकरण करते हैं। जिसके कारण फुनगा उप तहसील कार्यालय पर अधिकारी सहित कर्मचारी अनुपस्थित रहते हैं। इससे शेष दिन यहां तालाबंदी रहती है और जरूरतमंद ग्रामीणों को कार्य से अनूपपुर तहसील कार्यालय जाना पड़ता है।
बॉक्स: अनूपपुर तहसील कर्मचारियों के भरोसे संचालित कार्यालय
फुनगा उप तहसील कार्यालय प्रारंभ हुए लगभग 1 वर्ष का समय व्यतीत हो रहा है, लेकिन अब तक यहां नियमित कर्मचारियों की पदस्थापना नहीं की गई है। आज भी इस कार्यालय का संचालन अनूपपुर तहसील कार्यालय में पदस्थ कर्मचारियों के भरोसे हो रहा है जो 2 दिन यहां पर अपनी सेवाएं देते हैं अन्य दिन अनूपपुर तहसील कार्यालय में उनसे कार्य लिया जाता है। कभी अधिकारी तथा कर्मचारियों के उपस्थित नहीं होने पर कार्यालय नहीं खोला जाता है। यहां तक कि पटवारी एवं राजस्व निरीक्षक सहित कोटवार भी कार्यालय में नहीं रहते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *