सरपंच सचिव के इंतजार में बीत जाते है हप्तों

(Prakash Tiwari-9406747199)
ग्राम पंचायत पोड़ी-चोड़ी में चल रही भारी अनियमितता

अनूपपुर। जनपद अनूपपुर अतंगर्त ग्राम पंचायत पोंडी-चोंडी में मनमानी का आलम चल रहा है। पोंड़ी-चोंडी अनूपपुर जनपद के अंतगर्त आने वाले बड़े गांव में से एक है, जहां दो पंचायत पोडी एवं चोडी है। चोडी पंचायत अपनी ही दुर्दशा के लिये रो रहा है। पंचायत में ग्राम पंचायत भावन का निर्माण करा कर पंचायत तो खोल दी गई पर विद्युतीकरण करना भूल गये है। देश के प्रधानमंत्री द्वारा डिजटल इंडिया के नाम पर कई योजना प्रारंभ किये गये जिसमें कारोडो रूपये देश के अंतिम छोर तक बिजली पहुचाने के लिये खर्च किये गये पर चोंडी पंचायत का आलम तो अलग ही है। ग्राम पंचायत भवन में अभी तक बिजली नही है। ऐसे में पंचायत का काम कैसे होता है ये तो पंचायत चलाने वाले सरपंच व सचिव ही बता सकते है। ग्रामीणों का कहना है कि सचिव अपने मद मे मस्त रहते हैं तो इंतजार में निकल जाते हैं पर सचिव के दर्शन पंचायत में दुर्लभ हो जाते हैं, ऐसे में ग्रामीणों को अपने कार्य कराने के लिये सचिव के घर के चक्कर लगाने पडते है।
मिस्टर इंडिया है पंचायत के सचिव
चोडी पंचायत के सचिव का आलम फिल्मों के मिस्टर इंडिया से कम नही है। गावं या गांव के आस पास होने के बावजूद भी सचिव पंचयत भवन का रूख नहीं करता है। हप्तो भर सचिव पंचायत से गायब रहतें है। ग्राम वासियो को अपना कार्य कराने के लिये दर दर भटकना पडता है। पंचायत के किसी भी कार्य को करने के लिये सचिव के घर जाना पडता है। जहां शासन मे कार्यकरने लिये पेमेन्ट बनती है वहीं सचिव घर बैठे सरकारी धन का लाभ ले रहें है।
नहीं होती कार्यवाही
पंचायत की बदहाली के बाद भी जनपद के आलाधिकारियों के द्वारा सचिव के ऊपर कोई कार्यवाही नहीं होती है। आलाधिकारियों से बेखौफ होकर सचिव अपना तानाशाही रवैया पंचायत में चलाता है। ग्रामीणों ने बताया कि जब भी किसी भी कार्य के सचिव के पास जाते हैं सचिव द्वारा हमें घर में न आने व पंचायत जाने की बात कही जाती है, लेकिन जब पंचायत ही बंद तो हम कहां जाये यह सोचनीय प्रश्न है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *