साहब जहर खिलाकर मार डाला मेरी बहन को

मृतिका राधा के भाई ने लगाई एसपी से गुहार
मामला अनूपपुर जिले के ग्राम पिपरिया का

(अनिल लहंगीर+91 93295 37839)
शहडोल/अनूपपुर। महिलाओं की सुरक्षा तथा देश भक्ति जन सेवा का ढिढ़ोरा पीटने वाली पुलिस कितनी कर्तव्य निष्ठ है, इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि एक महिला जिसके साथ उसके ससुराल वालों ने जमकर मारपीट की, जिसकी शिकायत करने के बाद पुलिस के कानों में जूं तक नहीं रेंगी और अंत में यह हुआ कि उस महिला को ससुराल वालों ने मिलकर जहर खिला दिया, अगर मारपीट करके रिपोर्ट को पुलिस ने गंभीरता से लिया होता तो शायद राधा की जान बच जाती, मृतिका के भाई ने लगाई एसपी से गुहार ग्राम खमरौध निवासी कैलाश साहू पिता मोहन साहू ने विगत 26 दिसंबर को अनूपपुर पुलिस अधीक्षक से शिकायत पत्र सौंपते हुए बताया कि उसने अपनी बहन की शादी किशन साहू निवासी ग्राम पिपरिया थाना कोतवाली अनूपपुर से की कुछ दिनों तक ठीक रहा, लेकिन कुछ वर्ष बाद ससुराल पक्ष से उसकी बहन को दहेज की मांग को लेकर प्रताडि़त किया जाने लगा, यह प्रताडऩा और बढ़ गई जब राधा ने पुत्री को जन्म दिया।
पुलिस ने नहीं की कार्यवाही
कैलाश साहू ने बताया कि उसकी बहन के साथ ससुराल पक्ष की और से आए दिन मारपीट किया जाता था, 1 नवंबर को भी मेरी बहन के साथ उसके ससुर, देवर, सास मारपीट किया , मारपीट ज्यादा होने के बाद राधा ने कोतवाली अनूपपुर में शिकायत की, परंतु पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की, बल्कि ससुराल वालों को राधा के द्वारा शिकायत करना नागवार गुजरा और रात को पुन: राधा के साथ मारपीट की गई, जिसकी सूचना मेरी बहन राधा ने मुझे फोन पर दी कैलाश साहू ने बताया कि सुबह अपनी बहन से मिलने जाने वाला था कि पता चला कि उसकी बहन ने जहर खाली है, वह आनन-फानन में तत्काल अपनी बहन से मिलने पहुंचा तब बातचीत कर रही थी, इस दौरान उसने बताया कि सास, ससुर, देवर ने मारपीट किया और देवर गुलशन ने जहर खिला दिया, हालत बिगडऩे के बाद राधा के पति किशन साहू ने उसे अनूपपुर अस्पताल लाया, जहां अंत में 8 नवंबर को राधा जिंदगी से जंग हार गई और उसकी मौत हो गई।
इंसाफ के लिए भटक रहा भाई
कैलाश साहू ने बताया कि बहन की मृत्यु के बाद इंसाफ के लिए यहां-वहां भटक रहा है , मामले की शिकायत उसने कोतवाली शहडोल के बाद कोतवाली अनूपपुर में भी किया औपचारिकता पूरी करते हुए पुलिस ने उसे बुलाकर पूछताछ किया और मामले को रद्दी के टोकरी में डाल दिया और जिम्मेदार आज भी उक्त आरोपी पुलिस पकड़ से दूर है और अब फरियादी कैलाश अनूपपुर पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *