सिंहपुर में धीरेन्द्र बेच रहा अंग्रेजी शराब

(अमित दुबे+8818814739)
शहडोल। अंग्रेजी हो या फिर देशी शराब दुकान सभी दुकानों में प्रिंट रेट से बीस से पचास रुपए अधिक दर पर शराब बेची जा रही है, साथ ही शराब की दुकानों पर रेट लिस्ट भी नहीं लगी है। वहीं शराब की मिल रही शिकायत के बावजूद पुलिस-प्रशासन व आबकारी विभाग कोई कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। मजे बात तो यह है कि जिला मुख्यालय से सटे सिंहपुर थाना क्षेत्र में एक भी अंग्रेजी शराब की दुकान नहीं है, लेकिन क्षेत्र में शराब के शौकीनों को धीरेन्द्र उनकी पसंद की शराब उपलब्ध कराने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है।
युवाओं से कराते है पैकारी
सिंहपुर थाना क्षेत्र में महुआ की शराब की बिक्री तो आम हो चली है, वहीं अंग्रेजी शराब में महेन्द्र ने अपना नया कारोबार ढूंढ लिया है, सूत्रों की माने तो थाने से महज 50 मीटर दूरी पर शराब की खेप उतरती है, लेकिन जिम्मेदार इस ओर से पूरी तरह आंखे मूंदे बैठे हैं, क्षेत्र का हर दूसरा आदमी जानता है कि धीरेन्द्र ने इस कारोबार में जड़े जमा ली है, लेकिन आबकारी और पुलिस विभाग ने इसे मौन स्वीकृति दी हुई है।
सबका बंधा नजराना
अंग्रेजी शराब दुकान जिला मुख्यालय में है, सिंहपुर थाना क्षेत्र में एक भी अंग्रेजी शराब दुकान न होने का फायदा धीरेन्द्र भाई उठा रहे है, सूत्रों की माने तो इस कारोबार से आने वाली कमाई के जरिए लगभग वर्दीधारियों की सब्जी घर पहुंच रही है, साथ ही किसी को मेहमान नवाजी करवानी है तो, धीरेन्द्र को बोल दिया जाता है और फिर शराब की पार्टी कहीं भी ठीहा बनाकर शुरू हो जाती है।
दीपू ने सम्हाली पडमनिया की कमान
शराब पैकारों ने पूरे क्षेत्र को बकायदा बांट रखा है, सिंहपुर में जहां धीरेन्द्र ने कमान सम्हाली हुई है, तो वही दीपू ने भी अपनी पडमनिया में पैठ जमा ली है, सूत्रों की माने तो इनकी आबकारी विभाग में सेटिंग होने के चलते इन्हें प्रिंट रेट पर शराब उपलब्ध हो रही है और उसके बाद पूरे क्षेत्र में शराब शौकीनों को अंग्रेजी शराब उपलब्ध कराई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *