सोन घडिय़ाल में हो रहा था रेत का अवैध खनन

पुलिस ने जेसीबी और हाईवा की जब्त

(शुभम तिवारी+91 78793 08359)
शहडोल। देवलोंद पुलिस ने सोन घडिय़ाल अभ्यारण के प्रतिबंधित क्षेत्र में जेसीबी मशीन से रेत का अवैध खनन कर तस्करों के द्वारा परिवहन किया जा रहा था, शनिवार की रात्रि पुलिस को सूचना मिली, टीम मौके के लिए रवाना हुई और घेराबंदी करते हुए जेसीबी मशीन और हाइवा वाहन जब्त कर कार्यवाही की। क्योंकि घटना स्थल सोनघडिय़ाल क्षेत्र का होने से अग्रिम कार्यवाही के लिए प्रतिवेदन अभ्यारण को भेज दिया गया।
लंबे अर्से से चल रही तस्करी
प्रतिबंधित सोनघडिय़ाल अभ्यारण का अस्तित्व मिटाने के लिए सक्रिय तस्करों द्वारा अंधेरे में लंबे अर्से से रेत की तस्करी मशीन और हाइवा वाहनों के माध्यम से की जा रही थी, पुलिस कप्तान कुमार सौरभ ने हालही में देवलोंद थाने की कमान अभिमन्यु द्विवेदी को सौंपने के बाद यह मामला सामने आया है, जबकि उक्त क्षेत्र में सक्रिय तस्कर लंबे अर्से से खनन और परिवहन की गतिविधियों को अंजाम देने में जुटे हुए थे।
जेसीबी से लोड हो रहा था हाइवा
पुलिस ने जब दबिश देकर कार्यवाही की तो पाया कि बुढ़वा के गोटियान टोला निवासी सीता प्रसाद जायसवाल पिता लक्ष्मण प्रसाद जायसवाल उम्र 22 वर्ष के द्वारा हाइवा क्रमांक यूपी 95 टी 0270 लोड कर रहा था, जिसे मौके से ही हिरासत में लिया गया है। थाना प्रभारी अभिमन्यु द्विवेदी ने बताया कि जेसीबी मशीन पंकज बैस निवासी मझटोलवा और भइया सिंह उर्फ चरका का हाइवा वाहन है। सूत्र बताते हैं कि ब्यौहारी और उसके आस-पास के क्षेत्र में नदियों से रेत का अवैध खनन कर परिवहन किया जा रहा है, इसके लिए तस्करों का एक नेटवर्क काम कर रहा है, वहीं रेत को बाहर भेजने के लिए लालपुर स्थित वशुंधरा एग्रो नामक फर्म की रेत खदान की ईटीपी का इस्तेमाल किया जाता है। अगर उक्त खदान की ईटीपी की जांच हुई तो कई चौकाने वाले तथ्य सामने आयेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *