स्कालरशिप गबन मामले में दो वर्षों से भटक रहे सैकड़ो छात्र

0

शिकायत पर कलेक्टर ने जांच का दिया आश्वासन

(अनिल साहू+91 70009 73175)
उमरिया । स्कॉलरशिप के नाम से पहले तो छात्रों के खाते में 10,000 की राशि आई परंतु 24 घंटे के अंदर ही खाते से राशि दूसरे खाते में हस्तांतरण कर फर्जी तरीके से गबन कर ली गयी, इस मामले में पीडि़त छात्रों ने कलेक्टर से शिकायत की है, जिस पर कलेक्टर अमरपाल सिंह ने पीडि़त छात्रों को कार्यवाही का आश्वासन दिया है। पीडि़त छात्र किशन सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना अंतर्गत सेफ्टी ऑपरेटर की परीक्षा में वर्ष 2016 में तकरीबन डेढ़ सौ छात्रों ने हिस्सा लिया था परीक्षा के पूर्व प्रबंधन ने वादा किया था कि सभी छात्रों के खाते में स्कॉलरशिप के रूप में 10,000 की राशि आएगी बाद में यह राशि सभी छात्रों के खाते में आई भी, परंतु 24 घंटे के अंदर ही किसी दूसरे खाते में पूरी राशि हस्तांतरण हो गयी।इसके बाद से ही पीडि़त छात्र परेशान है,और अपनी शिकायत जिला प्रशासन सहित संभागायुक्त की है। इस मामले में छात्रों ने यह भी बताया कि अधिकांश छात्र थाना नौरोजाबाद अंतर्गत ग्राम महुआ, पिनोरा, देवरी, मजरा, मसूरपानी, कोहका 82, विंध्या कॉलोनी के है। परीक्षा के बाद इन छात्रों में तकरीबन 40 छात्रों की अंकसूची भी आई है परंतु दूसरे के खाते में हस्तांतरित राशि 2 वर्ष बीत जाने के बाद भी छात्रों को नहीं मिल सकी है इस मामले में छात्रों ने यह भी बताया कि किसी तरह प्रबंधन से संबंध भी स्थापित किया गया परंतु प्रबंधन धमकी दे रहा है और स्कॉलरशिप की राशि देने से साफ इनकार कर रहा है। छात्रों की मानें तो इस मामले में अगर जांच की गई तो 20 से 25 लाख के गबन का मामला सामने आएगा। पिछले 2 वर्षों से जांच के लिए जिला प्रशासन का दरवाजा खटखटा रहे इन छात्रों को न्याय मिल सकेगा या नहीं यह तो बाद में समझ में आएगा हालांकि कलेक्टर से शिकायत करने के बाद छात्रों को न्याय की उम्मीद है।कलेक्टर को दिए गये शिकायत में मुख्य रुप से पीडि़त छात्रों में किशन सिंह राठौर, शुभम साहू, विक्रम सिंह राठौर, लालचंद सोनी, गणेश सिंह राठौर, राजेंद्र प्रसाद कोल, राकेश साहू, अनिल साहू, मोले साहू, नीरज साहू, विनीत यादव, मुकेश यादव, गंगाराम सिंह, उमेश साहू मौजूद रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.