स्वास्थ्य विभाग ने रेवड़ी की तरह अपात्रों को बांटे आवास

जिम्मेदारो ने साधी चुप्पी, संभागायुक्त से जांच की मांग

(Amit Dubey+8818814739)
शहडोल। नवागत संभाग आयुक्त इन दिनों संभाग में सभी शासकीय उपक्रमों का जायजा ले रहे हैं, वहीं जयसिंहनगर के लोगों ने नवागत संभागायुक्त एवं कलेक्टर से मांग की है कि बीएमओ डाॅ. राजेश तिवारी यहां वर्षो से पदस्थ है, उनके द्वारा अपने विभाग के आवासों को अपात्रों को दे दिया गया है, जबकि पात्र कर्मचारी आज भी आवास के लिए भटक रहे है। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जयसिंहनगर में बायो मैट्रिक मषीन शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई थी, जिससे यहां पदस्थ कर्मचारी समय से अपने कार्य पर पहुंचे, लेकिन साहब द्वारा उन मषीनों को खराब बताकर कर्मचारियों के देरी से आने के लिए खुले रूप से बढ़ावा दिये हुए हैं। इस पूरे मामले की जांच कराकर दोषियों पर सख्त कार्यवाही की जाये।
रेवड़ी की तरह बांटे आवास
जयसिंहनगर में जहां एक ओर अस्पताल के पात्र कर्मचारी पहुंच न होने के चलते आवास के लिए भटक रहे हैं, वहीं यहां पदस्थ जिम्मेदार अधिकारी द्वारा 2013 से मांग कर रहे कर्मचारियों को आवास उपलब्ध कराने में असमर्थ है, मजेे की बात तो यह है कि बीएमओ द्वारा एएनएम लोगों को एस टाईप के क्वाटर उपलब्ध करा दिये गये हैं, जबकि यहां पदस्थ स्टाॅफ नर्स आज भी कमरे की मांग कर रही हैं और अधिकारी द्वारा उन्हें कमरा देने में असमर्थता जताई जा रही है।
मुख्यालय में नहीं रहते कर्मचारी
एक ओर जहां अधिकारियों द्वारा सख्त निर्देष दिये गये हैं कि कर्मचारियों को मुख्यालय में ही रहना होगा, लेकिन जयसिंहनगर के स्वाथ्य विभाग में पदस्थ कर्मचारियों द्वारा मुख्यालय में रहकर एक ओर जहां आदेषों का उल्लंघन किया जा रहा हैं, वहीं दूसरी ओर बीएमओ साहब इस ओर से पूरी तरह मौन स्वीकृति दिये हुए है। खबर है कि यहां पदस्थ कम्प्यूटर और ड्राइवर ने अपना मुख्यालय ही नहीं बनाया है, उसके बाद भी बीएमओ द्वारा उन्हें खुला संरक्षण दिये हुए हैं।
इनका कहना है…
एक कर्मचारी से मकान खाली करा लिया गया है और एक को नोटिस दिया गया हैं, रही बात दूसरे विभाग के कर्मचारी को मकान देने का अधिकार मेरे को नहीं है, संभवतः कलेक्टर या कमिष्नर कार्यालय से आवंटित हुआ होगा।
डाॅ. राजेष तिवारी
बीएमओ, जयसिंहनगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *