हाथी ने मचाया उत्पात@एक ग्रामीण की मौत

अनूपपुर। वन परिक्षेत्र बिजुरी अंतर्गत वृत्त निगवानी के बीट जर्राटोला जो कि छत्तीसगढ सीमा से सटा हुआ है, मंलगवार की सुबह लगभग 4 बजे नदी के किनारे हाथियों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया, उसी दौरान खोडरी के ग्राम सुईडांड निवासी रामचद्र पिता ददना पाव उम्र 45 वर्ष की हाथी के चपेट में आ गया और उसकी दर्दनाक मौत हो गई। जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ से चलकर मध्यप्रदेश के वनभूमि में हाथी पहुंचे थे, जहां सुबह ग्रामीण जंगलो के रास्ते नदी मछली मारने जा रहे थे, लगभग 4 ग्रामीणों में राधेश्याम पिता टिर्रा पाव उम्र 50 वर्ष, केशव पिता श्याम सकल उम्र 34 वर्ष, लोकनाथ पिता सोनसाय पाव उम्र 36 वर्ष सभी निवासी खोडरी ग्राम खुईडांड भी हादसे का शिकार होते बच गये। हाथियों के उत्पाद के दौरान सभी ने भागना शुरू किया, लेकिन रामचंद्र एक हाथी के चपेट में आ गया और हाथी ने उसे कुचल डाला, जिससे उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई।
सूचना मिलते ही पहुंचा वन अमला


ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना वन अमले को दी, जिसके बाद वन अमला घटना स्थल पर पहुंच कर शव को पीएम के लिए रवाना किया, वही काफी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद थे। लोगों ने बताया कि हाथी उत्पात मचाने के बाद जंगल के रास्ते छत्तीसगढ की तरफ रवाना हो गया, गौरतलब हो कि इसके पहले भी हाथियों ने पूरे जिलेभर में उत्पाद मचा चुके है, हर बार हाथियों का झुुंड छत्तीसगढ से चलकर मध्यप्रदेश के जंगलों में भ्रमण करते है, इन उत्पादी हाथियों के कारण कई घरो व फसलों को भी नुकसान पहुंचता है, हांलाकि वन अमला दिन रात मेहनत कर हाथियों से ग्रामीणों को बचाने का प्रयास करती रहती है, लेकिन उत्पाती हाथी कही न कही नुकसान पहुंचा ही जाते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *