10 वर्षो से बिना जिले में पंजीयन और प्रदेश की अनुमति संचालित था क्लीनिक

Ajay Namdev- 7610528622

अनूपपुर। कोयलांचल क्षेत्र में अवैध तरीके से संचालित क्लीनिकों एवं पैथालॉजी के कारोबार में 6 मई को अचानक स्वास्थ्य विभाग अमला ने कोतमा नगर के मुखर्जी चौक पर संचालित बोस क्लीनिक पर छापामार कार्रवाई करते हुए उपकरणों व दवाईयों को जब्त करने की कार्रवाई की। कार्रवाई कोतमा बीएमओ के नेतृत्व में स्वास्थय विभाग एंव पुलिस की संयुक्त टीम के द्वारा किया गया। जिसके बाद बाजार क्षेत्र में संचालित अवैध क्लीनिकों के शटर गिरने लगे। अधिकारियों द्वारा जब जांच-पड़ताल की गई तो जानकारी मिली कि अन्य प्रदेश से आकर 40 वर्षीय उज्जवल बोस द्वारा पिछले 10 वर्षो से बिना प्रदेश एंव जिले की पंजीयन लिए खुलेआम क्लीनिक संचालित कर रहे थे। बीएमओ केएल दीवान, वाईएस कुरैशी सहित टीम को छापेमारी के दौरान इलेक्ट्रो होम्यो पैथी की डिग्री की आड़ में भारी मात्रा में अंग्रेजी दवाईयो का जखीरा पाया गया। साथ ही आवश्यक उपकरण भी मिले। जिसकी लिखित सूचीबंद्ध करते हुए कड़ी फटकार लगाई। साथ ही क्लीनिक को बंद करने के निर्देश दिए। पूरे मामले में कार्रवाई के लिए प्रतिवेदन बनाकर जिला स्वास्थ्य अधिकारी एंव स्थानीय प्रशासन को भेजा जा रहा है। बताया जाता है कि कई माहो के बाद अचानक स्वास्थ अमले के द्वारा सोमवार को छापामार कार्रवाई की खबर से अन्य अवैध क्लीनिक एंव लैब संचालित करने वालों कारोबारियों में खलबली मच गई। जिसके बाद केरहा नाला के पास, बस स्टैंड, विकास नगर, बनियाटोला, जकीडा चौक एंव बाजार क्षेत्र की सभी क्लीनिके बंद हो गई। इस दौरान लैब संचालक भी फरार हो गए। जिसके कारण दबिश देने गए अमले को खाली हाथ लौटना पडा।इनका कहना है उच्च अधिकारियों के निर्देशन में क्लीनिकों में दबिश दी गई है। बिना पंजीयन क्लीनिक संचालित थाए जहां से दवाईयंा एंव उपकरण भी पाए गए, कार्रवाई की जा रही है।डॉ. केएल दीवानबीएमओ कोतमा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *