100 करोड़ रुपए की सरकारी जमीन पर थी प्लाटिंग की तैयारी प्रशासन ने कराई मुक्त, प्रशासनिक अमले की दबिश से मचा हड़कंप, राजा, करन , डीआर के नाम पर अलॉट हो गए थे प्लाट

100 करोड़ रुपए की सरकारी जमीन पर थी प्लाटिंग की तैयारी प्रशासन ने कराई मुक्त, प्रशासनिक अमले की दबिश से मचा हड़कंप, राजा, करन , डीआर के नाम पर अलॉट हो गए थे प्लाट

कटनी ॥  सरकारी जमीन पर कब्जा कर सीमेंट कांक्रीट का जंगल तैयार करने वाले भू-माफिया और जंगलों में बसे आदिवासियों की जमीन को औने-पौने दामों में खरीदने और साहूकारी के नाम पर गिरवी रख कब्जाने वालों के खिलाफ सरकार के एक्शन मोड पर नजर आ रही है़ जिसके बाद भू-माफियाओं की रातों की नींद काफूर हो गई है।  l शासन के निर्देश कलेक्टर के दिशा निर्देश पर जिले में निरंतर भू-माफियाओं से जुड़े लोगों पर कार्रवाई की जा रही है। माफिया मुक्त अभियान के तहत जिला प्रशासन ने गत मंगलवार को दो स्थानों पर कार्रवाई करते हुए 100 करोड रुपए कि प्रदेश सरकार कटनी विकास प्राधिकरण व झुंडपी जंगल की जमीनों पर की जा रही कब्जे की कोशिश को नाकाम कर दी झिंझरी पुलिस लाइन के पीछे और गुलवारा गांव में स्थित 55 एकड़ जमीन पर अवैध प्लाटिंग कर कब्जे की तैयारी थी मौके पर बड़े पैमाने पर चुना डालकर अतिक्रमण का प्रयास किया जा रहा था और 200 से अधिक लोगों को मौके पर मौजूद थे!  सूचना पर एसडीएम बलवीर रमन ने राजस्व अमले एवं पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर अवैध कब्जे को हटाने की कार्यवाही की प्रशासन ने मौके पर एक स्कॉर्पियो, बाईक ,  कुल्हाड़ी एवं अन्य सामान जप्त कर प्रताप वार्ड माधव नगर में रहने वाले रवि यादव पिता चंद्रभान यादव निवासी झिंझरी,  अनिल राय पिता शिवचरण राय , सतीश तिवारी पिता राम प्रताप तिवारी , प्रदीप बर्मन पिता अशोक बर्मन को पकड़कर पुलिस के सुपुर्द किया रवि यादव पर 25 आर्म्स एक्ट और तीन अन्य पर धारा 151 के तहत कार्रवाई की गई पुलिस ने चारों युवकों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया देखो जेल भेज दिया गया वहीं मौके से गिरफ्तार एक अन्य आरोपी को नाबालिग भी बताया गया है! पकड़े गए युवकों द्वारा 200 से ज्यादा लोगों को एक साथ कब्जा कराया जा रहा था एसडीएम बलवीर रमन ने तहसील शहर मुनव्वर खान , तहसीलदार ग्रामीण कटनी संदीप श्रीवास्तव , राजस्व निरीक्षक पटवारी , झिंझरी चौकी के पुलिस बल के साथ छापा मारा तो वहां पर भगदड़ मच गई!जानकारी के अनुसार झिंझरी एवं गुलवारा की शासकीय जमीन पर अतिक्रमण करने की मुखबिर से सूचना मिलने पर राजस्व अमले एवं पुलिस बल के साथ मौके पर दबिश दी वहां का नजारा देखकर अधिकारी भी अचंभित रह गए! झिंझरी में पुलिस लाइन के पीछे मध्यप्रदेश शासन एवं कटनी विकास प्राधिकरण की जमीन सहित गुलवारा की झुंडपी जंगल की जमीन पर जा किया जा रहा था यहां चुना की लाइन डालकर व्यवस्थित तरीके से प्लाटिंग की जा रही थी,  लगभग 200 लोगों से ज्यादा लोगों को एक साथ कब्जा कराया जा रहा था ! अधिकारियों के अनुसार संगठित तरीके से 55 एकड़ की जमीन पर अतिक्रमण की साजिश थी इस जमीन का बाजार मूल्य लगभग ₹ दो करोड़ प्रति एकड़ है इस तरह 100 करोड रुपए की सासकीय जमीन पर माफियाओं की नजर थी अधिकारियों का मानना है कि करोड़ों की शासकीय जमीन में दो तीन सौ लोगों को एक साथ कब्जा कराने के परदे के पीछे किसी बड़ी माफिया का हाथ हो सकता है! झिंझरी एवं गुलवारा कि जिस 55 एकड़ की शासकीय जमीन को प्रशासन ने मुक्त कराया था वहां माफियाओं ने लोगों के नाम पर प्लाट फिक्स कर दिए थे , यहां पर गत बुधवार को भी माफियाओं द्वारा बनाई गई चौहद्दी, बाड़ी एवं घेरा हटाने की कार्रवाई पटवारियों, कोटवारों द्वारा की गई! यहां माफियाओं ने प्लाटों में बकायदा चूना से लोगों को नाम लिख दिए थे करन , डीआर,  एसएचआर आदि नाम चुना से लिखे गए थे ! एसडीम बलवीर रमन ने बताया कि शासकीय जमीन पर कब्जा कराने डाली गई चुना की लाइनें चौहद्दी,घेरा एवं बाड़ी हटाने का काम बुधवार को भी दिनभर चलता रहा प्रशासन का भी मानना है कि इतने बड़े भूभाग पर संगठित एवं सुनियोजित तरीके से अतिक्रमण करने में किसी बड़े भू माफिया का हाथ हो सकता है उल्लेखनीय है कि मंगलवार को गुप्त सूचना मिलते ही प्रशासन ने जिस तरह से ताबड़तोड़ कार्रवाई की उससे माफियाओं के हौसले पस्त हो गए यहां है कि पीएचई ,  वेटरनरी एवं नजूल की सैकड़ों एकड़ जमीन पर पहले इसी तरह के अवैध कब्जे होते रहे हैं!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *