2 वर्षाे बाद हुआ सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायत का निराकरण

इधर मुखिया दे रहे समस्याओं के त्वरित निराकरण की बधाई

(अमित दुबे-8818814739)
उमरिया। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में दो वर्ष पूर्व शिक्षा विभाग के मामले में नियमों के विपरीत की गई पदस्थापना में तथा कथित शिक्षक शिकायत सही पाते हुए मूल पद पर स्थानांतरित किया गया, मामला जनपद शिक्षा केन्द्र पाली में पदस्थ वरिष्ठ अध्यापक मथुरेश कुमार गुप्ता का है, जिनकी लगभग 7 वर्ष पूर्व वर्ष 2011 के 24 दिसम्बर को 2 वर्षाे के लिए शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से जनपद शिक्षा केन्द्र के लिए नियुक्ति की गई थी, नियमत: आदेश की अवधि समाप्त होने के बाद शिक्षक की प्रतिनियुक्ति स्वत: निरस्त हो जानी थी, लेकिन जुगाड़ के फेर में मलाई वाले पद पर कथित वरिष्ठ अध्यापक बीते कुछ दिनों तक पदस्थ रहे, इस संबंध में वर्ष 2017 में शहडोल नगर पालिका क्षेत्र के शिकायतकर्ता द्वारा मुख्यमंत्री हेल्प लाईन में नियम विपरीत पदस्थापना को लेकर शिकायत की गई थी, जिसके निराकरण की सूचना शिकायतकर्ता को मंगलवार की सुबह सीएम हेल्प लाईन द्वारा दी गई।
हर मामले में गोलमाल
मुख्यमंत्री हेल्प लाईन के हालात जमीनी स्तर पर कितने बिगड़ चुके हैं, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि शिकायतकर्ता को जिस शिकायत के निराकरण की सूचना मुख्यमंत्री हेल्प लाईन द्वारा दी गई, जब शिकायतकर्ता ने मामले की पड़ताल की तो उसे लोक शिक्षण संचनालय म.प्र. की आयुक्त द्वारा 9 अगस्त को जारी सिंगल आदेश की जानकारी हुई, जिसमें कथित शिक्षक को जनपद शिक्षा केन्द्र पाली से हटाकर हॉयर सेकेण्ड्री स्कूल बिजौरी में पदस्थ कर दिया गया था। मजे की बात तो यह है कि जिस शिकायत पर लोक शिक्षण संचनालय द्वारा स्वमेव प्रशासनिक प्रक्रिया के तहत अगस्त माह में ही प्रतिनियुक्त को गलत मानते हुए शिक्षक का स्थानांतरण कर दिया गया था, उस मामले की मुख्यमंत्री हेल्प लाईन में जांच और निराकरण हवा में ही चल रहा था और जब स्थानांतरण के ढ़ाई माह बाद जांच कर्ताओं को पूर्व में ही कार्यवाही होने की जानकारी लगी तो उन्होंने खुद की पीठ थपथपाते हुए शिकायतकर्ता से शिकायत को बंद करने की गुजारिश की।
इधर कलेक्टर दे रहे प्रदेश में तीसरे नंबर पर आने की बधाई
सीएम हेल्पलाइन मे प्राप्त शिकायतो के निराकरण में उमरिया जिले को प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है। जिले को शासन द्वारा निर्धारित मापदण्डों के अनुरूप सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में 73.85 वेटेज अंक प्राप्त हुए है। जिसमें संतुष्टि के साथ बंद शिकायतों में 60 मे से 39.81, सौ दिवस से अधिक लंबित शिकायतों के निराकरण में 10 मे से 5.64 , निम्न गुणवत्ता के साथ बंद शिकायतों के वेटेज के रूप में 10 मे से 9.81 तथा नोट अटेण्डेंट शिकायतों के वेटेज में 20 मे से 18.59 अंक प्राप्त हुए है। इस तरह कुल 73.85 अंकों के साथ जिले को बी ग्रेड एवं तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है। कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने बताया 18 मार्च के बाद से जनसुनवाई में प्राप्त 2400 आवेदनो में से 50 प्रतिशत आवेदनों का निराकरण किया गया है। कलेक्टर ने जिले में पदस्थ सभी अधिकारियों एवं मैदानी अमले को बधाई देते हुए कहा है कि इस उपलब्धि के पश्चात हमारी जवाबदारी और अधिक बढ़ गई है अब हमें और अधिक मेहनत कर जिले को ए ग्रेड मे लाने तथा 90 प्रतिशत शिकायतों के निराकरण हेतु कार्य योजना बनाकर कार्य करने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed