4 करोड़ 16 लाख से अधिक के विकास कार्यों का खाद्य मंत्री किया ने भूमिपूजन एवं लोकार्पण

कोई भी पात्रताधारी खाद्यान से न हो वंचित : खाद्य मंत्री
सोन सभागार में आयोजित हुई संभागीय बैठक
4 करोड़ 16 लाख से अधिक के विकास कार्यों का किया भूमिपूजन एवं लोकार्पण
अनूपपुर।
कलेक्ट्रेट कार्यालय के सोन सभागार में आयोजित बैठक में खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने शहडोल संभाग में खाद्य वितरण प्रणाली की समीक्षा की। मंत्री श्री सिंह ने निर्देश दिए कि समस्त शासकीय उचित मूल्य की दुकानो का विभागीय अधिकारी नियमित रूप से निरीक्षण करते रहें। निरीक्षण के दौरान दुकानो के खुलने की अवधि एवं समय तथा खाद्यान्न के उठाव पर बारीकी से नजर रखी जाय। कोई भी पात्र हितलाभ से वंचित नही होना चाहिए। इस दौरान मंत्री श्री सिंह द्वारा कोरोना काल में केंद्र एवं राज्य शासन द्वारा चलाई जा रही विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की गयी। बैठक में कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मिलिंद नागदेवे, एसडीएम अनूपपुर कमलेश पुरी सहित शहडोल संभाग के जिला आपूर्ति नियंत्रक, जिला आपूर्ति अधिकारी, जिला प्रबंधक म.प्र. स्टेट सिविल सप्लाइज कार्पोरेशन, जिला प्रबंधक म.प्र. स्टेट वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन, नाप तौल निरीक्षक उपस्थित हैं।
80 प्रतिशत हितग्राही हो चुके लाभान्वित
जिला आपूर्ति नियंत्रक शहडोल ने जानकारी दी कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत शहडोल संभाग में पंजीकृत हितग्राहियों में से 80.62 प्रतिशत हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा चुका है। शहडोल जिले हेतु यह प्रतिशत 87.30 प्रतिशत, अनूपपुर हेतु 80 प्रतिशत एवं उमरिया हेतु 74.59 प्रतिशत है। माह जुलाई में नियमित खाद्यान्न आवंटन का प्रतिशत शहडोल, अनूपपुर एवं उमरिया जिले में क्रमश: 89.40, 77.78 एवं 100 प्रतिशत रहा। वहीं उठाव के सम्बंध में क्रमश: 84.46, 63.03 एवं 80.89 प्रतिशत रहा। अनूपपुर में उठाव के कम प्रतिशत के सम्बंध में अवगत कराया गया कि पुष्पराजगढ़ एवं जैतहरी में परिवहनकर्ता द्वारा खाद्यान्न का भंडारण सही समय से न किए जाने से वितरण प्रभावित हुआ है। जैतहरी की 2 एवं पुष्पराजगढ़ की 55 दुकानो में माह जुलाई का भंडारण अभी भी शेष है। जिस पर मंत्री श्री सिंह द्वारा कार्यवाही करने की बात कही गयी।
जिलेवार की गई समीक्षा

खाद्य मंत्री द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, चना एवं तुअर दाल का आवंटन एवं वितरण, प्रवासी मजदूरों को आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत खाद्यान्न वितरण, कोरोना संक्रमण काल में पात्रता पर्ची अप्राप्त परिवारों को खाद्यान्न आवंटन, बेघर बेसहारा लोगों को आवंटित खाद्यान्न वितरण की जिलेवार समीक्षा की गयी एवं निर्देश दिए गए कि किसी भी हालत में कोई भी भूखा नही रहना चाहिए।
सूची को अद्यतन करने की कार्यवाही
खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने निर्देश दिए कि सीईओ जनपद, सचिव, सरपंच एवं पटवारी का संयुक्त दल पात्रतापर्ची को दुरुस्त करने की कार्यवाही अनिवार्य रूप से अगस्त माह तक पूर्ण करें। अपात्र, विस्थापित अथवा मृत व्यक्तियों का नाम विलोपित कर पात्रों का नाम जोडऩे हेतु प्रस्ताव अग्रेषित करें, ताकि पात्रों को उचित लाभ मुहैया कराया जा सके। श्री सिंह ने कहा उक्त कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं उदासीनता बर्दाश्त नही की जाएगी। कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर को उक्त कार्य की प्रगति की नियमित रूप से समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं।
पूर्ण करें आधार सीडिंग का कार्य
केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना वन नेशन वन राशन कार्ड जिसके माध्यम से पात्र परिवार जो रोजगार की तलाश में अन्य जिले राज्य जाते हैं, उन्हें वहाँ भी उनके गृह ग्राम की पात्रतासूची के आधार पर खाद्यान्न का आवंटन हो सके, के क्रियान्वयन के लिए आधार सीडिंग का कार्य किया जाना है। जिस पर जिलाधिकारियों द्वारा कार्य को समयावधि में पूर्ण करने के लिए ऑपरेटेर की आवश्यकता मंत्री श्री सिंह के समक्ष रखी गयी, जिस पर उन्होंने प्रस्ताव भेजने के लिए कहा और आश्वस्त किया कि आवश्यक अनुमति प्रदान की जाएगी।
उपार्जन एवं भुगतान की समीक्षा की
खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने संभाग में खरीफ उपार्जन 2019-20, रबी उपार्जन 2020 की अद्यतन स्थिति, भुगतान आदि की समीक्षा की। श्री सिंह द्वारा आगामी खरीफ उपार्जन वर्ष 2020-21 की तैयारियों के सम्बंध में चर्चा कर आवश्यक व्यवस्थाओं हेतु निर्देश दिए गए।
आगामी उपार्जन में नही होगी वारदाने की समस्या
खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने बताया कि विगत उपार्जन वर्ष में वारदानो की उपलब्धता की समस्या के सम्बंध में आपने केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान से चर्चा की, जिस पर श्री पासवान द्वारा आश्वस्त किया गया है कि आगामी खरीफ वर्ष में मध्यप्रदेश को पर्याप्त मात्रा में वारदाना उपलब्ध कराया जाएगा, जिससे उपार्जन एवं परिवहन की प्रक्रिया सुचारु रूप से सम्पादित होगी।
खराब खाद्यान्न का नही हो पीडीएस प्रणाली से वितरण
खाद्य मंत्री ने वेयर हाउस में खाद्यान्न के सडऩे की खबर पर रोष व्यक्त किया और कहा कि किसी भी स्थिति में गुणवत्ताविहीन खाद्यान्न का वितरण हितग्राहियों को नही होना चाहिए। उठाव के समय सम्बंधित अधिकारी अनिवार्य रूप से गुणवत्ता की जाँच करें।
समय से होगी धान की मिलिंग
खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने जिलाधिकारियों द्वारा उल्लेखित धान की मिलिंग की समस्या पर संज्ञान लेते हुए कहा कि आगामी वर्ष में धान की सही समय में मिलिंग हो जाए ऐसी व्यवस्था की जाएगी।
शहडोल में बनेगा खाद बीज हेतु रेक पॉइंट
संभाग में खाद बीज की समय से उपलब्धता में आ रही परेशानियों पर संज्ञान लेते हुए मंत्री श्री सिंह ने कहा क्षेत्र में ही खाद बीज का रेक पॉइंट स्थापित किया जाएगा। जिस पर कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने बताया कि शहडोल जिला प्रशासन द्वारा रेक पॉइंट हेतु प्रस्ताव भेजा गया है। मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा प्रस्ताव पर प्राथमिकता के साथ कार्यवाही की जाकर शहडोल में यह सुविधा स्थापित की जाएगी, जिससे क्षेत्र को कटनी अथवा सतना पर आश्रित न होना पड़े।
मिलावट पर करें कड़ी कार्यवाही
खाद्य मंत्री श्री सिंह ने सभी संभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आगामी त्योहारों को दृष्टिगत रखते हुए मिठाई एवं अन्य खाद्य पदार्थों की दुकानो पर खाद्य गुणवत्ता की सघन जाँच करें। मिलावट पाए जाने पर कड़ी कार्यवाही करें।
कैरोसिन की माँग पर दें रिपोर्ट
खाद्य मंत्री द्वारा पेट्रोल एवं डीजल ईधनो की गुणवत्ता की जाँच हेतु विभागीय अधिकारियों को फ्यूल पम्प की जाँच के निर्देश दिए एवं विसंगति पाए जाने पर कड़ी कार्यवाही करने के लिए कहा है। इसके साथ ही आपने क्षेत्रवार केरोसिन तेल की माँग हेतु रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए ताकि आवश्यकतानुसार ही आवंटन उपलब्ध कराया जाये।
सिंचाई के साधन हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता – खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह
प्रदेश के हर एक ग्राम को चिकित्सा, शिक्षा, सिंचाई के साधन आदि विषयों में आत्मनिर्भर बनाने हेतु शासन द्वारा सतत रूप से प्रयास किए जा रहे हैं। आपने कहा हर एक नागरिक को विकास की मुख्यधारा में जोडऩे एवं देश को आत्मनिर्भर बनाने हेतु ग्रामीण अर्थव्यवस्था का सशक्त होना महत्वपूर्ण हैं। मंत्री बिसाहूलाल सिंह विभिन्न विकास कार्यों के भूमिपूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम में आमजनो को सम्बोधित कर रहे थे। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने गुरुवार को चचाई, मौहार टोला, केल्होरी, देवरी, खोली, पटनाकला एवं ग्राम डोंगरा टोला में 4 करोड़ 16 लाख 21 हजार लागत के विभिन्न विकास कार्यों का भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया।
श्री सिंह ने कहा सिंचाई के साधनो का विकास शासन की प्राथमिकता है। आपने बताया कि चोलना एवं धनपुरी जलाशय में सिंचाई कार्यों हेतु 13 करोड़ के सिंचाई कार्यों हेतु स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। आपने कहा हर एक ग्राम स्टॉप डैम, लिफ्ट इरीगेशन सुविधा के माध्यम से सिंचाई के साधन मुहैया कराने हेतु सर्वे कार्य प्रारम्भ हो चुका है। इस हेतु कृषि विभाग को आवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं। श्री सिंह ने बताया कि चचाई थर्मल पॉवर प्लांट में क्षमता विस्तार, 200 बेड जिला चिकित्सालय एवं ओवर ब्रिज कार्य हेतु आवश्यक स्वीकृतियाँ प्राप्त हो चुकी हैं। शीघ्र ही जिले में उक्त विकास कार्य एवं सुविधाएँ उपलब्ध होंगी।
इस दौरान स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं आमजनो की माँग पर खाद्य मंत्री श्री सिंह द्वारा सम्बंधित विभागीय अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए गए। कार्यक्रम में कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर, पुलिस अधीक्षक एम?एल?सोलंकी, समाजसेवी बृजेश गौतम, पूर्व विधायक कोतमा दिलीप जायसवाल, विंध्य विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष रामदास पुरी, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अनूपपुर ओम प्रकाश द्विवेदी, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष पसान रामअवध सिंह सहित विभागीय अधिकारी, स्थानीय जनप्रतिनिधि, मीडिया प्रतिनिधि एवं आमजन उपस्थित थे।
चचाई मौहार टोला में 1 करोड़ 1 लाख 81 हजार लागत की आवर्धन नल जल योजना, केल्होरी में 30 लाख लागत के उप स्वास्थ्य केंद्र का खाद्य मंत्री ने किया भूमिपूजन
खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री, मध्यप्रदेश शासन बिसाहूलाल सिंह ने चचाई मौहार टोला में 1 करोड़ 1 लाख 81 हजार लागत की आवर्धन नल जल योजना का भूमिपूजन किया। योजना के फलस्वरूप 6 माह के अंदर मौहार टोला के हर घर में नल जल की सुविधा प्राप्त होगी। इस दौरान श्री सिंह के द्वारा ग्राम केल्होरी में 30 लाख लागत के उप स्वास्थ्य केंद्र का भूमिपूजन किया गया। जिससे केल्होरी सहित नजदीकी ग्रामों के निवासियों को स्वास्थ्य सुविधाएँ प्राप्त होंगी। इसके साथ ही पीसीसी सड़कों कुल लागत 8 लाख 50 हजार का भूमिपूजन तथा यात्री प्रतीक्षालय चचाई बसस्टैंड लागत 3 लाख का लोकार्पण भी खाद्य मंत्री के द्वारा किया गया।
कार्यपालन यंत्री पीएचई संतोष साल्वे ने बताया कि आवर्धन नल जल योजना मौहार टोला के माध्यम से 545 परिवार लाभान्वित होंगे। योजनांतर्गत 03 नलकूप, उच्च स्तरीय पानी टंकी क्षमता 200 कि.ली., सम्पवेल क्षमता 25 कि.ली. एवं पाईप लाईन विस्तार 7 किमी का कार्य किया जाएगा। इसके साथ ही जल शुद्धिकरण हेतु नल जल योजना अंतर्गत क्लोरिनेशन प्लांट भी स्थापित किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी?डी? सोनवानी ने जानकारी दी कि उप स्वास्थ्य केंद्र केल्होरी का निर्माण कार्य 9 माह में पूर्ण कर दिया जाएगा। इस दौरान डॉ सोनवानी ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदान की जाने वाली स्वास्थ्य सेवाओं एवं योजनाओ की आमजनो को जानकारी दी।
ग्राम देवरी में आवर्धन नल जल योजना सहित 1 करोड़ 40 लाख से अधिक के विकास कार्यों की खाद्य मंत्री ने दी सौगात खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने ग्राम देवरी में 1 करोड़ 18 लाख 92 हजार लागत की आवर्धन नल जल योजना का भूमिपूजन किया। योजना के फलस्वरूप 6 माह के अंदर ग्राम देवरी के समस्त घरों में क्रियाशील नल जल की सुविधा मुहैया होगी। योजनांतर्गत 03 नलकूप, उच्च स्तरीय पानी टंकी क्षमता 175 कि.ली., सम्पवेल क्षमता 25 कि.ली. एवं पाईप लाईन विस्तार 10 किमी का कार्य किया जाएगा। इसके साथ ही श्री सिंह द्वारा पीसीसी सड़कों कुल लागत 18 लाख 62 हजार का भूमिपूजन तथा यात्री प्रतीक्षालय लागत 3 लाख का लोकार्पण किया गया। ग्राम पटनाकला में खाद्य मंत्री द्वारा 38 लाख लागत की गौशाला, पीसीसी सड़क लागत 3 लाख 7 हजार एवं चेक डैम लागत 29 लाख 88 हजार की सौगात दी गयी। ग्राम डोंगराटोला में 30 लाख लागत के उपस्वास्थ्य केंद्र के साथ चेक डैम लागत 15 लाख एवं पीसीसी सड़कों लागत 16 लाख 41 हजार के कार्यों का भूमिपूजन खाद्य मंत्री श्री सिंह द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *