ज्यादा कमाई की आड़ में पब्लिक की आवश्यकताओं की अनदेखी पंच परमेश्वर से आए पैसों से सचिव करा रहा बाउंड्री वाल का निर्माण

एक बार फिर सुर्ख़ियों मैं बना ग्राम पंचायत बरगवां जिला अनूपपुर जनपद पंचायत जैतहरी के ग्राम पंचायत बरगवां कोई न कोई विवाद लेकर आए दिन जिले के सुर्खियों में बना रहता है एक बार फिर यहां पर सरपंच सचिव द्वारा पंच परमेश्वर मद का सारे नियमों को तोड़ते हुए दुरुपयोग किया जा रहा है अभी ग्राम पंचायत बरगवां के वार्ड क्रमांक 8 पर जहां पर पंचायत भवन है वहां बाजार के नाम पर जमीन संरक्षित की गई है और लाखों रुपयों का बाजार का ठेका भी होता है यहां पर सरपंच सचिव द्वारा मनमानी तरीके से वृक्षारोपण व बाउंड्री वाल का 13 लाख रुपए का एस्टीमेट बना कर एक साथ बड़ी रकम कमाने के हिसाब से बाउंड्री वाल का निर्माण कर रहे हैं जबकि अभी बरसात में दर्जनों कच्चे मार्ग जो कि घुटने तक कीचड़ से पढ़े हुए हैं व सैकड़ों नालिया बनाने को रखे हुए हैं इन को छोड़कर अचानक इनको बाउंड्री वॉल की याद आ गई आदिवासी बहुल एरिया होने के कारण न बोल पाने के कारण सुनवाई नहीं होती ।
एक साथ बड़ी रकम कमाई के फेर में इनके द्वारा सारे नियमों की धज्जियां उड़ा दी गई है पंच परमेश्वर के गाइड लाइन के अनुसार पहले रोड नाली फर्शीकरण इन सब का निर्माण होना चाहिए ना की बाउंड्री वाल जब आपके पास अन्य रोड ना बचे हो तब आप बाउंड्री वाल का काम कर सकते हैं वह भी आंगनबाड़ी जैसे बाउंड्री वॉल का निर्माण कर सकते हैं लेकिन इनके द्वारा बाजार के लिए संरक्षित जमीन को उपयोग किया गया है अगर इनको निर्माण ही कराना था तो बाजार का सेट करा दिए होते लेकिन बाउंड्री वॉल में अच्छी खासी कमाई करने के लिए उसका निर्माण किया जा रहा है।

जनपद सीईओ मुख सहमति

जनपद सीईओ द्वारा बताया जा रहा है कि या निर्माण कार्य पंच परमेश्वर मत से किया जा रहा है जिस पर मैं कुछ नहीं कर सकता अगर यह मद जनपद द्वारा दी गई होती तो मैं कुछ कर पाता इसमें सरपंच को एकाधिकार है तो क्या इतना बड़ा भ्रष्टाचार करते हुए तेरा लाख रुपए की बाउंड्री वाल बनाना या उसकी शिकायत करने पर जनपद सीईओ का कोई भी एकाधिकार नहीं होता है क्या उनका अधिकार नहीं होता की बची हुई रोड नाली आदि को बनाने के लिए सरपंच को आदेश पारित करें क्षेत्र का भ्रमण करते हुए उनको देखना चाहिए कि कौन से कार्य जरूरी है मुक सहमति प्रदान कर ऐसा कह देना की पंच परमेश्वर मध्य में मेरा कोई एक अधिकार नहीं होता यह बात समझ से परे है या की एक मोटी रकम इनके द्वारा पहले ही प्राप्त की जा चुकी है नहीं तो बाजार जैसे क्षेत्र के लिए पंच परमेश्वर मदका दुरुपयोग करते हुए तकनीकी स्वीकृति जनपद से नहीं दिया गया होता

युवक बच्चे कर रहे विरोध

वार्ड के सारे बच्चे उक्त खाली स्थान पर खेलते है और उनके क्रीड़ा के क्षेत्र को बंद करने के कारण सरपंच सचिव की इस मनमानी का विरोध कर रहे है,

बाजार और छठ पूजा के स्थान को घेरने को लेकर विरोध

जिस स्थान को पंचायत के द्वारा बाऊंड्रीबाल से घेरा जा रहा है वह स्थान साप्ताहिक बाजार के लिए निश्चित किया गया है जिसकी नीलामी से पंचायत को लाखो रूपये का मुनाफा होता है और बाजार में सब्जी ठेले लगाने वाले कामगार भी पंचायत के इस निर्णय के खिलाफ उतर गए है,
पुरे क्षेत्र में छठ पूजा बड़े धूमधाम से मनाया जाता है तालाब को बॉउंड्री से घेरने से क्षेत्र के महिलाओ और पुरुषो का विरोध बढ़ता जा रहा है, ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *