आदेश के बाद जी मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ के बॉर्डर पर नहीं संचालित हुई चेकपोस्ट नाका

संतोष कुमार केवट
डोला- एक ओर जहां बढ़ते कोरोना बीमारी को देखते हुए देश के मुख्यमंत्री माननीय शिवराज सिंह द्वारा आदेश जारी किया गया कि मध्यप्रदेश से जुड़े बॉडर को सील किया जाए जिसमें महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ से जुड़ने वाले क्षेत्रों को जल्द ही सील करने के आदेश जारी किए गए वही  कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर ने जिले में कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए छत्तीसगढ़ से जिले में आने वाले यात्रियों की थर्मल जांच के लिए जिले की सीमा खूंटाटोला, रामनगर एवं यहां तक कि रेलवे स्टेशन पर चेकपोस्ट नाका बनाने के निर्देश दिए हैं कलेक्टर द्वारा यह निर्देश विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक में कोरोना संक्रमण के फैलाव की रोकथाम हेतु की गई तैयारियों की समीक्षा करते हुए दी गई हैं लेकिन वही अनूपपुर जिले के अंतिम छोर पर बसे रामनगर जहां आज दिनांक तक सुरक्षा के दृष्टिकोण से बॉर्डर पर चेकपोस्ट नाका लगाने की कोई प्रक्रिया नहीं की जा रही है और ना ही किसी प्रकार के आने जाने वाले वाहन व वाहनों में बैठे लोगों की जांच की जा रही हैं बिना रोकटोक के छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश में प्रवेश कर रहे लोग।
बढ़ती कोरोना की बीमारी को लेकर छत्तीसगढ़ प्रशासन हुआ सतर्क
छत्तीसगढ़ प्रशासन पुनः कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए कई जगह लॉकडाउन लगाते हुए  छत्तीसगढ़ व मध्यप्रदेश के मध्य स्थित घुटरीटोला बॉर्डर में नाका लगाने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की तरफ से डॉक्टर सुरभि श्रीवास्तव की 13 मार्च से पदस्थ प्रस्थापना बॉडर पर की गई जहां पर आने जाने वाले मरीजों को थर्मल स्कैनिंग कर आवागमन करने दिया जा रहा है साथ ही पुलिस विभाग व आबकारी विभाग के कई जवान भी छत्तीसगढ़ बॉर्डर पर मुस्तैद है घुटरीटोला में मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ की ओर जाने वाले वाहनों की जांच व व्यक्तियों के मास्क लगे होने के बावजूद ही छत्तीसगढ़ में आने जाने दिया जा रहा है वही आवागमन करने वाले वाहनो में बैठे समस्त यात्रियों को मास्क लगाकर ही आवागमन करने दिया जा रहा जबकि मध्यप्रदेश में इस प्रकार की कोई भी व्यवस्था नहीं है।
छत्तीसगढ़ से जिले में आने वाले यात्रियों की थर्मल जांच हेतु नहीं लगे चेकपोस्ट
अनूपपुर कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर द्वारा छत्तीसगढ़ से जिले में प्रवेश करने वाले यात्रियों की एन्ट्री करने एवं थर्मल जांच के लिए अनूपपुर की सीमा पर खूंटाटोला एवं रामनगर में चेकपोस्ट बनाकर वहां कर्मचारियों की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए जाने के बाद भी लोगों की सुरक्षा के लिए आज दिनांक तक कोई उपाय नहीं किया गया है   यहां तक की छत्तीसगढ़ के मनेंद्रगढ़ से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में लोगों का आवागमन बना रहता है जिसमें की क्षेत्र कि जनता मे भय का माहौल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *