लमतरा ओवरब्रिज का एक हिस्सा फिर हुआ डैमेज पुल की मिट्टी धसक जाने सें आवाजाही हुई बंद, कैमोर की तरफ वाले हिस्से की मिट्टी धशक गई , विधायक संदीप जयसवाल ने आला अधिकारियों के साथ किया ब्रिज का निरीक्षण,संबंधित एजेंसी पर कठोर कार्यवाही कर जल्द से जल्द निर्माण एवं सुधार कार्य प्रारंभ करने कें साथ-साथ आवागमन की व्यवस्था दुरुस्त करने के दिए निर्देश

लमतरा ओवरब्रिज का एक हिस्सा फिर हुआ डैमेज
पुल की मिट्टी धसक जाने सें आवाजाही हुई बंद, कैमोर की तरफ वाले हिस्से की मिट्टी धशक गई , विधायक संदीप जयसवाल ने आला अधिकारियों के साथ किया ब्रिज का निरीक्षण,संबंधित एजेंसी पर कठोर कार्यवाही कर जल्द से जल्द निर्माण एवं सुधार कार्य प्रारंभ करने कें साथ-साथ आवागमन की व्यवस्था दुरुस्त करने के दिए निर्देश

कटनी ॥ कटनी जिले के इंडस्ट्रियल एरिया में लमतरा फाटक के पास नेशनल हाइवे पर बने ओवर ब्रिज की दीवार फिर अचानक ढह गई जिसके बाद पूरा मलबा नीचे आ गया। कटनी शहर में बुधवार कों हो रही बारिश के चलते शहर व ग्रामीण इलाकों में जल भराव की स्थिति बनी हुई है। वहीं लमतरा फाटक के पास नेशनल हाइवे पर बने ओवर ब्रिज की दीवार अचानक ढह गई और चंद घंटो की इस बारिश से निर्माणाधीन पुल की हकीकत भी सामने आ गई।
इस संबन्ध में प्राप्त जानकारी कें अनुसार बुधवार देर शाम बारिश के बाद विजयराघवगढ़ मार्ग में स्थित लमतरा पुल में फिर से आवाजाही में ब्रेक लगा दिया! कैमोर की तरफ वाले हिस्से की मिट्टी धशक गई जिसके बाद दोनों तरफ से आवाजाही बंद हो गई है! जानकारी लगने पर कुठला पुलिस पहुंची गौरतलब है कि पिछली बार भी बारिश में भी यह पुल ढह गया था! 8 करोड रुपए की लागत से पुल में सुधार कार्य कराए हुए करीब 9 माह का ही समय हुआ है और फिर से राहगीरों के लिए यह पुल सिरदर्द बन गया है जबकि मरम्मत के समय पुल में आवाजाही बंद करते हुए कई मार्गों को डाइवर्ट भी किया गया था उस समय लोग यह सोचकर परेशानी सह ली थे कि आगामी समय में लोगों को राहत मिलेगी! उसकी मरम्मत के लिए यहां पूरा आवागमन डायवर्ट किया गया था !

विधायक ने आला अधिकारियों के साथ किया ब्रिज का निरीक्षण

मुड़वारा विधायक संदीप जयसवाल ने संबंधित विषय की जानकारी लगने के साथ लमतरा फाटक के क्षतिग्रस्त ओवर ब्रिज का निरीक्षण कलेक्टर एवं एसपी कटनी के साथ किया, इस अवसर पर एनएचएआई के अधिकारियों सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे संबंधित एजेंसी पर कठोर कार्यवाही एवं जल्द से जल्द निर्माण एवं सुधार कार्य प्रारंभ करने तथा तब तक स्थानापन्न मार्ग की मरम्मत करते हुए आवागमन की व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश भी दिए गए !

मेंटेनेंस गारंटी में अभी पुरानी एजेंसी की भोपाल स्तर पर की जाएगी कार्यवाही

पूर्व में यह मार्ग एवं ओवर ब्रिज एमपीआरडीसी द्वारा बनवाया गया था वर्तमान में एनएचएआई को दे दिया गया है लेकिन मेंटेनेंस गारंटी में अभी पुरानी एजेंसी ही काम करेगी लगातार एवं बार-बार क्षतिग्रस्त हो रहे हैं मार्ग एवं ओवर ब्रिज को ध्यान में रखते हुए 2019 एवं 20 में लगाए गए विधानसभा प्रश्नों एवं उन पर अधिकारियों द्वारा दिए गए जवाबों को ध्यान में रखते हुए संबंधित एजेंसी एवं अधिकारियों पर कठोर कार्यवाही की मांग की गई है एवं भोपाल स्तर पर भी कार्यवाही करने की मांग रखी जाएगी

समय से पहले तीन पुल हुए ध्वस्त-

जिले में अलग-अलग कारणों से डेढ़ वर्ष के अंतराल में तीन पुल समय से पहले ध्वस्त हो चुके हैं। सबसे पहला नंबर कटनी नदी में निर्माणाधीन पुल का आता है। यहां पर करीब डेढ़ वर्ष पहले जब पुल में स्लैब पड़ा। कुछ दिनों बाद दरार आ गई और पूरे स्लैब को ढहाना पड़ा। इसका फिर से निर्माण अब शुरू हो सका है। इसी तरह से दमोह रोड में भी नहर के ऊपर बनाई गई पुलिया ध्वस्त हो चुकी थी। आज तक डायवर्सन मार्ग का उपयोग किया जा रहा है। लमतरा का ओव्हर ब्रिज भी लापरवाही का भेंट चढ़ चुका है। जिसे नए सिरे से एमपीआरडीसी के अधिकारी ठेकेदार के माध्यम से बनवा रहे हैं। कटनी नदी पुल का निर्माण पिछले एक दशक से लटका पड़ा है। पुराना पुल वर्षों पहले क्षतिग्रस्त घोषित कर दिया गया है। प्रतिबंध के बाद भी पुराने  पुल से भारी वाहनों की आवाजाही जारी है।

रिपोर्ट :-दिलीप शुक्ला 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *