कार्यपालन यंत्री के खिलाफ आप ने खोला मोर्चा

जिला अध्यक्ष ने शुरू किया भूख हड़ताल

शहडोल।लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री एबी निगम के भ्रष्टाचारों का कच्चा चिटठा उजागर करते हुए आम आदमी पार्टी जिला अध्यक्ष संतोष चौबे ने श्री निगम के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। श्री चौबे ने प्रशासन को पूर्व सूचना देने के बाद अपने निर्धारित कार्यक्रम अनुसार जयस्तंभ चौक पर भूख हड़ताल शुरू कर दी है। ज्ञातव्य है कि उन्होने ३१ अक्टूबर को आयुक्त को ज्ञापन सौंप कर १० दिवस में कार्रवाई करने की मांग की थी। कार्रवाई नहीं होने पर भूख हड़ताल करने की जानकारी दी गई थी।  अनशन के दौरान इन बिन्दुओं पर मांग निराकरण की मांग की जा रही है। लो.स्वा.यांत्रिकी विभाग शहडोल के द्वारा ११ सूत्रीय मांग का निराकरण एंव कार्यवाही करते हुए कार्यपालन यंत्री ए.बी.निगम को शहडोल से अन्यंत्र स्थानांतरण किया जाये और उनके कार्यकाल की समस्त योजनाओं की जाँच कराई जाय। साथ ही उमरिया जिले में श्री निगम की पदस्थापना के दौरान किये गये अनिमितताओं की भी जाँच कराई जाये।
जनजाति कार्य विभाग जिला शहडोल अन्तर्गत आदिवासी छात्रावासों एवं आश्रमों में लगातार ५ से १० वर्षों से एक ही स्थान पर अधीक्षकों की पदस्थापना है एवं कुछ आदिवासी छात्रावासों में सामान्य अधीक्षक कार्यरत है। नियमानुसार तत्काल कार्यवाही की जाय। बुढ़ार जनपद पंचायत अन्तर्गत ग्राम पंचायत चकौडिय़ा के रोजगार सहायक के द्वारा जनहित में योजनाओं में भ्रष्टाचार की जॉच कराते हुए रोजगार सहायक को उस जगह से हटाया जाये एवं रोजगार सहायक द्वारा उपयोग किए गए कियोस्क बैंक के खातों की जांच कराई जाये। सोहागपुर थाना अन्तर्गत शासकीय आद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान रीवा रोड के पीछे ५ अक्टूबर २०२२ को घटित घटना सेप्टीकटेंक में आदिवासी बालक के गिर जाने व मृत्यु हो जाने की दशा की विधिवत जॉच एवं पीडि़त परिवार को सहायता राशि दिलाया जाये ।
यह कि खण्ड गोहपारू में ग्राम बेला, लोदी, कुदरी, एवं वि.खं. सोहागपुर की हरी मुख्यमंत्री योजनओं की रेटोफिटिंग योजनाएँ तैयार की गई थी। इसमें ग्राम बेला एवं हर्री में आरसीसी टंकी का निर्माण कराया गया है जो कि पूर्णत: गुणवत्ताविहीन है, यह इस कार्य का ९० प्रतिशत कार्य तत्कालीन सहायक यंत्री द्वारा उपरोक्त टंकियों का लगातार भ्रमण किया गया था एवं पाया गया था कि कराया गया कार्य पूरी तरह गुणवत्ताविहीन है एवं उपरोक्त दोनों टंकियों गुणवत्ता के संबंध में टीप तैयार कर तत्कालीन कार्यपालन यंत्री को कार्य निरस्त करने का अनुशंसा की थी। तैयार कर तत्कालीन कार्यपालन यंत्री को कार्य निरस्त करने की अनुशंसा की थी।  ए.बी.निगम द्वारा कार्यपालन यंत्री का प्रभार लेने एवं तत्कालीन सहायक यंत्री रीतिका गुप्ता एंव तत्कालीन उपयंत्री के स्थानांतरण पश्चात वि.खं. सोहागपुर में पदस्थ उपयत्री कु. गंगा सल्लंलाम से न केवल हर्री जो कि वि.खं. सोहागपुर में है, गुणवत्ताविहीन आरसीसी टंकियों का भुगतान बिना मौका मुआयना के कर दिया गया जबकि वि.खं. गोहपारू मुजाल्दे उपयंत्री के प्रभार में था। इस प्रकार ऐसा कार्य जिसे नियमित सहायक यंत्री करा कर प्रभारी सहायक यंत्री से सत्यापन करा कर भुगतान करा देना घोर अनियमितता की श्रेणी में आता है एवं इस कार्य में छिपे भ्रष्टाचार की बू आती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed