किल कोरोना अभियान के तहत 18 हजार घरों के लगभग 88 हजार व्यक्तियों की जाँच की गई

राकेश सिंह
भोपाल ।  जिला प्रशासन द्वारा गैस प्रभावित क्षेत्रों में *”किल कोरोना अभियान”* का 2 दिवस का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इस विशेष अभियान के प्रथम दिन 17 गैस पीड़ित वार्डों के लगभग 18 हजार घरों के करीब 88 हजार  व्यक्तियों की सर्वे, स्क्रीनिंग और जाँच की गई। इसके साथ ही कोरोना संक्रमित लक्षणों वाले 731 व्यक्तियों की चिकित्सकों द्वारा सैंपलिंग की भी कार्यवाही की गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी गैस राहत भोपाल ने बताया कि इस विशेष अभियान में गैस राहत क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा बुखार, सर्दी-खांसी, सांस लेने की तकलीफ सहित प्रारंभिक लक्षण सहित अन्य बीमारियों की जांच की जा रही है। इसके साथ ही व्यापक स्तर पर स्वास्थ्य परीक्षण कर गैस पीड़ित मरीजों से उनकी अन्य बीमारियों के संबंध में सवाल और जानकारी भी ली जा रही है।

उल्लेखनीय है कि किल कोरोना अभियान का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 1 जुलाई को किया गया है यह अभियान प्रदेश में 15 जुलाई तक चलेगा।  इसके अन्तर्गत गैस प्रभावित क्षेत्रों में 2 दिवस का मेगा सर्वे अभियान चलाया जा रहा है। इन दो दिनों में गैस पीड़ित वार्डों में आबादी का सर्वे किया जायेगा। सर्वे में सर्दी, खाँसी, बुखार के मरीजों की सार्थक एप में एंट्री कराई जाकर उसके बाद उन सभी की डॉक्टर के नेतृत्व में स्क्रीनिंग और जररूत होने पर सेम्पलिंग कराई जायेगी।

इसके अतिरिक्त इन सभी एरिया में मलेरिया की रेपिड जांच, डेंगू-लार्वा की जांच, सार्वजनिक स्थानों से पानी निकासी, मच्छर मारने की दवाई का छिड़काव किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त आम लोगों को इन एरिया में कोरोना के इस जंग में जागरूक करने का कार्य भी निरंतर किया जा रहा है।अभियान की शुरुआत में सर्वे के साथ सभी क्षेत्रों का सेनेटाइजेशन भी कराया गया। स्क्रीनिंग और सेम्पलिंग की टीम भी लगातार सार्थक लाइट एप पर डाटा के आधार पर कार्यवाही कर रही है।

मलेरिया जांच टीम बुखार वाले मरीजों के खून की जांच रेपिड किट से कर रही है। साथ ही दवाई का वितरण भी किया जा रहा है। नगर निगम का अमला खुले प्लॉटों से पानी निकासी और पानी में मच्छर मारने की दवाइयां डालने का काम कर रहा है। घरों में डेंगू के लार्वा की जांच भी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *