थाना रामनगर अंतर्गत सीता चौधरी हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार

गिरीश राठौर

अनूपपुर/ सूचनाकर्ता आकाश चौधरी पिता श्री रामजतन उम्र 19 वर्ष निवासी वार्ड नं0 01 विशेषर दफाई राजनगर द्वारा थाने में सूचना दी गई की उसके घर से 100 मी0 दूरी पर सीता चौधरी पति रामलाल चौधरी उम्र करीबन 50 वर्ष की अपने मकान में अकेली रहती थी जो फोन लगाने पर फोन नही उठा रही थी जिसे शाम 07.00 बजे जाकर देखा तो उसके घर का दरवाजा खुला था घर के अन्दर झांक कर देखा तो सीता बाई जमीन पर चित अवस्था में मरी पड़ी थी दुर्गन्ध आ रही थी तथा शरीर में कींडे, मक्खी लगे हुए थे, कि रिपोर्ट पर थाना रामनगर में मर्ग क्र0 34/22 धारा 174 जाफौ का कायम किया जाकर जांच में लिया गया, मर्ग जांच के दौरान मौके पर हत्या की आंशका होने से डाग स्काड, फिन्गर प्रिन्ट यूनिट व एफएसएल अधिकारी को बुलाया गया सभी विशेषज्ञ टीम के साथ मौके का निरीक्षण किया गया मृतिका अपने घर के अन्दर अर्धनग्न अवस्था में मृत पडी थी शव को देखकर तीन चार दिन पुरानी घटना होना प्रतीत हो रही थी साक्षियो की उपस्थिति में मृतिका के शव का पंचनामा कार्यवाही कर पीएम कराया गया प्रथम दृष्टया महिला की तीन चार दिन पूर्व हत्या होना प्रतीत हो रही थी मर्ग जांच व पीएम रिपोर्ट के आधार पर मृतिका की मृत्यु किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा गला घोंटकर हत्या करना पाया गया जिस पर थाना रामनगर में अपराध क्र0 322/22 धारा 302 ता.हि. का अपराध कायम किया जाकर विवेचना में लिया गया ।

अकेली महिला की हत्या की घटना होने से आस पास के क्षेत्र में सनसनी पैदा हो गई तथा आस पास के मोहल्ले में भय का वातावरण निर्मित हो गया था इन परिस्थितियो को ध्यान में रखते हुये पुलिस अधीक्षक महोदय अनूपपुर व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय अनूपपुर के द्वारा उक्त घटना व आरोपी की पतासाजी हेतु त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये, जिनके मार्ग दर्शन व एसडीओपी महोदय कोतमा के निर्देशन में घटना स्थल के आस पास के साक्षियो से पूछताछ, मृतिका की जीवन शैली, उसकी दिनचर्या, उसके आने जाने के समय व आने जाने के स्थान तथा उसके पूर्व विवाद, सम्पत्ति सम्बंधी विवाद, न्यायालय में चल रहे प्रकरणो, आस पास के सीसीटीव्ही कैमरो तथा उससे मिलने जुलने वाले लोगो जीवित अवस्था में अंतिम बार देखा जाना आदि का बारिकी से अध्ययन किया गया तथा सायबर सेल अनूपपुर से प्राप्त रिकार्ड के आधार पर सूक्ष्म विवेचना कार्यवाही की गई उक्त विवेचना कार्यवाही के निष्कर्ष के आधार पर दिनांक 21.08.22 को संदेही बाबू सेन पिता स्व0 लल्ला प्रसाद सेन उम्र 50 वर्ष निवासी सीधी दफाई राजनगर जिसका मृतिका सीता बाई के घर अक्सर आना जाना रहता था को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गई, जो संदेही के द्वारा उक्त घटना को कारित करना स्वीकार किया गया तथा घटना के सम्बंध में ज्ञात हुआ कि मृतिका सीता बाई अकेली रहती थी जो पति रामलाल चौधरी की दूसरी पत्नी थी जिसके पति की मृत्यु वर्ष 2015 मे हो गई थी तब से अकेली रह रही थी आरोपी बाबू सेन के विगत 02 वर्षो से मृतिका से सम्बंध थे तथा उसके घर दिन व रात में आना जाना होते रहता था, मृतिका को आरोपी पैसे व अन्य छोटी मोटी घरेलू चीजे आदि देता रहता था तथा उसके घर का काम कराता रहता था जिससे धीरे धीरे मृतिका की मांग बढने लगी, जिससे आरोपी परेशान होने लगा आरोपी महिला के साथ लगातार शराब पीता था व उसके घर आता जाता रहता था घटना दिनांक 14.08.22 को रात्रि के समय आरोपी मृतिका के घर गया दोनो नें साथ मे शराब पी, मृतिका आरोपी बाबू सेन को उसके घर जाने नही दे रही थी तथा उससे उसकी और जरूरते पूरी करने, घर बनाने, सीट रिपेयर कराने की मांग पर अड गई थी जिससे परेशान होकर आरोपी नें मृतिका की गला दबाकर हत्या कर दी व वहा से सुनसान रास्ते से वापस घर चला गया । प्रकरण की विवेचना में घटना स्थल व आरोपी के कब्जे से आवश्यक वस्तुए जप्त कर जांच हेतु भेजी जा रही है तथा प्रकरण के आरोपी बाबू सेन पिता स्व0 लल्ला प्रसाद सेन उम्र 50 वर्ष निवासी सीधी दफाई राजनगर को दिनांक 21.08.22 को गिरफ्तार कर दिनांक 22.08.22 को माननीय न्यायालय पेश किया गया है ।

उक्त कार्यवाही पुलिस अधीक्षक महोदय अनूपपुर एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय अनूपपुर के कुशल मार्गदर्शन एवं एसडीओपी महोदय कोतमा के निर्देशन में थाना प्रभारी रामनगर निरी0 आर0के0 बैस के नेतृत्व में उपनिरी0 श्यामलाल मरावी, प्रआर0 84 सनत कुमार द्विवेदी, प्रआर0 122 संजीव त्रिपाठी, प्रआर0 31 निरंजन खलखो, आर0 464 विनोद मरावी, आर0 431 कपिलदेव चक्रवर्ती, आर0 347 अंशू कुमार, आर0 268 अमित पटेल, आर0 309 राहुल प्रजापति, चालक आर0 262 रिन्कू गोले व सायबर सेल आर0 राजेन्द्र अहिरवार द्वारा कार्यवाही की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed