अपर कलेक्टर ने विसर्जन स्थल का किया निरीक्षण

न दी जाये श्रद्धालुओं को नदी में उतरकर मूर्ति विसर्जन करने अनुमति

शहडोल। अनंत चतुर्थी पर गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन जिला प्रशासन द्वारा चिन्हित विभिन्न स्थानों में किया जा रहा है। इसी तारतम्य में अपर कलेक्टर अर्पित वर्मा ने जिले के सोन नदी घाट में बनाए गए विसर्जन स्थल का अवलोकन किया। निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान पूरी सावधानियां बरती जाएं तथा नदी अपने सामान्य स्थिति से ऊपर है, जिस कारण से किसी भी श्रद्धालु को नदी में उतरने एवं नावों से मूर्ति विसर्जन करने की अनुमति नहीं दी जाए।
अपर कलेक्टर ने कहा कि गणेश प्रतिमाओं को जिला प्रशासन द्वारा बनाए गए कृत्रिम विसर्जन स्थल में ही मूर्ति का विसर्जित कराया जाए तथा गणेश प्रतिमा विसर्जित करने के पूर्व पानी में अघुलनशील प्लास्टिक एवं अन्य तत्वों को हटा दिया जाए, जिससे विसर्जन करने के बाद वे अघुलनशील वस्तुएं मछली व अन्य जीवो के मौत का कारण न बने तथा जल साफ एवं सुथरा रहे एवं पर्यावरण को संरक्षित किया जा सके।
निरीक्षण के दौरान अपर कलेक्टर ने अधिकारियों का निर्देशित किया कि गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का भी पालन कराया जाए, जिससे कोरोना संक्रमण का प्रसार न हो पाए। अपर कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सूर्यास्त के बाद किन्ही भी श्रद्धालुओं को विसर्जन की अनुमति नहीं दिया जाए। सूर्यास्त के बाद मूर्ति जो भी श्रद्धालु गणेश प्रतिमा विसर्जित करने आते है, उन श्रद्धालुगण को अगले दिवस मूर्ति विसर्जन करने की समझाइश दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *