मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्य प्रदेश छवि भारद्वाज कें द्वारा जारी पत्र कें बाद जिलाचिकित्सालय कें अधिकारियों में हड़कंप , 3 दिनों के अंदर मांगा जवाब

मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्य प्रदेश छवि भारद्वाज कें द्वारा जारी पत्र कें बाद जिलाचिकित्सालय कें अधिकारियों में हड़कंप , 3 दिनों के अंदर मांगा जवाब

 

कटनी ॥ भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के द्वारा वर्ष 2005 में जननी सुरक्षा योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना के तहत महिलाओं को संस्थागत जिला चिकित्सालय में प्रसूति कराने के लिए 1400 रुपए की आर्थिक सहायता की जाती है। पहले यह राशि चेक के माध्यम से दी जाती दी थी, लेकिन अब प्रसूताओं के बैंक खाते में ये सहायता राशि दी जाती है। जब से बैंक खाते में सहायता राशि दी जाने लगी है, लोगों की परेशानियां बढ़ गयी हैं। बैंक में खाता खोलने के लिए पहचान की भी जरूरत पड़ती है। कुछ का तो पहचान पत्र आसानी से मिल जाता है पर कुछ कें पास समग्र आईडी ना होने कें कारण परेशानियों का सामना करना पड़ता है़ जिसके बाद जिला चिकित्सालय की परेशानी बढ़ गई है़ !  मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्य प्रदेश छवि भारद्वाज ने जिला चिकित्सालय कटनी को एक पत्र प्रेषित किया है जिसमें की योजनाओं के बेहतर के क्रियान्वयन ना होने का कारण स्पष्ट किया गया है वही कार्रवाई ना होने पर जारी पत्र में सेवा समाप्ति का भी उल्लेख किया गया है! जिसके बाद से  जिला चिकित्सालय के अधिकारियों में हड़कंप की स्थिति निर्मित है जानकारी के अनुसार जननी सुरक्षा योजना एवं प्रसूति योजना के लंबित प्रकरणों के कारण कटनी जिले के सभी विकास खंडों में हितग्राही मूलक योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन होने के कारण मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्य प्रदेश छवि भरद्वाज के द्वारा कटनी जिला चिकित्सालय के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही सहित राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के मानव संसाधन मैनुअल 2018 की धारा 11 एवं 16, 3 कें तहत कारण बताओ पत्र जारी किया गया है ! संबंधित अधिकारी के द्वारा  तीन दिवस के अंदर कार्यवाही ना करने पर एवं कारण बताओ नोटिस का जवाब ना देने पर सेवा समाप्ति के आदेश भी मिशन संचालक राष्ट्रिय स्वास्थ मिशन मध्यप्रदेश छवि भारद्वाज कें द्वारा जारी कर दिए गए हैं !  जिसमें 3 दिवस के अंदर  कारवाई ना कि जाने पर संबंधित के विरुद्ध सेवा समाप्ति के दंड से दंडित करने संबंधी करवाई की जाएगी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *