भू-माफिया के विरुद्ध जिले में शुक्रवार को की गई एक के बाद एक बड़ी कार्यवाही, विभिन्न क्षेत्रों में अवैध अतिक्रमण कर किये गये निर्माण को किया ध्वस्त, करोड़ो की शासकीय भूमि से हटाया कब्जा

 

कटनी!  प्रदेशभर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर माफियाओं के विरुद्ध सतत् अभियान चलाकर कार्यवाही की जा रही है। साथ ही उनके विरुद्ध सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही भी की जा रही है। इसी क्रम में शुक्रवार को जिले के जिले के विभिन्न स्थलों पर शासकीय भूमि को भू-माफियाओं के कब्जे से मुक्त कराया गया है। इस कार्यवाही में नगर निगम क्षेत्र की बेशकीमती भूमि पर भू-माफिया के कब्जे पर प्रशासन का बुलडोजर चलाकर उस पर किये गये अवैध निर्माण को भी जमींदोज किया गया है। जिले में शुक्रवार को कलेक्टर प्रियंक मिश्रा के निर्देशन में भू-माफियाओं के विरुद्ध एक के बाद एक चार बड़ी कार्यवाहियों को अंजाम दिया गया है। जिसमें राजस्व, पुलिस और नगर निगम विभाग द्वारा संयुक्त रुप से कार्यवाही कर अलग-अलग स्थानों में शासकीय भूमि को अतिक्रमण से मुक्त कराया गया है। 29 जनवरी को विशेष अभियान एसडीएम बलबीर रमन और सीएसपी शशिकांत शुक्ला के नेतृत्व में भू-माफिया के विरुद्ध संचालित किया गया। इस दौरान तहसीलदार मुनौव्वर खान, संदीप श्रीवास्तव, कोतवाली टीआई विजय विश्वकर्मा, कुठला टीआई विपिन सिंह सहित थानों का पुलिस बल, नगर निगम का अमला भी मौजूद रहा।एसडीएम कटनी बलबीर रमन ने बताया कि शुक्रवार को संयुक्त दल द्वारा कोतवाली थाना अन्तर्गत मुख्य रेल्वे स्टेशन के समीप स्थित सराय मोहल्ले में शासकीय भूमि पर किये गये अवैध अतिक्रमण को हटाने की कार्यवाही की गई है। जहां पर 28 अपराधियों मकान तोड़े गये हैं। इसके पूर्व गुरुवार को राजस्व और पुलिस की टीम ने कोढ़ी मोहल्ले में अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही के संबंध में संबंधित अतिक्रमणकारियों को अवगत कराया था। जिसके बाद शुक्रवार को संयुक्त दल द्वारा अवैध अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की गई है। इसी प्रकार कुठला थाना क्षेत्र अन्तर्गत मुख्य मार्ग के किनारे किये गये बेशमीकती शासकीय भूमि पर अवैध कब्जे और निर्माण को ध्वस्त कर हटाया गया है। मुख्य मार्ग के किनारे अवैध रुप से मुकेश मिश्रा द्वारा मिश्रा ढ़ाबे का संचालन आधा एकड़ शासकीय भूमि पर किया जा रहा था, जिसे आज संयुक्त दल द्वारा हटाया गया है। इस भूमि की शासकीय कीमत लगभग एक करोड़ 16  लाख रुपये है। ग्राम चाका बायपास के पास ग्राम पंचायत की भूमि पर भी अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही प्रशासनिक अमले द्वारा की गई है। जिसमें दिलीप परौहा द्वारा डेढ़ एकड़ भूमि पर ढ़ाबा बनाकर अतिक्रमण किया गया था। जिसे हटाते हुये 40 लाख रुपये कीमत की शासकीय भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया गया है। इसी तरह इन्द्रानगर मण्डी के पास भी 1100 वर्ग फीट भूमि को भी अतिक्रमणकारियों के कब्जे से मुक्त कराया गया है। यहां पर रेखा कोरी की 1100 वर्गफीट भूमि पर नीलकंठ शिवहरे के द्वारा कब्जा किया गया था। वरिष्ठ न्यायालयों के आदेश के पालन में भूमिस्वामी को कब्जा दिलाया गया है। शुक्रवार को की गई इस संयुक्त कार्यवाही में करोड़ा रुपये की शासकीय भूमि अतिक्रमणकारियों के कब्जे से मुक्त कराई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *