अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर भारत विकास परिषद का जागरूकता कार्यक्रम


शहडोल। अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने का उद्देश्य है कि बालिकाओं द्वारा उनके जीवन में आने वाली चुनौतियों को उजागर करना तथा उनकी आश्यकताओं को पहचानना है। साथ ही बालिकाओं के सशक्तिकरण को बढ़ावा देना है और उनके मानवाधिकारों की पूर्ति में मदद करना शामिल है। इस उद्देश्य केे साथ भारत विकास परिषद द्वारा ग्राम जमुआ में बालिकाओं को लोहे की कढ़ाई एवं आयरन की कुछ दवाइयां, त्रिकूट चूर्ण वितरित किया गया साथ ही एनीमिया मुक्त भारत को ध्यान में रखते हुए भारत विकास परिषद द्वारा यह कार्यक्रम ग्राम जमुआ में अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर किया गया।

बालिकाओं के है विशेष अधिकार
परिषद के अध्यक्ष द्वारा बताया गया कि लड़कियों को शिक्षा, पोषण, कानूनी अधिकार और चिकित्सा जैसे अधिकारों से वंचित रखा जाने लगा। लेकिन अब इस आधुनिक युग में लड़कियों को उनके अधिकार देने और उनके प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए ढेरों प्रयास किये जा रहे हैं। देश विदेश के साथ ही भारत सरकार भी इस दिशा में काम कर रही है और कई योजनायें लागू कर रही है।

इनकी रही उपस्थिति
कार्यक्रम में उपस्थित परिषद अध्यक्ष आनंद सिंह ,सचिव प्रदीप गुप्ता, क्षेत्रीय महिला प्रमुख श्रीमती मेघा पवार, श्रीमती इंदिरा श्रीवास्तव, आलोक खोडियार, जितेंद्र तिवारी, डॉक्टर संध्या तिवारी (बी.एम.एस.) सहित अन्य लोग उपस्थित रहे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *