बब्बू और लालू कर रहे जुआ फड का संचालन, वर्दी पोश के सह में संचालित हो रहा जुआ का फड

शुभम कोरी-7898119734

म.प्र. और छ.ग. की सीमा में इन दिनों सबसे बडे जुए का फड का संचालन किया जा रहा है, लगभग दो महीनो से लाखों रूपए प्रतिदिन इस अवैध फड में जुआरियों द्वारा कारोबार किया जा रहा है, इतना ही नही कोयलांचल नगरी कोतमा, बिजुरी और भालूमाडा को छोड वेंकटनगर में चल रहे जुए का फड सबसे आगे निकल गया है, जहां दर्जनों खिलाडी प्रतिदिन अपनी उपस्थिति देकर लाखों का गेम खेल रहे है।

अनूपपुर। जिले के अंतिम छोर पर स्थित वेंकटनगर में इन दिनों अंतर्राज्यीय जुए फड का संचालन किया जा रहा है, जिसमे हर रोज लाखो के दावँ लग रहे है, ऐसा नही है कि इसकी भनक पुलिस और स्थानीय जनप्रतिनिधियों को न हो, लोगो का कहना है कि पुलिस और कुछ सत्ताधारी दल के कार्यकर्ता की मिलीभगत से ही इतने बडे अंतर्राज्यीय जुएं फड का संचालन किया जा रहा है। वेंकटनगर के कुप घाट के जंगल में दोपहर 3 बजे से रात्रि 12 बजे तक जुआरियों को ठिकाना रहता है, जगह बदल-बदल कर कमदसरा और नदियो के घाटो को स्थान बनाकर ये जुआरी रोजाना अपने फड का संचालन करते है।
रोजाना लग रहे लाखों के दाव
वेंकटनगर में जिस अंतर्राज्यीय जुए फड का संचालन हो रहा है, उसमें हर दिन लाखो रुपए का दांव खिलाडियों द्वारा लगाया जा रहा, जिसमें कई सारे युवा वर्ग इसमे अपनी किस्मत आजमा रहे है, जिसके कारण कई घर बर्बाद हो रहे है। यह फड हर दिन के लगभग 3 बजे से शुरू होकर देर रात तक चलता है। दो प्रदेशों से पहुंचने वाले जुआरी यहां आकर ग्रामीणों के साथ अन्य छोटे जुआरियों को निशाना बनाकर चले जाते है, बडे-बडे खिलाडियों के आगे लोग समझ भी पाते है और बाकायादा संचालक के द्वारा सभी से नाल लेकर दांव खिलाया जा रहा है।
इन जगहों से आते है खिलाडी
इस अंतर्राज्यीय जुएं फड में कई सारे युवा खिलाडी अपनी-अपनी किस्मत आजमा रहे है, जो अलग अलग जगहों से हर रोज आ रहे है, जिसमे प्रमुख रूप से वेंकटनगर तथा आसपास के गांव लपटा, खूंटाटोला, चोलना के साथ अनूपपुर, जैतहरी, मेडियारास, चचाई, अमलाई, कोतमा, भालूमाडा तथा छत्तीसगढ राज्य के मरवाही, गौरेला-पेंड्रा के साथ ही आसपास के गांव के युवा शामिल है।
पुलिस दे रही आसरा
वेंकटनगर में संचालित जुएं फड के संचालन की खबर ऐसा नही की पुलिस चौकी वेंकटनगर को न हो, पर फड संचालक ने खाकी और खादी दोनो को मैनेज कर अंतर्राज्यीय फड को संचालित किया जा रहा है। सूत्र बताते है कि चौकी के कुछ सिपाही भी जुआरियों के सूचनातंत्र बने हुए है, जिसके कारण इनके हौसले और भी बुलंद है।
यह है जुआ फड के संचालक
वर्षो से जुए की लत में डूब चुके वेंकटनगर के ही लोग इसका संचालन कर रहे है, जिनमें से बब्बू और लालू का लीड रोल इस अवैध खेल में है, उन्होने अपने गुर्गो के माध्यम से ठिकाने तक जुआरियों को पहुंचाने के लिए तैनात कर रखे है, जहां इनके गुर्गे शराब, सिगरेट के साथ अन्य आर्थिक व्यवस्थाओं की सुविधा मुहैया कराते है, इतना ही नही अगर किसी को फड संचालन के दौरान पैसों की आवश्यकता होती है तो वहा साहूकार भी बैठे रहते है जो व्याज में जुआरियों को पैसे बांट कर उनसे वसूली भी की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed