पुलिस पकड़ से दूर बिग बैस के सट्टोरिये 

(शुभम तिवारी)
शहडोल। मकान में बैठकर मोबाइल फोन को एक साथ एक डिब्बा बॉक्स जोड़कर बिग बैस मैच पर काफी लोगों की नगदी लगवाकर ऑनलाईन सट्टा जिला मुख्यालय के बुढ़ार चौक से अवैध कारोबार को अंजाम दिया जा रहा है, अवैध जुआ, सट्टा खाईवाली व नशा तस्करी की वारदातों पर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में अभियान चलाकर कार्यवाही की जा रही है, लेकिन जिला मुख्यालय में आईपीएल की ही तर्ज पर नये सट्टोरियों द्वारा बिग बैस में लोगों की जमा पूंजी को हजम करने का नया तरीका इजाद कर लिया है।
ऐसे होता है खेल
युवको ने उक्त सभी मोबाइल फोन को एक साथ एक डिब्बा बॉक्स पर लगाकर एक केबल के साथ सभी मोबाइल फोन को लैपटॉप के साथ जोड़ा जाता है, मोबाइल फोन पर अलग-अलग नंबर की पर्ची लगी हुई होती है, लोगों को फोन कर अपनी  लाइन को सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होने की झूठी बात बोलकर उनसे बिग बैस पर नकदी लगवाकर ऑनलाईन सट्टा खाईवाली किया जा रहा है, चर्चा है कि सभी को कमीशन लेकर लाईनें भी दे रहे है।
डिजीटल टैक्रोलॉजी का उपयोग
3 युवकों द्वारा डिजीटिल टैक्रोलॉजी का पूरा फायदा उठाते हुए लोगों से ठगी को खेल फिर शुरू हो चुका है, जानकारों का कहना है कि इन लोगों द्वारा जो सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जा रहा है, वहां कहां से लाया है, यह भी जांच का विषय है। हर मैच और हर गेंद पर बुकिंग ली जा रही है। हालांकि सटोरिए भी पुलिस की पकड़ में आने से बचने के लिए हाईटेक तरीके से सट्टेबाजों से बुकिंग ले रहे हैं। इसके लिए मोबाइल में व्हाट्सअप का इस्तेमाल किया जा रहा है। बुकिंग के लिए कोड तय रहता है। उसके अनुसार पूरे मैच के दौरान दांव लगता है। सटोरियों द्वारा सट्टेबाजों से एडवांस में रकम ले लिया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *