BIG BREAKING…आशिक ही निकला सपना का हत्यारा

दुष्कर्म करने के बाद चाकुओं से गोदा

(सीताराम पटेल+9977922638)
अनूपपुर। बीते सप्ताह शहडोल जिले के अमलाई थाना अंतर्गत 3 नंबर धनपुरी में रहने वाली सपना मिश्रा नामक महिला के अंधेहत्या काण्ड की गुत्थी चचाई पुलिस ने सुलझा ली है, बीते कई वर्षाे से सपना का आषिक रहा, चचाई थाना के देवहरा चैकी अंतर्गत रहने वाला जगदीष गोड़ के बीते कुछ वर्षाे से सपना के साथ अनैतिक संबंध थे, सपना बीते कुछ माहों से जगदीष को दोनों के संबंधों का खुलासा करने और बदनाम करने की धमकी देकर ब्लैकमेल कर रही थी, राज मिस्त्री का काम कर अपना जीवनयापन करने वाले जगदीष गोड़ आये दिन की इस धमकी से परेषान हो चुका था, घटना के कुछ दिन पहले से सपना जगदीष से 50 हजार रूपये की मांग कर रही थी, जिससे वह मानसिक रूप से काफी परेषान था। घटना की शाम जगदीष धनपुरी नंबर 3 स्थित सपना के घर के पास पहुंचा और रूपयों के लिए उसने बुढ़ार के सरईकांपा में रहने वाले अपने मित्र के यहां चलकर उससे रूपये दिलाने की बात कही, जगदीष और सपना षाम करीब 6 बजे सरईकांपा पहुंचे, लेकिन उसका मित्र नहीं मिला तो फिर दोनों वहां से बेम्हौरी मार्ग की ओर चल दिये, इसी बीच उन्होंने जमकर षराब भी पी और दोबार अलग-अलग स्थानों पर षारीरिक रिष्ते भी बनाये।
दूसरी बार जब इन दोनों के बीच रिष्ते बने इसी दौरान सपना फिर रूपयों की मांग करने लगी, इसके बाद जगदीष ने अपने पास रखे चाकू से उस पर कई वार किये और उसे मौत के घाट उतार दिया।
पहले ही रचा था प्लान
दरअसल आये दिन सपना से मिल रही धमकियों से जगदीष परेषान हो चुका था और घटना वाले दिन उसने सुबह ही उसे मारने का मन बना लिया था और वह घर से ही चाकू लेकर निकला था। रात करीब 10 से 11 बजे के बीच सपना से संबंध बनाने के बाद उसकी हत्या कर दी और घर आकर खून से सने कपड़े उतारे जिसे जांच के दौरान पुलिस ने जप्त भी किये, जगदीष अगले दिन सुबह घर से भाग गया और लालपुर स्थित किसी रिष्तेदार के यहां जाकर रहने लगा, लेकिन पुलिस अधीक्षक अनूपपुर जे.एस.राजपूत के निर्देषन में थाना प्रभारी चचाई अरविंद साहू व उनकी टीम ने अपनी सूझबूझ से अंधे हत्याकाण्ड से पर्दा उठा दिया।
एक काॅल बनी जगदीष का काल
घटना के अगले दिन सुबह जब ग्रामीणों ने जब नग्न अवस्था में महिला की लाष को देखा तो इस खबर ने धनपुरी और चचाई थाना प्रभारियों के कान खड़े कर दिये, पहले मामला सीमा विवाद में उलझा, लेकिन बाद में चचाई पुलिस ने कार्यवाही षुरू की, दो से तीन दिन तक चचाई पुलिस काॅल डिटेल और अन्य मुखबिरों की सूचना पर भटकती रही, लेकिन मृतिका के मोबाइल से हत्यारे के मित्र द्वारा सरईकांपा में किये गये एक काॅल ने पुलिस को ऐसा बिन्दु दे दिया, जिसे पकड़कर पुलिस ने पूरे हत्याकाण्ड से पर्दा उठा दिया। दरअसल जब जगदीष सपना को लेकर सरईकांपा मित्र के घर पहुंचा था तो उसके न होने पर सपना के फोन से अपने मित्र को काॅल किया था, पुलिस ने जब काॅल डिटेल निकाली तो घटना की षाम 6 बजकर 3 मिनट पर सपना के मोबाइल से किये गये काॅल नंबर को खंगालना षुरू किया, इस मामले में सरईकांपा में रहने वाले कथित मित्र की 14 वर्षीय बच्ची ने पुलिस को बताया कि मृतिका जगदीष के साथ यहां आई थी और पिता के यहां पर होने के बाद दोनों यहां से चले गये थे और बाद में उसने घटना को अंजाम दे दिया।

सपना मर्डर मिस्ट्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed