बड़ी खबर…थोक में पकड़े गये हिस्ट्रीशीटर

कट्टा कारतूस सहित असलहा जब्त

(हलचल टीम)

शहडोल। पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने जिले में अपनी पदस्थापना के साथ ही इस संबंध में अपनी प्रतिबद्धता एवं प्राथमिकता स्पष्ट कर दी थी कि पुलिसिंग के व्यावसायिक आयामों के संबंध में किसी प्रकार की कोई कोताही नहीं बर्दाश्त होगी आम जनता को एक सुरक्षित एवं अपराध मुक्त जीवन देना पुलिस की सर्वोपरि प्राथमिकता होगी, विगत माह जिले में पुलिस द्वारा नशे के विरुद्ध व्यापक रणनीति के साथ एक विशेष अभियान चलाते हुए बड़ी कार्यवाहियां की गई। मादक पदार्थ जैसे गांजा, नशीली दवाइयां, इंजेक्शन, कफ सिरप आदि के न केवल स्थानीय विक्रेताओं को रडार पर लिया गया, बल्कि पूरे नेटवर्क को उसकी संपूर्णता में समझ कर उसे ध्वस्त करने की दिशा में सुव्यवस्थित प्रयास किया जाता रहा है। इसी कम में पुलिस अधीक्षक द्वारा अपराध एवं अपराधी जगत की समसामयिक सूचनाओं को एकत्रित करते हुए एक समग्र कार्य योजना के तहत ऐसे अपराधियों को चिनिह्त किया गया। जिनके बारे में आम जन को असुरक्षित बनाने की दिशा में व्यक्तिगत रूप से अथवा संगठित तौर पर सकिय होने की खबर आ रही थी।
ताबड़तोड़ दबिश


पुलिस को विगत दिवस सूचना मिली कि कुछ जघन्य अपराधी हवियारों से लैस होकर किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने वाले हैं। संभाग का बड़ा हथियार तस्कर ललवा कचेर इसी वारदात के लिए अपराधियों को हथियार सप्लाई करने के लिए आने वाला है और कुछ अपराधी बाहर के जिलों से अपने साथ लाएगा। पुलिस द्वारा पूरी सतर्कता बरतते हुए जिले की सभी टीमों को अलर्ट कर दिया गया। पुलिस द्वारा की गई ताबड़तोड़ दबिश देकर में थाना सोहागपुर, बुढार व कोतवाली ने कई अपराधी हथियारों सहित गिरफ्तार किये गए हैं।

 

इनके विरूद्ध दर्ज हुआ मामला
थाना सोहागपुर पंप पर डकैती की योजना बनाते हुए कुल 07 अपराधियों के खिलाफ थारा 399, 102, 307 भादवि तथा 25/27 आम्स्स एक्ट के तहत कार्यवाही की गई है, जिनमें आरोपीगण ललवा कचेर उर्फ विजय सिंह तोमर पिता बुद्धसेन तोमर उम्र 60 वर्ष निवासी नागीद सतना, सद्दाम अली पिता अब्बुल रहमान उम्र 25 वर्ष निवासी पुट्टीवाड़ा शहडोल, प्रतीक सिंह पिता कृष्ण कुमार सिंह बधेल उम्रं 25 वर्ष निवासी घरौला मोहल्ला शहडोल, घनश्याम तोमर पिता स्व. मोतीलाल तोमर उम्र 34 वर्ष निवासी वार्ड नं 6 शांतिमार्ग थाना कोतवाली जिला उमरिया, सूर्यकांत पिता गुड्डा वर्मा 34 वर्ष निवासी लालपुर थाना बुढ़ार, आरजू खान पिता मोहम्मद आजाद उम्र 26 वर्ष निवासी सिंहपुर रोड शहडोल, सोनू साहू पिता राजकुमार साहू उम्र 24 वर्ष निवासी घरौला मोहल्ला शहडोल कुल 07 नफर के विरूद्ध पंजीबद्ध किया गया है।


डकैती की थी तैयारी
पुलिस ने बताया कि आरोपी आरजू खान व सोनू साहू कार्यवाही के समय पुलिस पर कट्टे से फायर करते फरार होने में सफल हो गया, ललवा कचेर के कब्जे से 01 पिस्टल 7.65 एमएम बोर की एवं 03 कारतूस, सद्दाम अली के कब्जे से
01 पिस्टल 7.65 एमएम बोर की एवं 02 कारतूस, प्रतीक सिंह के कब्जे से एक बटनदार चाकू तथा घनश्याम के कब्जे से एक बटनदार चाकू एवं सूर्यकांत पिता गुड्डा वर्मा के कब्े से 01 देशी कट्टा 315 बोर व 02 जिंदा कारतूस बरामद होने पर जप्त किया गया है मीके पर खड़ी महिन्द्रा जीप के. एमपी 16 बी 2753 को भी घटनास्थल से बरामद किया गया है।
उपरोक्त आरोपीगणों में ललवा कचेर उर्फ विजय सिंह तोमर जो मूलत: नागौद सतना का निवासी है। वहां इसके विरूद्ध अनेकों अपराध पंजीबद्ध हैं तथा वहां का हिस्ट्रीशीटर है, इसके विरुद्ध थाना बुढ़ार व अमलाई में डकैती की तैयारी व आम्र्स एक्ट के तहत पूर्व से अपराध पंजीबद्ध हैं। जिला खरगौन में भी इसके विरूद्ध कई संगीन मामले पंजीबद्ध होकर न्यायालय में विचाराधीन हैं। यह अपराधी हथियार सप्लाई करने में माहिर है तथा उपरोक्त जिलों में ज्यादातर मामले हथियार सप्लाई से जुड़े हुए हैं। शहडोल में काफी समय से सक्रिय होकर यहां के अपराधियों को अपराथ घटित करने हेतु हथियार की सप्लाई इसी के द्वारा की जाने की लगातार सूचनाएं प्राप्त होती रही हैं।


8 अपराध हैं पंजीबद्ध
आरोपी सद्दाम अली जो फरार अपराधी आरजू खान का दाहिना हाथ कहा जाता है तथा पिछले 04-05 वर्षों से जिले में सक्रिय हैं। अक्सर सशस्त्र होकर ही चलता है तथा अवैध रेत व कोयला उत्खनन परिवहन का कार्य करता है। इसके विरूद्ध हत्या का प्रयास जैसे संगीन अपराधों के अलावा आम्र्स एक्ट एवं मारपीट, गुंडागर्दी के कुल 11 अपराध पंजीबद्ध हैं । आरोपी प्रतीक सिंह के विरूद्ध भी मारपीट, आम्र्स एक्ट, गुंडा गर्दी आदि के संगीन अपराथ जिले के थानो में पंजीबद्ध हैं, अब तक इसके विरूद्ध कुल 08 अपराध पंजीबद्ध किये गए हैं, जो न्यायालयों में विचाराधीन हैं ।
आरजू-सोनू हुए फरार
आरोपी सूर्यकांत उर्फ गुड़्डा के विरूद्ध भी थाना बुढ़ार में कई अपराध पंजीबद्ध हैं । फरार आरोपी आरज़ू खान एवं सोनू साहू के विरूद्ध जिले में एवं जिले से बाहर कई संगीन अपराध पंजीबद्ध हैं। दोनों के द्वारा अवैध रेत उत्खनन व परिवहन के अलावा गुंडा टैक्स वसूली, मारपीट तथा आम्र्स लेकर भयभीत करने जैसे अपराधों के अलावा हत्या का प्रयास के कई मामले पंजीबद्ध होकर न्यायालय में विचाराधीन हैं, दोनों फरार आरोपीगणों की तलाश हेतु टीम गठित की गई है। शीघ्र ही दोनों आरोपीगणों को गिरफ्तार किया जायेगा।
नरेश कोल चढ़ा पुलिस के हत्थे
कोतवाली और बुढ़ार पुलिस को जानकारी मिली थी कि कुछ बदमाशों के पास भी हथियार दिए गए हैं और वे भी गंभीर वारदातों को अंजाम देने की फिराक में हैं। इस जानकारी के आधार पर बुढ़ार एवं कोतवाली थाना क्षेत्रो में भी थरपकड़ की कार्यवाही की गई। बुढ़ार पुलिस को 06 जुलाई को सूचना मिली थी कि शहडोल का कुख्यात बदमाश नरेश उर्फ रामनरेश कोल पिता रामगिलन कोल उम्र 50 वर्ष निवासी एमपीईबी कॉलोनी चचाई जिला अनूपपुर द्वारा ग्राम कटकोना में बुढ़ार-शहडोल मार्ग पर आदित्य इंटरप्राईसेस के बगल में पुराने खण्डहरनुमा भवन में काफी मात्रा में गांजा बुलाने वाला है, जिसे बिक्री हेतु शहडोल की ओर ले जायेगा। सूचना के बाद उक्त स्थान पर थाना बुढ़ार की पुलिस टीम द्वारा छापामार कार्यवाही की गई। जिसमें आरोपी नरेश कोल के कब्जेे से 01 देशी कट्टा, 01 कारतूस, 02 नग मोबाईल तथा खण्डहरनुमा मकान में अंदर की तरफ एक सफेद रंग की बोरी में 20.5 किलोग्राम गांजा जप्त किया गया है। आरोपी नरेश कोल उर्फ रामनरेश कोल पिता राममिलन कोल उप्र 50 वर्ष निवासी एमपीईबी कॉलोनी चवाई जिला अनूपपुर के विरूद्ध एनडीपीएस की धारा 8, 20 एवं 25/27 आयुध अधिनियम का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। नरेश कोल लम्बे समय जेल में रहा है। अब वह बड़ी तेजी से धन कमाने की होड़ में सक्रिय हो रहा था । अवैध रेत व कोयला उत्खनन, गांजा विक्रय, हथियार सप्लाई एवं गुण्डा टैक्स वसूली के माध्यम से वह पैसा कमाने की फिराक में रात-दिन सक्रिय था । शहडोल रीवा संभाग का कुख्यात हथियार सप्लायर, जिला सतना थाना नागौद के निगरानी बदमाश ललवा कचेर के साथ लगातार संपर्क में बना हुआ था ।

दुर्दांत अपराधी है नरेश
शहडोल के कुख्यात अपराधियों आरजू खान, सोनू साहू, प्रतीक सिंह आदि के साथ गैंग बनाकर बड़ी वारदात करने के षडय़ंत्र में भी लगा हुआ था । गांजा तस्करी के लिए जिले के पुराने तस्कर रोहित शर्मा के साथ संपर्क बनाए हुए था। पुलिस की लगातार इन पर नजर बनाये हुए थी, इसी के चलते कल इसे गंभीर आपराणिक कृत्य में संलग्न रहते हुए दबोच लिया गया। नरेश कोल इस क्षेत्र का अत्यंत ही खूंखार एवं दुर्दांत अपराधी है। इसके विरूद्ध संभाग स्तर पर शहडोल जिले में कुल 21 अपराध एवं अनूपपुर जिले में 25 अपराध व थाना पाली जिला उमरिया में 01 अपराध पंजीबद्ध हैं। जिनमें हत्या, हत्या का प्रयास, अवैथ हथियार रखने, हथियार के साथ गुंडा टैक्स वसूली, मारपीट, लूट-डकैती आदि शामिल हैं। नरेश कोल कई बार काफी लंबे समय तक रीवा एवं शहडोल की जेलों में सजा काट चुका है। इसके बावजूद भी इसकी आदतों में कोई सुधार नहीं हो रहा था। पिछले कई दिनों से पुलिस के मुखबिर तंत्र से आरोपी नरेश कोल के अवैध कार्यों एवं आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहने की सूचनाएं प्राप्त हो रही थी। इस प्रकार शहडोल संभाग में आतंक के पर्याय रहे नरेश कोल को पुलिस द्वारा गिरफ्तार करने से बड़ी कामयाबी हाथ लगी है।
लल्लू गुप्ता भी चढ़ा पुलिस के हत्थे
मुखबिर की सूचना के आधार पर जैतपुर तिराहा बुढ़ार में घेराबंदी कर संदेही लल्लू उर्फ धर्मेन्द्र गुप्ता पिता राधेश्याम गुप्ता निवासी एसडीओपी कार्यालय के पीछे बुढार के कब्जे रे 01 कट््टा एवं 01 कारतूस जप्त किया गया है , आरोपी लल्लू गुप्ता के विरुद्ध थारा 25/27 आम्र्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। इस आरोपी के द्वारा शहडोल जिले में हथियार सप्लाई करने की सूचना भी है । पूरे नेटवर्क को समग्रता से अनुसंधान में लिया जाकर कार्यवाही की जा रही है।
घेराबंदी कर रविशंकर को दबोचा
कोतवाली पुलिस ने 06 जुलाई की शाम प्राप्त सूचना के आधार पर रीवा जिले के निवासी साथ शहडोल में सक्रिय अपराधी पप्पू उर्फ रविशंकर शुक्ला पिता श्रीनिवास शुक्ला उम 36 वर्ष निवासी ग्राम देवतलाब थाना लौर जिला रीवा के विध 25/27
आम्र्स एक्ट की कार्यवाही की गई है, जिसके कब्जे से 01 पिस्टल एवं 03 कारतूस बरामद किये गए हैं। लंबे समय से शहडोल जिले में इसके आपधाधिक-असामाजिक गतिविधियों में संलिप्त रहने की सूचनाएं पुलिस को प्राप्त हो रही थी। गत दिवस शाम को शहर के मोहनराम तालाब के पास घेराबंदी कर रविशंकर शुक्ला को पकड़ा गया, जिसके पास देशी पिस्टल एवं कारतूस मिलने से उसके विरूद्ध 25/27 आम्र्स एक्ट का अपराध पंजीवद्ध कर विवेचना में लिया गया है।
पुलिस ने दिया अपराधियों को संदेश
अवैध रूप से देशी पिस्टल एवं कारतूस मिलने से पप्पू उर्फ रविशंकर शुक्ला शातिर अपराधी नरेश कोल एवं आरजू खान का साथी है तथा उनके साथ संलिप्तता रखते हुए मुख्य धारा में सफेद पोश रहते हुए अंदरूनी रूप से आपराधिक कृत्यों
की पृष्ठभूमि निर्मित करने में सहयोग करता है, इसके विरूद्ध थाना कोतवाली शहडोल में 01 अपराध तथा थाना लौर जिला रीवा में लड़ाई-झगड़ा, बलवा, दहेज हत्या जैसा जघन्य अपराध पंजीबद्ध है, वर्ष 2014 में इसके द्वारा नरेश कोल एवं आरजू खान की मदद से अपने ही एक रिश्तेदार की सुपारी देकर हत्या कराने का प्रयास किया गया था। इस प्रकार इस अपराधी की गतिविधियां सीधे-सीधे प्रत्यक्ष रूप से आपराधिक प्रदर्शित नहीं होती, किन्तु अंदरूनी तौर पर यह जघन्य अपराधियों एवं गुण्डा तत्वों को संरक्षण, हथियार सप्लाई एवं सहयोग देता है, शहडोल पुलिस द्वारा इसकी गतिविधियों एवं मंशा पर लगातार नजर रखी जा रही थी। इसी के चलते वह हथियार सहित कल कोतवाली पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस द्वारा कुल 03 पिस्टल, 03 कट््टे एवं 11 जिंदा कारतूस अपराधियों से जप्त किये हैं । पुलिस की इस कार्यवाही से अपराध नियंत्रण की दिशा में प्रभावी एवं सशक्त संदेश अपराधियों के बीच गया है।
उदित ने किया था लांच
राजधानी के रहने वाले उदित कटारे नामक व्यक्ति ने हिस्ट्रीशीटर कुख्यात अपराधियो को जिले में अपराध करने और अवैध कारोबार के साथ ही वसूली के लिए तैनात किया था, गनीमत यह थी कि पुलिस ने किसी बड़ी वारदात से पहले ही इन अपराधियों को धरदबोचा, इससे पहले का अगर रिकार्ड खंगाला जाये तो, पप्पू शुक्ला ने कुख्यात अपराधियों को न सिर्फ पनाह देने का काम किया था, बल्कि पुलिस की कड़ी मेहनत के बाद गिरफ्त में आये अपराधियों को भी जेल से रिहा कराने में भी आर्थिक मदद दी थी, इस पूरे मामले में पुलिस को उदित कटारे से पूछताछ कर कार्यवाही करनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *