बिजौरी सचिव निलंबित, रोजगार सहायक को सेवा समाप्ति का नोटिस

(Amit Dubey+8818814739)
शहडोल। कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य ने प्रधानमंत्री आवास योजना के भुगतान में लापरवाही एवं अनियमितताएं पाये जाने पर ग्राम पंचायत बिजौरी जनपद पंचायत सोहागपुर के सचिव प्रदीप सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। कलेक्टर ने ग्राम पंचायत बिजौरी के रोजगार सहायक अटलबिहारी यादव की सेवाएं समाप्त करने के लिए कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है।
यह निकला जांच में
पत्र में उल्लेख किया गया कि 6 जुलाई को ग्राम पंचायत बिजौरी के प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) की हितग्राही श्रीमती दुअसिया बाई के आवास की किश्त ग्राम पंचायत बिजौरी के ग्राम रोजगार सहायक अटलबिहारी यादव द्वारा अन्य हितग्राही के खाते में जमा करवा देने की जानकारी संज्ञान में आने पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी हिमान्शु चन्द्र ने जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी पी. सातपुते और जनपद पंचायत सोहागपुर की मुख्य कार्यपालन अधिकरी श्रीमती ममता मिश्रा को संयुक्त रूप से जाँच करने के निर्देश दिये। जांच दल के द्वारा 6 जुलाई को ही मौके पर ग्राम पंचायत बिजौरी जाकर जांच की और जांच प्रतिवेदन 07 जुलाई को मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को सौंपा।
सेवा समाप्ति की अनुशंसा
जांच प्रतिवेदन अनुसार ग्राम पंचायत बिजौरी के ग्राम रोजगार सहायक अटलबिहारी यादव द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की हितग्राही श्रीमती दुअसिया बाई को प्रधानमंत्री आवास की प्रथम एवं द्वितीय किश्त क्रमश: राशि रूपये 25000 एवं द्वितीय किश्त 45000 इस प्रकार कुल 70000 रूपये अन्य हितग्राही लल्लू सिंह के बैंक खाता में जमा करवा दिये। श्रीमती दुआसिया बाई की 2 किश्तो को लगातार अन्य हितग्राही लल्लू सिंह गोंड के खाते में जमा करवा दिये जाने पर जांच दल द्वारा ग्राम रोजगार सहायक अटलबिहारी यादव की सेवाएं समाप्त करने की अनुशंसा पर विधिवत कार्यवाही करते हुए ग्राम रोजगार सहायक अटलबिहारी यादव को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया है।
सचिव भी हैं दोषी
द्वितीय किश्त जारी हो जाने तक श्रीमती दुअसिया सिंह के आवास का कार्य प्रारम्भ न होने की स्थिति में ग्राम पंचायत बिजौरी के सचिव प्रदीप सिंह द्वारा लापरवाही करते हुए आवास के अन्य हितग्राही श्री मोलिया के आवास के फोटो श्रीमती दुअसिया बाई की आईडी से जियौटैग कर दिया गया, जिससे आवास पोर्टल पर श्रीमती दुअसिया बाई का आवास निर्माणाधीन प्रदर्शित होता हैं, लेकिन मौके पर श्रीमती दुअसिया बाई का आवास अस्तित्व में नहीं हैं। जांच दल द्वारा सचिव प्रदीप सिंह के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही करने के लिये सचिव प्रदीप सिंह का निलंबन प्रस्तावित किया था। जांच दल की अनुशंसा पर सचिव प्रदीप सिंह को प्रथम दृष्टया दोषी पाया जा कर उनके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किये जाने के लिए सचिव प्रदीप सिंह को कलेक्टर द्वारा निलंबित कर दिया गया है।
खाते में डाली राशि
लल्लू सिंह जिसके खाते में श्रीमती दुअसिया बाई की राशि रूपये 70000 जमा करवाई गई थी, उसके खाते से 11000 रूपये 8 जुलाई को श्रीमती दुअसिया बाई के खाते में जमा करवा दिये गये हैं और कियोस्क के माध्यम से 59000 रूपये 8 जुलाई को श्रीमती दुअसिया बाई के खाते में जमा करा दिये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *