बाईक चोरी के गिरोह का किया पर्दाफास

5 गिरफ्तार, 08 मोटर साईकिलें बरामद

शहडोल। पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश बैश्य तथा उप पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) सुश्री सोनाली गुप्ता के मार्गदर्शन में कोतवाली द्वारा मोटर साईकल चोरो के गिरोह का पर्दाफास कर चोरी की 08 मोटर साईकल बरामद की गयी हैं। शुक्रवार को पुलिस को सूचना मिली कि एक लाल रंग की चोरी की विक्रांता मोटर साईकल लिये दो व्यक्ति नरसरहा तालाब के पास खड़े है। कोतवाली पुलिस द्वारा घेराबंदी कर लाल रंग की मोटर साईकल लिये दो व्यक्तियो को पकड़कर पूंछतांछ करने पर एक व्यक्ति अपना नाम विकास वर्मन पिता रमेश वर्मन उम्र 19 वर्ष निवासी बाणगंगा कालोनी व दूसरा व्यक्ति महीप तिवारी उर्फ  मोनू पिता हरीशंकर तिवारी उम्र 24 वर्ष निवासी ताला थाना मानपुर जिला उमरिया हाल इन्द्रबस्ती शहडोल बताया दोनों आरोपियो द्वारा लाल रंग की विक्रांता मोटर साईकल चोरी की होना बताये और पूंछतांछ पर बताये कि वह दोनों लोग अपने  अन्य साथियो रामनरेश प्रजापति, नीरज वर्मा एवं रवि साहू  के साथ गिरोह बनाकर शहडोल शहर एवं आस-पास से 9 एवं बुढार से 1 कुल 10 मोटर साईकल चोरी किये है तथा उनमे से कुछ मोटर साईकिले मानपुर तथा अनूपपुर में रखे है।
इन्होंने दिया था वारदात को अंजाम
पुलिस ने आरोपियो को तलाश कर अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की गयी, जिस पर विकास वर्मन पिता रमेश वर्मन उम्र 19 वर्ष निवासी वाणगंगा कालोनी थाना सोहागपुर, महीप तिवारी उर्फ मोनू पिता हरीशंकर तिवारी उम्र 24 वर्ष निवासी ताला थाना मानपुर जिला उमरिया हाल इन्द्रबस्ती शहडोल, रामनरेश प्रजापति पिता श्यामलाल प्रजापति उम्र 30 वर्ष निवासी कोटमा थाना सोहागपुर, रवि साहू उर्फ लाला पिता राममिलन साहू उम्र 38 वर्ष कोटमा थाना सोहागपुर, जीतेन्द्र कुमार प्रजापति पिता सुभेलाल प्रजापति उम्र 22 वर्ष निवासी दुलहरा थाना कोतवाली जिला अनूपपुर के कब्जे से चोरी की 8 मोटर साईकल कुल कीमती करीब चार लाख रूपये की बरामद कर उक्त 5 आरोपियो को गिरफ्तार किया गया ।
दर्ज हुआ अपराध
पुलिस ने बताया कि आरोपियो के विरूद्व चोरी का अपराध पंजीबद्व कर विवेचना मे लिया गया है। प्रकरण में आरोपी नीरज वर्मन की तलाश किया गया जो नही मिला, जिससे 2 मोटर सायकिलो की बरामदगी करना शेष है। मोटर साईकल चोरो के गिरोह का पर्दाफास कर चोरी की 08 मोटर साईकल बरामद करने मे कोतवाली प्रभारी रत्नाम्बर शुक्ल के साथ उप निरीक्षक विजय सिंह, सहायक उपनिरीक्षक राकेश सिंह बागरी, विपिन बागरी, कपिलकांत तिवारी, प्रधान आरक्षक बिलाल खान, निखिल श्रीवास्तव, देवेन्द्र पाण्डेय, महेन्द्रपाल शुक्ला, सुनील शर्मा, आरक्षक मायाराम अहिरवार, धनजी यादव की भूमिका रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *