अनियमितता के विरुद्ध भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ने दी धरने की चेतावनी

अनियमितता के विरुद्ध भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ने दी धरने की चेतावनी

पीएचई अधिकारी- ठेकेदार के विरुद्ध मुख्यमंत्री से की कार्यवाही की मांग.

18 जुलाई को धरना की दी चेतावनी

अनूपपुर/शहडोल-जिला मुख्यालय अनूपपुर के एक ठेकेदार ने फर्जीवाडा कर करोड़ों का ठेका हथिया लिया। उसके कार्यों की गुणवत्ता को लेकर पहले भी कई शिकायतें की गयी हैं। अब इस मामले के खुलासे के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष , अनुसूचित जनजाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष तथा अनूपपुर के पूर्व विधायक रामलाल रॊतेल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर ठेकेदार के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की है। उन्होंने कार्यवाही ना होने की दशा में 18 जुलाई को पीएचई कार्यालय के सामने धरने की चेतावनी दी है।

मामले से जुड़े सूत्रों के अनुसार श्री रॊतेल ने प्रधानमंत्री कार्यालय , मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ , कमिश्नर, कलेक्टर, एसपी को पत्र प्रेषित कर शिकायत की है। कार्यपालन यंत्री लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग खण्ड अनूपपुर ने अपने चहेते ठेकेदार प्रकाश मिश्रा एवं उसके जीजा राजेश झा को एक ही प्रमाणपत्र पर पयारी, परासी ,हरद में करोड़ों रुपये का नल जल योजना का कार्य स्वीकृत किया गया है। शिकायत में कहा गया है कि प्रधानमंत्री द्वारा 2024 तक प्रत्येक घर मे जल पहुंचाने के लिये महत्वाकांक्षी नल जल योजना का शुभारंभ किया गया । लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग अनूपपुर द्वारा अपने चहेते ठेकेदार प्रकाश मिश्रा को काम दिलवाने के उद्देश्य से एक अनुभव प्रमाणपत्र के आधार पर ग्राम पयारी, परासी मे प्रकाश मिश्रा ने अपने जीजा राजेश झा को अनुभव प्रमाणपत्र पर जारी किया गया । एक करोड़ रुपये से कम की निविदा इनके द्वारा आमंत्रित कर खोली गयी। नल योजना पयारी, हरद, परासी का काम अलग अलग नाम पर , एक ही प्रमाणपत्र से अलग अलग जारी किया । जबकि पूरा काम प्रकाश मिश्रा ही करता है। जबकि नियमत: एक प्रमाणपत्र पर एक कार्य ही दिया जा सकता है।
उल्लेखनीय है कि प्रकाश मिश्रा भाजपा पदाधिकारी हैं तथा भाजपा जिलाध्यक्ष ब्रजेश गौतम के करीबी हैं। उन्होने इन्हे जिला कोर ग्रुप में शामिल किया हुआ है।
कार्यपालन यंत्री को नियमानुसार निविदा निरस्त कर ठेकेदार के विरुद्ध कार्यवाही करना चाहिये, जो उन्होने नहीं किया। जबकि इन्ही के द्वारा निविदा आमंत्रित व खोली गयी। शेष अन्य स्वीकृत कार्यों को एक ही अनुभव प्रमाण पत्र पर कार्यादेश जारी किया गया है।

श्री रॊतेल ने भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार के नियम कायदों की धज्जियां उडाने वाले अधिकारी के विरुद्ध जांच कर दण्डात्मक कार्यवाही करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *