यूरिया खाद की हो रही कालाबजारी

शहडोल। यूरिया खाद की कालाबजारी से जिले के ग्राम सिंहपुर के किसान अच्छे खासे परेशान हैं, यहाँ घंटो लाइन लगने के बाद भी खाद नही मिल पा रहा है। वही आसपास के बड़े बड़े व्यापारी समिति के लोगों से संपर्क कर दूसरे दरवाजे से दर्जनों बोरी यूरिया खाद निकलवा रहे है। वही अपनी बारी के इंतजार में किसान हमेशा की तरह अगले दिन आने की बात सुन रहा है। जिसके चलते लहलहाती फसल दम तोड़ रही है।
खाद दिलाने की मांग
सिंहपुर के किसान धान के लहलहाते फसल यूरिया के अभाव में बर्बाद हो रहे हैं। इससे किसानों के बीच मुसीबत खड़ी हो रही है। अतरे दूसरे बारिश के थमने के बाद किसान अपने धान के फसल में यूरिया देने के लिए खाद दुकानदारों के चक्कर लगा रहे हैं। विडंबना है कि ग्रामीण क्षेत्र के खाद दुकानों में यूरिया नहीं मिल पा रही है। पूछने पर एक खाद दुकानदार ने बताया कि यूरिया की कमी के कारण प्रतिदिन दर्जनों किसान वापस चले जाते हैं। इस बावत ग्रामीणों ने जि़म्मेदार विभाग से मांग की है कि गई है समिति की भरेसाही से भोले-भाले किसानों को मुक्त किया जाए। लेकिन अभी तक विभाग द्वारा कई किसानों को नियमत: यूरिया उपलब्ध नहीं कराया जा सका है। किसानों ने जिला प्रशासन से जल्द यूरिया उपलब्ध कराने की मांग की है। यूरिया की किल्लत जल्द दूर नहीं हुई तो किसान एकजुट होकर आंदोलन करने की बात कही।
कैरोसिन की कालाबाजारी पर हीं हुई कार्यवाही
संभागीय मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर ग्राम पंचायत सिंहपुर के आदिम जाति सेवा सहकारी समिति मर्यादित सिंहपुर में बीते पखवाड़े में एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें व्यापारी समिति के लोगों से सांठगांठ कर गैलन के गैलन केरोसीन पार कर रहे थे जिसकी वीडियो जिम्मेदार विभाग को भी सौंपी गई थी लेकिन मामले को ले देकर ठंडे बस्ते में डाल दिया गया जिसका खामियाजा आज ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है समय रहते यदि इस समिति पर जिला प्रशासन नकेल नहीं करता तो आने वाले समय में किसानों को बड़े नुकसान की भरपाई करनी पड़ेगी।
*************

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *