फर्जी व दो-जगह मतदान पर प्रत्याशियों ने जताई आपत्ति

फर्जी व दो-जगह मतदान पर प्रत्याशियों ने जताई आपत्ति

कई वार्डो में पंचायत के बाद नपा में मतदान करेंगे मतदाता

अनूपपुर। नगरीय निकाय चुनाव का मतदान आज 13 जुलाई को संपन्न होना है, जिसमें कई वार्डो के प्रत्याशियों ने निर्वाचन अधिकारी व जिला प्रशासन को लिखित रूप से शिकायत कर दो-जगह करने व फर्जी रूप से मतदान करने वाले मतदाताओं पर कार्यवाही की मांग की है। गौरतलब हो कि कई मतदाताओं का नाम अनूपपुर के वार्ड नं0 14 व अन्य में दर्ज है, जिनका नाम ग्राम पंचायत परसवार व रामपुर में भी दर्ज है, और ये लोग एक माह के भीतर हुए पंचायत चुनाव में मतदान कर चुके है और नगरपालिका अनूपपुर में मतदान करने के फिराक में है।

पंचायत चुनाव में कर चुके है मतदान

कई मतदाताओं के द्वारा ग्राम पंचायत के निर्वाचन में मतदान करने के बाद अब नगरपालिका अनूपपुर कई वार्डो के भी मतदाता है जो पंचायत चुनाव में मतदान हाल समय में ही किए है और इनके हाथ में स्याही इंक भी लगी है, जिसे कुछ लोग केमिकल से हटाकर अनूपपुर में दोबारा मतदान कर चुनाव को दुष्प्रभावित करने की कोशिश में है। प्रत्याशियों ने मांग की है कि जो लोग 03 माह के भीतर मतदान कर चुके है, उन्हें पुन: अनूपपुर में मतदान करने से रोकने की कार्यवाही की जाये।

फर्जी मतदान की जताई आशंका

नपा के वार्ड नंबर-9 में प्रत्याशी संजीव द्विवेदी के द्वारा शिकायत पत्र देते हुए बताया कि अपने लाभ के लिए वार्ड के बाहर के व्यक्तियों से मतदान कराने की कोशिश होगी, वार्ड में लगभग 250-300 संदिग्ध व्यक्ति जो वार्ड के निवासी नही है देखे गये है, ऐसा प्रतीत होता है कि किसी प्रत्याशी द्वारा उन्हें अपने पक्ष के फर्जी मतदान हेतु एकत्रित किया गया है।

चूँकि वार्ड का क्षेत्र एवं मतदाता संख्या सर्वाधिक होने से व्यक्तिगत पहचान बहुत कठिन है, ऐसे में सभी मतदाताओं को अपने आधार कार्ड सहित मतदान केन्द्र पहुँचने के निर्देश व पोलिंग एजेंट की आपत्ति होने पर संदिग्ध मतदाता का सत्यापन किये बिना मताधिकार के प्रयोग पर रोक की नितांत आवश्यकता है। वार्ड नंबर-9 होने के मतदान केन्द्रो में होने वाल मतदान में फर्जी मतदान की संभावना को रोकने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश जारी जारी कर उचित कार्यवाही की मांग की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed