भाजपा के छूटभए नेता बन किया नजूल की भूमि पर कब्जा @ छीना पानी का हक

(सीताराम पटेल @ 9977922638)

अनुपपुर। भारतीय जनता पार्टी का बिल्ला लगाकर सैकड़ों स्थानों पर लोग अब खुद को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा भाजपा का आदिकाल से सदस्य बताने लगे हैं, यह सिर्फ महज इसलिए किया जा रहा है ताकि केसरिया दुशाला ओढ़ने से उन्हें मनमानी की छूट मिल जाए और स्थानीय स्तर पर मनमानी की छूट मिल जाये।

जिले के amlai को कालरी क्षेत्र में ऐसे ही एक स्वयम्भू युवा नेता इन दिनों चर्चा में है जो भारतीय जनता पार्टी का केसरिया गमछा गले में डालकर, घर पर भाजपा का झंडा लगाकर नजूल की भूमि पर कब्जा किए हुए हैं यही नहीं खुद को भाजपा का नेता बता कर हर किसी को कटघरे में खड़ा करना शासकीय अधिकारियों सहित आम आदमी को इस पद की घुड़की देना, अब तथाकथित नेता के स्वभाव में आ चुका है, वर्षों पहले नजूल की भूमि पर अतिक्रमण करके तथाकथित मनीष तिवारी नामक छूटभए नेता के पिता ने यहां विद्यालय चालू किया था, लेकिन खुद के कारनामों व मनमानी के कारण लोगों ने उनके स्कूल में बच्चों का नाम लिखवाना बंद कर दिया, परिणाम यह हुआ कि सभी बच्चों ने जब यहां से अलविदा कर दिया तो विद्यालय बंद हो गया।
अब विद्यालय कैंपस को ही अपना आवास बना लिया गया है, आरोप है कि नजूल की भूमि जिसकी अनुमानित कीमत लाखों में आंकी गई है, उस पर बेजा कब्जा करके न सिर्फ खुद रहा जा रहा है, बल्कि किराए पर भी आवास दिए गए हैं, यही नहीं कोल इंडिया के sohagpur एरिया अंतर्गत यहां के स्थानीय अधिकारियों और कर्मचारियों पर भाजपा का रौब गाड़ कर फ्री की बिजली का भी उपभोग किया जा रहा है। तथाकथित स्वयम्भू नेता की मनमानी का आलम यह है कि anuppur मुख्यालय के भाजपा के नेताओं की चाटुकारिता कर उनके नाम का बेजा फायदा कथित युवक द्वारा उठाया जा रहा है, वर्षों पहले शासन द्वारा स्थानीय लोगों के पेयजल की व्यवस्था के लिए हैंडपंप को नेता ने उखाड़ फेंक दिया है और वहां पर पीएचई के अधिकारियों के माध्यम से दबाव बनाकर पंप लगवाने के बाद उस पर भी बेजा कब्जा कर लिया गया है। आम लोग पानी के लिए तरस रहे हैं और तथाकथित नेता सरकारी बोर पर कब्जाकर खुलेआम खुलकर लाभ उठा रहा है तथाकथित स्वयंभू नेता के क्रियाकलापों से क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी की साख को धक्का तो लग ही रहा है।

anuppur से प्रदेश के कैबिनेट में प्रतिनिधित्व करने वाले बिसाहू लाल सिंह के नाम का भी इसके द्वारा आए दिन दुरुपयोग किया जाता है, खुद को कभी बिसाहूलाल तो कभी Narendra मरावी व कभी हीरा सिंह श्याम तथा बृजेश गौतम,जीतेन्द्र सोनी आदि नेताओं का करीबी बताया जाता है। स्थानीय जनों ने भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष सहित संगठन से इस संदर्भ में अपील की है कि ऐसे नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाएं जिससे पार्टी की साख धूल दुर्शत होने से बच सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *