सार्वजनिक स्वास्थ्य सर्वोपरि, कोविड-19 के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर मनायें होली पर्व, शांति समिति की बैठक आयोजित

सार्वजनिक स्वास्थ्य सर्वोपरि, कोविड-19 के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर मनायें होली पर्व, शांति समिति की बैठक आयोजित

 

कटनी ! सार्वजनिक स्वास्थ्य सर्वोपरि है। इसे ध्यान में रखते हुये हम होली का त्यौहार मनायें। यह अपील शांति समिति की बैठक में कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने की। उन्होने बैठक के प्रारंभ में कोविड-19 के मद्धेनजर राज्य शासन से प्राप्त निर्देशों और जिला प्रशासन द्वारा लिये गये निर्णयों से भी समिति सदस्यों को अवगत कराया। इस दौरान विधायक संदीप जायसवाल ओर पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी भी उपस्थित रहे।  बैठक में कलेक्टर ने कहा कि हमें इस स्थिति में ही त्यौहार मनाना है। वर्तमान में सबसे बड़ा उपचार सतर्कता है। हमें समय रहते सचेत होना होगा। जनसहयोग के बिना हम सफल नहीं हो सकते, इसमें आप सभी की सहभागिता जरुरी है।शांति समिति की बैठक में कोविड-19 वैक्सीनेशन को लेकर भी जनसहभागिता का आव्हान कलेक्टर ने किया। इस पर विधायक श्री जायसवाल ने भी अपने सुझाव रखे। उन्होने कहा कि यदि रविवार के दिन भी कोविड-19 वेक्सीनेशन हो, तो अधिक से अधिक लोग टीकाकरण करवायेंगे। इस दिशा में क्या कार्यवाही हो सकती है, जिला प्रशासन विचार करे। उन्होने कहा कि अभी लोगों के जहन में वेक्सीनेशन को लेकर कई भ्रामक जानकारियां है, जिसके प्रति लोगों में जनजागरुकता लानी होगी। उन्होने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग भी जनजागरुकता के लिये किये जाने की बात कही। श्री जायसवाल ने कहा कि हमारा प्रयास महज हमें बचाने के लिये नहीं, पूरे विश्व को इस महामारी से बचाने में सहयोग करेगा। होली पर्व को लेकर कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत ही त्यौहार मनाने का निर्णय बैठक में लिया गया। बैठक में होली के मद्धेनजर एक दिन पूर्व शराब विक्रय प्रतिबंधित करने का निर्णय हुआ। वहीं रात्रि 10 बजे के बाद ध्वनिविस्तारक यंत्रों के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया। होली दहन के लिये वृक्षों की कटाई ना हो, इसके लिये वन विभाग के द्वारा यथोचित् लकड़ी शासकीय दर पर उपलब्ध कराई जायेगी। यह जानकारी बैठक में अपर कलेक्टर जगदीश चन्द्र गोमे ने दी। शहर आबाद विद्युत व्यवस्था के लिये विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया। उन्हें यह निर्देश भी दिये गये कि इस बात का विशेष ध्यान रखें, कि बिजली के तारों व ट्रान्सफॉर्मर के आस-पास होलिका दहन ना किया जाये।होली के दिन जिला अस्पताल में आकस्मिक चिकित्सा कक्ष में चौबीस घंटे डॉक्टर्स स्टाफ के साथ रहें, उनकी ड्यूटी रोस्टर वार लगायें। जिला अस्पताल के सामने दो मेडिकल स्टोर्स खुले रहें, यह भी सुनिश्चित करें, यह निर्णय भी शांति समिति की बैठक में लिया गया। होली के अवसर पर जबरन चन्दा वसूली ना हो, इसके लिये निर्देश पुलिस अधीक्षक ने अपने अधिकारियों को दिये। विद्युत मण्डल की टीम पुलिस कन्ट्रोल रुम में अनिवार्य रुप से उपस्थित रहे, यह निर्देश भी कलेक्टर ने शांति समिति की बैठक में दिये। दो पहिया वाहनों पर दो से अधिक सवारियों को ना बैठाया जाये, इसकी सतत् रुप से चैकिंग की जाये। यह निर्णय भी बैठक में लिया गया। कटनी शहर की आजाद चौक, मिशन चौक, शिवाजी चौक, झर्रा टिकुरिया सुभाष चौक, खिरहनी फाटक, खिरहनी ग्राम, अमकुही पहाड़ी, तथा ग्रामीण क्षेत्र जैसे सुरकी टैंक, घुघरा, कटनी नदी एवं सुरम्य पार्क में समुचित निगरानी रखी जाये, यह निर्णय भी बैठक में लिया गया। समिति सदस्यों द्वारा अपने सुझाव भी बैठक में दिये गये। जिन पर प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश कलेक्टर ने दिये। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री अवस्थी ने बताया कि होली पर्व के मद्धेनजर सतत् रुप से पुलिस पेट्रोलिंग होगी। उन्होने मेरा परिवार-मेरी होली की तर्ज पर कोविड-19 प्रोटोकॉल के साथ होली पर्व मनाने की अपील भी की। बैठक में पूर्व महापौर शशांक श्रीवास्तव, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष पीताम्बर टोपनानी, कांग्रेस जिला अध्यक्ष शहरी मिथलेश जैन और ग्रामीण अध्यक्ष गुमान सिंह, नगर निगम आयुक्त सतेन्द्र धाकरे, सिविल सर्जन डॉ. यशवंत वर्मा सहित अन्य समिति सदस्य एवं संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *