जिंप की महिला उपाध्यक्ष से सीईओ ने की बदसलूकी

मॉस्क न होने पर अभद्रता कर निकाला चेम्बर से

महिला उपाध्यक्ष ने बदसलूकी का आरोप लगाते हुए की कार्यवाही की मांग

उमरिया। जिला पंचायत सीईओ अंशुल गुप्ता ने जिला पंचायत उपाध्यक्ष सीमा सिंह को मॉस्क न लगाने पर चेम्बर से बाहर कर दिया। जिला पंचायत उपाध्यक्ष ने कहा है कि जहां एक ओर प्रदेश सरकार नारी सशक्तिकरण को लेकर संवेदनशील है, महिलाओं के उत्थान के लिए प्रदेश में बेहतर प्रयास किये जा रहे है, वहीं दूसरी ओर जिम्मेदार सीईओ महिलाओं के साथ बदसलूकी और अपमानित कर रहे है, जिसे किसी भी दृष्टिकोण से उचित नही कहा जा सकता।
मांगती रही माफी
महिलाओं का अपमान भारतीय संस्कृति के खिलाफ है, उन्होंने इस मामले में कलेक्टर सहित दूसरे जिम्मेदार अधिकारियों से शिकायत की बात भी कही है। मंगलवार की दोपहर जिला पंचायत उपाध्यक्ष सीमा सिंह किसी संबंध में जिला पंचायत सीईओ अंशुल गुप्ता से मुलाकात करने उनके चेम्बर में गयी, इस दौरान उन्होंने मास्क नही लगाया था, मास्क लगा न देख सीईओ भड़क गए और उन्होंने तत्काल उपाध्यक्ष श्रीमती सिंह को चैंबर से बाहर जाने के लिए कहा, बताया जाता है कि इस दौरान उपाध्यक्ष माफी मांगती रही, परंतु भड़के सीईओ नरम नही हुए, अंत मे सीईओ का रुख देखकर व्यथित उपाध्यक्ष सीमा सिंह चैंबर से बाहर आ गयी।
पूर्व में हो चुकी है
जिला पंचायत सीईओ के व्यवहार को लेकर पूर्व में शिकायतें की गई थी, हालांकि उस दौरान सीईओ जिला पंचायत ने ऐसा कभी न होने की बात कही थी। मजे की बात तो यह है कि जिला पंचायत सीईओ से किसी भी संदर्भ में उनका पक्ष लेने के लिए संपर्क किया जाता है तो, वे तो मामले से पल्लाझाड़ लेते हैं, लेकिन उसके तत्काल बाद मनोज सोनी नामक रीडर रिटर्न कॉल करना नहीं भूलते, यही नहीं इस संदर्भ में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी से संपर्क करने की सलाह भी दी जाती है, सवाल यह उठता है कि जब जिंप के सीईओ समस्याओं से रूबरू नहीं हो सकते, तो फिर उनकी जगह मनोज सोनी या अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी को यह जिम्मेदारी नहीं दे दी जानी चाहिए।
इनका कहना है…
मामला संज्ञान में तो आया है, किन्तु अभी तक मेरे पास किसी ने शिकायत नहीं की।
संजीव कुमार श्रीवास्तव
कलेक्टर, उमरिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *