मुख्यमंत्री Shivraj Singh Chouhan ने प्रदेश के सबसे ऊंचे रेलवे ओवर ब्रिज का किया लोकार्पण गरीब जनता के जीवन में खुशहाली लाना सरकार का ध्येय: मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री Shivraj Singh Chouhan ने प्रदेश के सबसे ऊंचे रेलवे ओवर ब्रिज का किया लोकार्पण
गरीब जनता के जीवन में खुशहाली लाना सरकार का ध्येय: मुख्यमंत्री श्री चौहान

कटनी ॥ मध्यप्रदेश की सरकार गरीब जनता के कल्याण के लिये लगातार काम कर रही है। हमारा लक्ष्य गरीब जनता के जीवन में खुशहाली लाने का है। प्रदेश सरकार गरीबों को एक रूपये प्रति किलो की दर से हर माह 10 किलोग्राम अनाज दे रही है। कोरोना काल में जिन गरीबों ने बिजली का बिल नहीं जमा किया था, प्रदेश सरकार ने अब उनका सरचार्ज माफ करने का फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यह बात गुरूवार को कटनी में प्रदेश के सबसे ऊंचे करीब 85 करोड रूपये की लागत से बने रेलवे ओवर ब्रिज के लोकार्पण के बाद उपस्थित जनसुमदाय को संबोधित करते हुये कही। कार्यक्रम में सांसद वी.डी. शर्मा, प्रदेश वित्त मंत्री एवं कटनी जिले के प्रभारी मंत्री जगदीश देवड़ा, प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, विधायक संदीप जायसवाल, संजय सत्येन्द्र पाठक, पूर्व मंत्री मोती कश्‍यप, कलेक्टर प्रियंक मिश्रा सहित अन्य गणमान्य नागरिक जनप्रतिनिधि, अधिकारीगण एवं बड़ी संख्या आमजन उपस्थित थे।

विकास के लिये नहीं होगी धन की कमी
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कटनी की जनता को रेलवे ओवर ब्रिज समर्पित करते हुये कहा कि प्रदेश सरकार विकास के कार्यों के लिये धन की कोई कमी नहीं होने देगी। प्रदेश में 32 हजार करोड़ रूपये की सड़कें बनाने का कार्य हमारी सरकार कर रही है। हम सभी छोटे-बड़े विकास कार्यों को हाथ में लेंगे और उन्हें पूरा करेंगे। प्रदेश सरकार हर गरीब व्यक्ति के अपने घर के सपने को पूरा करेगी। जिन लोगों के पास मकान बनाने के लिये जमीन नहीं है उन्हें आवासीय भूमि का पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाया जायेगा। आने वाले तीन वर्षों में हर गरीब का पक्का मकान होगा।

कटनी को स्वच्छ और सुदंर बनायेंगे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कटनी को साफ स्वच्छ और सुन्दर बनाने के लिये जनता से सहभागिता और जिम्मेदारी निभाने का आव्हान किया है। उन्होंने कटनी के लोगों को इसे साफ-स्वच्छ बनाने का संकल्प दिलाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्य सरकार करेगी लेकिन कटनी को प्रदेश के इंदौर की तरह सुंदर शहर बनाने के लिये जनता को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि स्थानीय विधायक संदीप जायसवाल द्वारा विकास संबंधी जो भी मांगे रखी गई हैं उनको पूरा किया जायेगा।
सांसद श्री वी.डी. शर्मा ने इस अवसर पर कटनी की जनता को प्रदेश का सबसे ऊंचा ओवर ब्रिज मिलने की बधाई देते हुये कहा कि यह ब्रिज बनना बहुत जरूरी था। इसके बनने से कटनी की जनता को आवागमन की बेहतर सुविधा मिलने लगेगी और सड़कों पर लगने वाले लंबे जाम से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हर घर में नल-जल पहुंचाने के लिये जल जीवन मिषन के अंतर्गत तेजी से काम कर रही है।

105 और ओवर ब्रिज बनेंगे
लोकनिर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि आज का दिन कटनी के लिये ढेर सारी सौगातें लेकर आया है। आज कटनी को 85 करोड़ के रेलवे ओवर ब्रिज की सौगात मिली है। शहरों के भीतर फ्लाई ओवर बनाना एक चुनौती पूर्ण कार्य है। इस चुनौती का सामना करते हुये कटनी में अच्छी गुणवत्ता का फ्लाई ओवर कम समय में बनकर तैयार हो गया है। लगभग डेढ किलोमीटर लंबाई के इस फ्लाई ओवर के लिये ढ़ाई किलोमीटर की एप्रोच रोड भी बनाई गई है। शहरों में आबादी का दबाव बढ़ने से फ्लाई ओवर की मांग भी बढ़ती जा रही है। प्रदेश में वर्ष 2021-22 में 105 रेलवे ओवर ब्रिज की स्वीकृति प्रदान की गई हैं । इनमें से 34 का काम प्रारंभ हो गया है और अगले तीन वर्षों में सभी 105 रेलवे ओवर ब्रिज का कार्य पूर्ण कर लिया जायेगा।
विधायक संदीप जायसवाल ने अपने संबोधन में कहा कि आज कटनी को करोड़ों रूपये के विकास कार्यों की सौगात मिली है। 16 करोड़ की लागत से बने कन्या महाविद्यालय के भवन का कार्य भी पूर्ण कर लिया गया है, और शीघ्र ही इसका भी लोकार्पण किया जायेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से फारेस्टर प्ले ग्राउंड के नवीनीकरण, ट्रांसपोर्ट नगर में जमीन आवंटन से छुटे व्यवसासियों को जमीन आवंटित करने एवं जिला परिवहन कार्यालय को कटनी टोल नाके से दूर स्थानांतरित करने की मांग की।
उल्लेखनीय है कि नव निर्मित रेलवे ओवर ब्रिज 85 करोड़ 49 लाख 45 हजार रूपये की लागत से बना है। इसको प्रदेश का सर्वाधिक ऊंचा ब्रिज होने का गौरव हासिल है। रेलवे लाइन के ऊपर यह ओवर ब्रिज 18.04 मीटर ऊंचा है। रेलवे द्वारा प्रदेश का पहला ग्रेड सेपरेटर बनाया जा रहा है, इसलिए इसकी क्लियरिंग देने के लिए ब्रिज की ऊंचाई बढ़ाई गई है। ब्रिज के निर्माण में इंजीनियरिंग की अत्याधुनिक तकनीक और सामग्री का उपयोग किया गया है। ब्रिज पर शोर में कमी के लिए नोइज बेरियर लगाया गया है। 48 पिलर पर खड़े इस रेलवे ओवर ब्रिज कम फ्लाई ओवर की बरगवां से चांडक चौक तक कुल लंबाई 1433.51 मीटर है। ब्रिज की भारवाहन क्षमता 70 टन है। ब्रिज में कुल 47 स्पॉन हैं, जिनके एक गर्डर का वजन डेढ़ सौ टन और ऊंचाई तीन मीटर है। इसकी निर्माण एजेंसी लोक निर्माण सेतु संभाग जबलपुर है। अगले तीन साल तक अर्थात 31 मार्च 2025 तक इसका मेंटीनेंस कार्य संबंधित ठेकेदार द्वारा ही किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *