कलेक्टर ने किया वेंकटनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण

अनूपपुर | कलेक्टर श्री चन्द्रमोहन ठाकुर ने जिले के स्वास्थ्य केन्द्रों में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य इंतजामों की मैदानी हकीकत से रू-ब-रू होने के लिए जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र वेंकटनगर का भ्रमण कर वहां की गतिविधियों का जायजा लिया। इस मौके पर अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) जैतहरी श्री विजय डेहरिया एवं तहसीलदार श्रीमती भावना डेहरिया उपस्थित थे।
कलेक्टर ने स्वास्थ्य केन्द्र का भ्रमण करते हुए चिकित्सकों से वहां उपलब्ध बेड एवं ऑक्सीजन सिलेण्डरों की जानकारी ली और निर्देश दिए कि 10 बेड ऑक्सीजन समेत जल्द तैयार रखें। आपने कहा कि जिस मरीज का ऑक्सीजन लेवल 95 से कम है, उसको ऑक्सीजन दें और उसका लेवल ना सुधरने पर उसको जिला अस्पताल के लिए रेफर करें। कलेक्टर ने चिकित्सकों से कहा कि आपके क्षेत्र में कोरोना पाॅजीटिव पाए गए मरीजों की जांच कराकर उनका उपचार करना सुनिष्चित करें। आपने स्वास्थ्य सेवाओं को सुचारू रूप से बनाए रखने हेतु तीन सी.एच.ओ. को स्वास्थ्य केन्द्र से अटैच करने के चिकित्सकों को निर्देश दिए। कलेक्टर ने महिला वार्ड, पुरुष वार्ड, जनरल वार्ड का अवलोकन किया। कलेक्टर ने चिकित्सकों को निर्देश दिए कि वे कोरोना मरीजों को ढंग से अटैंड करने के लिए अपने स्टाफ को जिला अस्पताल अनूपपुर भिजवाकर प्रषिक्षण दिलवाएं। सी.एच.ओ. एवं नर्सों को भी ऑक्सीजन देने हेतु प्रषिक्षित कराएं।
कलेक्टर ने चिकित्सकों से कहा कि वे जिन मरीजों का ऑक्सीजन लेवल 95 से नीचे तथा 90 से ऊपर हो, उसका यहीं रखकर इलाज करें। आपने स्वास्थ्य केन्द्र में मरीजों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं सुनिष्चित करने के निर्देष दिए।

कलेक्टर ने किया ऑक्सीजन रीफिलिंग प्लांट का निरीक्षण
कलेक्टर श्री ठाकुर ने जैतहरी स्थित निजी ऑक्सीजन रीफिलिंग प्लांट का औचक निरीक्षण कर वहां ऑक्सीजन की उपलब्धता की पड़ताल की। कलेक्टर ने प्लांट में मौजूद कर्मचारियों से वहां सिलेण्डरों एवं ऑक्सीजन की उपलब्धता तथा रोजाना कितने सिलेण्डरों में रीफिलिंग करते हैं, के बारे में जानकारी ली।
कर्मचारियों ने कलेक्टर को जानकारी दी कि वहां अभी 10 टन ऑक्सीजन उपलब्ध हैं और आगे ऑक्सीजन की कमी नहीं आने देंगे। कलेक्टर ने प्लांट में कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने के प्लांट के मालिक को निर्देश दिए, ताकि जरूरत के समय ऑक्सीजन भरवाने में दिक्कत पैदा न हो। कलेक्टर ने प्लांट में 24 घंटे तैयार रहने के निर्देश दिए, ताकि कहीं भी ऑक्सीजन की किल्लत उत्पन्न ना होने पाए।
कलेक्टर ने किसी इंजीनियर के माध्यम से प्लांट में भरे सिलेण्डरों और खाली सिलेण्डरों की स्थिति पता कराने के लिए किसी इंजीनियर को नियुक्त करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने प्लांट के मालिक से पूछा कि वहां से रोजाना कितने सिलेण्डर सप्लाई होते हैं।

कोविड केयर सेंटर का

अवलोकन

कलेक्टर ने अपने भ्रमण के दौरान अनूपपुर स्थित कोविड केयर सेन्टर का अचानक दौरा कर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान वहां डी.पी.एम. डाॅ. शिवेन्द्र द्विवेदी उपस्थित थे।
कलेक्टर ने वहां फौरीतौर पर 12 ऑक्सीजन बेड रखने के डीपीएम को निर्देश दिए। आपने वहां कुल 50 बेडों की व्यवस्था करने के डीपीएम को निर्देश दिए। कलेक्टर ने सेन्टर में खाने-पीने एवं साफ-सफाई के समुचित इंतजाम करने की हिदायत दी। आपने साफ-सफाई के लिए सफाई कर्मियों की संख्या बढ़ाने एवं पर्याप्त पैरामेडीकल स्टाफ रखने के निर्देष दिए। कलेक्टर ने स्वास्थ्य कक्षों का घूम-घूम कर निरीक्षण किया और वहां की व्यवस्थाओं को देखा। वहां ऑक्सीजन सिलेण्डर रखे हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *