तीन वर्ष से अटका खेल मैदान का निर्माण, मजदूरी का नहीं हुआ भुगतान 

संतोष कुमार केवट

पंचायत को दीमक की तरह खा गये तीन लोग ग्राम पंचायत रक्शा के सरपंच, सचिव और इंजीनियर का कारनामा पंचायत वासियों ने जिन्हें अपनी कीमती मतों के साथ जिम्मेदारी सौंपी थी, वही चंद कमीशन के खातिर सचिव और इंजीनियर के साथ मिलकर विकास को छोड़ विनाश कर रहे हैं, जिन्होंने सरपंच के पद पर बैठाया था उनकी ही मजदूरी 6 महीनो से नहीं मिली और सरपंच को इसकी जानकारी भी नहीं है। 

अनूपपुर। जनपद पंचायत जैैतहरी के ग्राम पंचायत रक्शा में तीन वर्षो से खेल मैदान का निर्माण कराया जा रहा है जो अभी तक अपूर्ण है, इसके साथ ही शौचालय का निर्माण भी महीनों से जारी है, लेकिन छत ढालने की फुर्सत ही नहीं है। खेल मैदान के दीवारों पर सफेद रंग और रंग बिरंगे तस्वीरों को बनाकर ग्रामीणों की आंखो में चमकता हुआ खेल मैदान बना दिया गया, लेकिन हकीकत में मैदान के अंदर युवाओं की प्रतिभा को दफन कर दिया गया। भ्रष्टाचार और कमीशन के फेर में न तो मजदूरों की मजदूरी का भुगतान हुआ और न ही शौचालय का निर्माण हुआ और न ही खेल मैदान पूर्ण हो सका।

सरपंच को नहीं जानकारी 

ग्राम पंचायत रक्शा के सरपंच अमोल सिंह अब बड़े नेताओं में शामिल हो गये है, इसलिये उन्हें पंचायत में हो रहे कार्यो और उन निर्माण कार्य में भागीदारी निभाने वाले श्रमिकों के विषय में जानकारी नहीं रखते। मेहनतकश मजदूरों की 6 माह से मजदूरी का भुगतान नहीं हुआ, और खेल मैदान कितनी राशि से निर्माण किया गया है, यह भी उन्हें ज्ञात नहीं है। कुल मिलाकर बिना मस्टर रोल के मजदूरों से कार्य कराया गया और अब भुगतान सिर्फ अन्य कार्यो से ही किया जा सकता है यह भी एक भ्रष्टाचार और लीपापोती ही है।

भटक रहे आधा सैकड़ा मजदूर 

ग्राम पंचायत के निर्माण कार्यो में जिन श्रमिकों अपना श्रमदान किया वह आज अपने ही खून पसीने की कमाई के लिये भटक रहे हैं और सरपंच अमोल सिंह, सचिव सुरेश कोल व इंजीनियर क्षमा सोनी ऐयर कंडीशन हवाओं का आनंद ले रहे है, पंचायत के खेल मैदान में कार्य करने वाले लगभग दर्जन भर मजदूरों की पारीश्रमिक का भुगतान नहीं हुआ है, यही नहीं आरसीसी पुलिस निर्माण में लगभग 22 लोगों का मजदूरी भुगतान अटका दी गई है।

इन मजदूरों की अटकी मजदूरी


 खेल मैदान में कार्य करने वाले श्रमिक रविन्द्र राठौर, रामदास केवट, सुनील पटेल, शांति बाई, विनय सिंह, रामबदन साहू, रामफली केवट, दौलत सिंह, शंकर राठौर आदि का भुगतान 6 माह से लंबित है। वहीं आरसीसी पुलिस निर्माण में राधा बाई, गुलबिया, रोहणी, प्रेमलाल, रूदमनी राठौर, विनय सिंह, रामफली, जीवन, रिखी सिंह, भूपेन्द्र सिंह, मुन्नी बाई, सोमवती, सुनीता यादव, लीला सिंह, रामलाल यादव, शंकर राठौर, राममणी पटेल, बेसाहू सिंह, मोनिका सिंह आदि का पारीश्रमिक का भुगतान आज तक नहीं किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *