शहडोल में कोरोना का टूटा कहर : 73 मामले एक साथ आये सामने, 1134 तक पहुंचा- संक्रमितों का आंकड़ा

शहडोल जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है आज मेडिकल कॉलेज से आई रिपोर्ट के अनुसार लगभग 73 नए मरीज सामने आए हैं शहडोल जिले के अब तक के दिनों में कोरोना संक्रमित मरीजों का सबसे बड़ा आंकड़ा हैशहडोल।जिले में आज 73 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं697 लोग ठीक हो चुके हैं सरकारी आंकड़ों के अनुसार जिले में एक्टिव केस बढ़कर 423 हो गए हैं कोरोना संक्रमण के मामले 1134 पहुंच गए हैं।कुल सक्रिय कंटेंटमेंट 223 है जिले में लगातार करोना ने रफ्तार पकड़ी है और हर दिन आधा सैकड़ा से अधिक मामले सामने आ रहे हैं जिसमें इस बीमारी से आज तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है।
जिले में कोरोना अपने थर्ड स्टेज पर पहुंच गया है अब लोगों को अधिक सावधान रहने की जरूरत है करोना के मामले अब लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही डॉक्टर पॉजिटिव पर नहीं बनाया कंटेंटमेंट जोन

शहर के स्थित एक शिशु रोग विशेषज्ञ की रिपोर्ट रविवार को पॉजिटिव आने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग ने इस ओर ध्यान नहीं दिया और उनकी क्लीनिक को कंटेंटमेंट में तब्दील नहीं किया सवाल यह है कि डॉक्टर ने अब तक कितने बच्चों को देखा अगर इस तरह से हाल रहे तो करोना से जंग कैसे जीती जाएगी, वह तो चिकित्सक के अलावा अन्य कई चिकित्सक भी कोरोना संक्रमित हुए हैं लेकिन उनके क्लीनिक ओं को स्वास्थ्य विभाग द्वारा सील कर दिया गया था सवाल ये उठता है कि जिस क्लीनिक का संचालक और वहां पदस्थ कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आए हो वहां ट्रेन कुशीनगर के उसे चालू रखना को रोना को न्योता देने के समान ही है, मालूम हो कि उनको कोविड-19 में भी मेडिकल में ड्यूटी लगाई गई थी साथ ही जिला अस्पताल में अपने भर्ती मरीजों को देखने के लिए भी यह जाते थे उनके यहां एक व्यक्ति भी काम करता है उसकी भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी । डॉक्टर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वयं तो मरीजों को नहीं देख रहे हैं पर उनकी क्लीनिक चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *